ट्रेन में रिजर्वेशन के लिए नहीं लगाने पड़ेंगे बड़े स्टेशनों के चक्कर, यहाँ से बुक कर सकेंगे टिकट

NewsCode | 12 June, 2018 5:39 PM

यात्रियों की सुविधा के लिए रेलवे ने हाल ही में दो ऐप भी लॉन्च किये हैं।

newscode-image

नई दिल्ली। आज भी देश के अधिकतर गांवों में रेलवे रिजर्वेशन कराने में आने वाली समस्या आम है। रेलवे बुकिंग काउंटर पर टिकट कराने के लिए उन्हें कई मुश्किलें आती हैं, उन्हें इसके लिए मीलों दूर बड़े स्टेशन तक जाना होता है और तमाम तरह की परेशानियां उठानी पड़ती है। ग्रामीण लोगों के लिए रेलवे टिकट बुकिंग सुगम बनाने के उद्देश्य से अगले कुछ महीनों में साझा सेवा केंद्रों (सीएससी) के जरिए रेल टिकट बुक की जा सकेगी। ये ग्रामीणों को ऑनलाइन रेलवे टिकट कराने और अन्य सरकारी सेवाएं उपलब्ध कराने का काम करेंगे।

ग्रामीण इलाकों में इस सुविधा को उपलब्ध कराने के लिए रेल मंत्रालय तथा आईटी मंत्रालय ने एक समझौते पर हस्ताक्षर किया है। जिसके तहत अगले कुछ महीनों में साझा सेवा केंद्रों (सीएससी) के जरिए रेल टिकट बुक की जा सकेगी। रेल मंत्री पीयूष गोयल ने इस अवसर पर कहा कि देश के सभी 2.9 लाख सीएससी को तकनीक के जरिए जोड़ते हुए उन्हें रेल टिकट बुकिंग में सक्षम बनाया जाएगा। उन्होंने कहा कि इस समय लगभग 40,000 सीएससी कनेक्ट हैं और अगले 8-9 महीने में सभी सीएससी में टिकट बुकिंग की सुविधा मिल जाएगी।

यह समझौता ‘आईआरसीटीसी’ व ‘सीएससी इंडिया’ के बीच हुआ है। मालूम हो कि सीएससी इंडिया देश भर के ग्रामीण इलाकों में सरकारी सेवाओं के लिए साझा सेवा केंद्र (सीएससी) चलाती है। इस समझौते के तहत सीएससी आरक्षित व अनारक्षित दोनों तरह की टिकट बुकिंग कराने की सुविधा प्रदान करेगी। रेल मंत्री गोयल ने कहा कि वह 2.9 लाख सीएससी को बैंकिंग प्रतिनिधि के रूप में काम करने की अनुमति देने की दिशा में काम करेंगे।

इसके साथ ही सीएससी के बैंकों में विस्तारित काउंटर स्थापित करने की संभावना भी तलाशी जाएगी। उन्होंने आईटी मंत्री रवि शंकर प्रसाद से सीएससी के जरिए वित्तीय सेवा देने के उनके प्रस्ताव पर भी चर्चा की। अब ग्रामीण इलाकों में ट्रेन के टिकट बुक करवाने के लिए लोगों को स्टेशन नहीं जाना पड़ेगा। लोग कॉमन सर्विस सेंटर के जरिए जल्द ही ट्रेन टिकट भी बुक करवा सकेंगे।

यात्रियों की सुविधा के लिए रेलवे ने लॉन्च किये दो ऐप

आपको बता दें कि एक दिन पहले ही भारतीय रेलवे ने रेलवे में यात्रा करने वाले यात्रियों के लिए दो महत्वपूर्ण एप लांच किए हैं। इसमें पहला ट्रेन में यात्रियों की शिकायतें दूर करने के लिए ‘रेल मदद’ नाम का एप लॉन्च किया है। इसके जरिए ट्रेन में होने वाली किसी भी तरह की शिकायत की जा सकेगी। जबकि दूसरा है ‘मेन्यू ऑन रेल्स’ नाम का एप जिसके जरिए ट्रेन में खाना ऑर्डर करने के लिए इसका इस्तेमाल किया जा सकेगा। इसके पहले यात्री रेलवे को टि्वटर के जरिए अपनी समस्या और शिकायतें बता रहे थे।

रांची से नई दिल्ली जाने वाली ट्रेनों की नई बोगियां कौन कर रहा गायब ?

