बोकारो : वज्रगृह की सुरक्षा में नहीं बरती जायेगी कोताही- उपायुक्त

NewsCode Jharkhand | 6 May, 2018 5:41 PM

बोकारो : वज्रगृह की सुरक्षा में नहीं बरती जायेगी कोताही- उपायुक्त

बोकारो। गोमिया विधानसभा उपचुनाव-2018 की तैयारी को लेकर उपायुक्त  मृत्युंजय कुमार बर्णवाल एवं पुलिस अधीक्षक  कार्तिक एस ने बी.एस.एल प्लस टू हाई स्कूल सेक्टर-1 स्थित बनाये जाने  वाले वज्रगृह का निरीक्षण किया। उपायुक्त श्री बर्णवाल ने कहा कि वज्रगृह में सुरक्षा के मद्देनजर कोई भी कोताही बरती नहीं जायेगी।

पदाधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिया। वज्रगृह के निरीक्षण के दौरान तैयारियों को देखते हुए उन्होंने कहा कि मतदानकर्मियों को इवीएम लेने एवं जमा करने पर किसी भी असुविधा का सामना नहीं करना पड़ेगा, प्रशासन इसकी पुरी तैयारी कर रहा है।

उपायुक्त श्री बर्णवाल ने कहा कि गोमिया विधानसभा उपचुनाव अतिसंवेदनशील चुनाव क्षेत्र है। प्रशासन चुनाव को शांतिपूर्ण तरीके से संपन्न कराने हेतु पूर्ण तैयारी कर रहा है। उन्होंने जिला के तमाम पदाधिकारियों को चुनाव कार्य में संवेदनशीलता के साथ कार्य करने का निदेश दिया है।

गौरतलब है कि इस चुनाव में 341 बूथ 208 सरकारी भवनों पर बनाये गए है। साथ ही इस चुनाव में पहली बार भीभी पैट का प्रयोग किया जायेगा, जिससे मतदाता सुनिश्चित हो सकेंगे कि उन्होंने किसे वोट दिया है।

पुलिस अधीक्षक  कार्तिक एस ने कहा कि गोमिया विधानसभा उपचुनाव को लेकर पुलिस प्रशासन ने पुरी तैयारी कर ली है। चुनाव क्षेत्र के साथ-साथ वज्रगृह में भी सुरक्षा के व्यापक इंतजाम किये जा रहे है। उन्होंने