ट्रेन में ज्यादा सामान लेकर सफर करने की आदत है तो इसे बदल डालिए, रेलवे ने बदला ये नियम

दुमका : समाज कल्याण मंत्री ने रेल मंत्री से की बिक्रमशीला एक्सप्रेस का दुमका तक विस्तार करने की मांग

NewsCode Jharkhand | 12 November, 2018 2:19 PM
newscode-image

दुमका। झारखंड की समाज कल्याण मंत्री सह दुमका की विधायक डा. लुईस मरांडी ने केन्द्रीय रेल मंत्री पियुष गोयल से पूर्व प्रधानमंत्री अटल जी के सपनां के अनुरूप राज्य की उपराजधानी दुमका को देश की राजधानी दिल्ली से जोड़ने के लिए भागलपुर,देवघर व रामपुरहाट तक आनेवाले ट्रेनों का विस्तार दुमका तक करने की मांग की है।

स्माज कल्याण मंत्री डाक्टर मरांडी ने रेल मंत्री पियूष गोयल को इस आशय से संबंधित एक मांग पत्र प्रेषित किया है। रेल मंत्री को भेजे गये मांग पत्र में समाज कल्याण मंत्री ने कहा है कि दिल्ली से भागलपुर तक चलनेवाली आनन्द बिहार बिक्रमशीला एक्सप्रेस, रांची से बैद्यनाथ धाम तक चलनेवाली इंटरसीटी एक्सप्रेस ट्रेन के साथ पश्चिम बंगाल के मां तारा की नगरी तारापाठी रामपुरहाट तक चलनेवाली एक्सप्रेस व मेल ट्रेनों का विस्तार दुमका तक किया जाय।

इससे झारखंड की उपराजधानी और संतालपरगना का प्रमंडलीय मुख्यालय दुमका जिले की बहुत बड़ी आबादी के लिए राजधानी दिल्ली के साथ देश के अन्य महानगरां तक रेल से आवागमन सुगम हो जायेगा।

उन्होंने स्मरण कराते हुए कहा कि पार्टी के संस्थापक आदर्श पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी बाजपेयी जी ने दुमका वासियों को रेल से सफर का तौहफा देने का वायदा किया था। उनके कार्यकाल में ही दुमका तक रेल लाईन बिछाने का कार्य तेजी से प्रारम्भ किया गया था।

2004 के बाद इस महत्वाकांक्षी रेल परियोजना का कार्य धीमी गति से चलता रहा है। केन्द्र में 2014 में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व केन्द्र में भारतीय जनता पार्टी की सरकार के अस्तित्व में आने के बाद दुमका-मंदारहिल-रामपुरहाट रेल लाईन परियोजना का कार्य पूर्ण कर इस रेल खंड पर रेल परिचालन शुरू किया गया। लेकिन कम ट्रेनों के परिचालन से इस इलाके के लोगों का रेल से सस्ता और सुगम आवागमन का लाभ नहीं मिल पा रहा है।

इसी क्रम में उन्होंने हावड़ा से भागलपुर वाया दुमका कवि गुरू एक्सप्रेस ट्रेन सेवा शुरू किये जाने के लिए रेल मंत्री के प्रति आभार व्यक्त करते हुए दिल्ली से भागलपुर तक आनेवाली आनन्द बिहार बिक्रमशीला एक्सप्रेस,रांची-बैद्यनाथ धाम इंटरसीटी एक्सप्रेस और रामपुरहाट तक आनेवाली अन्य एक्सप्रेस ट्रेनों का विस्तार कर दुमका तक करने की दिशा में अविलम्ब कदम उठाने का आग्रह किया है।

समाज कल्याण मंत्री ने रेल मंत्री को प्रेषित मांग पत्र की प्रति पूर्वोत्तर रेलवे आसनसोल मडल के प्रबंधक पी.के.मिश्रा और सांसद निशिकांत दूबे को भी सौंपा है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.) 

sun

320C

Clear

Jara Hatke

Read Also

रांची : राजकीय कार्यक्रम में हंगामा करने पर 216 पारा शिक्षक बर्खास्त

NewsCode Jharkhand | 15 November, 2018 7:20 PM
newscode-image

600 अन्य की बर्खास्तगी को लेकर कार्रवाई, गिरफ्तार कर पारा शिक्षकों को कैंप जेल में रखा गया

रांची। झारखंड राज्य स्थापना दिवस के दिन पूरे राज्य भर से राजधानी रांची में आए पारा शिक्षकों ने सरकारी कार्यक्रम को बाधा पहुंचाने की कोशिश की। साथ ही विधि व्यवस्था को अपने हाथ में लेकर पत्थरबाजी भी की।

विधि व्यवस्था में लगे  पुलिस प्रशासन के पदाधिकारियों, वरीय पुलिस अधीक्षक, सिटी पुलिस अधीक्षक  एवम् ड्यूटी पर तैनात पदाधिकारियों पर  पारा शिक्षकों  ने  हमला किया जिससे कई पुलिसकर्मी और  पदाधिकारी गंभीर रूप से जख्मी हुए।

पारा शिक्षकों द्वारा सरकारी कार्यक्रम में व्यवधान डालने, विधि व्यवस्था को तोड़ने एवम् सरकारी लोगो पर हमला करने की घटना को बेहद अशोभनीय एवम् गंभीर रूप से लेते हुए  वीडियो रिकॉर्डिंग एवम् कार्यक्रम स्थल पर लगे सीसीटीवी कैमरा से  लिए फुटेज एवम् अन्य प्रमाणों के आधार पर  16 प्रखंड के कुल 216 पर शिक्षकों को बर्खास्त किया गया।

साथ ही लगभग 600 पारा शिक्षकों को जिला प्रशासन द्वारा बनाई गई खेलगांव एवम् रेड क्रॉस अस्थायी जेल में गिरफ़्तार कर रखा गया है। जिन पर सीसीटीवी कैमरा एवम्  वीडियो रिकॉर्डिंग से मिले प्रमाण के आधार पर बर्खास्त करने की कारवाई चल रही है।

अन्य जिलों के जिलाधिकारियों को भी यहां शामिल पारा शिक्षकों की सूची भेजी जा रही है जिसके आधार पर  चिन्हित कर अनुशासनात्मक कारवाई की प्रक्रिया आरंभ कर दी गई है।  स्थापना दिवस एक राजकीय दिवस है जी सम्पूर्ण राजवसियो के लिए सम्मान एवम् गौरव  का दिन है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.) 

रांची : झारखंड स्थापना दिवस- संपूर्ण झारखंड खुले में शौच मुक्त घोषित, करीब 2100 को मिला नियुक्ति पत्र

NewsCode Jharkhand | 15 November, 2018 7:02 PM
newscode-image

रांची। झारखंड राज्य स्थापना दिवस मना रहा है। राज्य स्थापना दिवस के मौके पर राजधानी रांची के मोरहाबादी मैदान में आयोजित मुख्य समारोह में मुख्यमंत्री ने संपूर्ण झारखंड को खुले में शौच से मुक्त किये जाने की घोषणा की। समारोह में राज्य के तीन जिलों देवघर, हजारीबाग और लोहरदगा को पूर्ण विद्युतीकृत किये जाने की घोषणा की गयी।

इस मौके पर अरबों रुपये की योजनाओं का शिलान्यास और उदघाटन के साथ ही परिसंपत्तियों का वितरण भी किया गया। समारोह में करीब 2100 लोगों को नियुक्ति पत्र का भी वितरण किया गया।

झारखंड स्थापना दिवस पर मुख्यमंत्री रघुवर दास ने राज्य की जनता को कई सौगात दी। रांची में आयोजित मुख्य समारोह में उन्होंने राज्य को खुले में शौच से मुक्त किये जाने की घोषणा की।  उन्होंने कहा कि स्वच्छता को लेकर लोगों की आदतों में भी अब बदलाव आया है।

मुख्यमंत्री ने हर घर तक बिजली पहुंचाने के अपने वायदों को पूरा करते हुए राज्य के तीन जिलों देवघर, लोहरदगा और हजारीबाग को पूर्ण रूप से विद्युतीकृत होने का भी ऐलान किया। इस दौरान श्री दास ने कहा कि वर्तमान सरकार  पूरी तरह से पारदर्शी तरीके से काम कर रही  है और अब तक इस पर एक भी भ्रष्टाचार के आरोप नहीं लगे है।

इस दौरान राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू ने कहा कि देश के विकास में झारखंड का अहम योगदान है। उन्होंने कहा कि जनता को चुनी हुई सरकार से आकांक्षाएं होती है , जिसे पूरा करने में सरकार लगी है।

समारोह के दौरान अरबों रुपये की परिसंपत्तियों का वितरण किया गया और कई नई परियोजनाओं का शिलान्यास और उदघाटन भी हुआ। करीब 2100 लोगों के बीच नियुक्ति पत्र का वितरण और झारखंड और देश के विकास में अपनी भूमिका निभाने वाले लोगों को सम्मानित भी किया गया। जिला मुख्यालयों में भी परिसंपत्तियों का वितरण हुआ।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.) 

More Story

more-story-image

विधानसभावार बूथ स्तर तक प्रोजेक्ट शक्ति में लोगों को जोड़ने...

more-story-image

रांची : आम आदमी पार्टी ने निकाली झारखंड नवनिर्माण संकल्प...

X

अपना जिला चुने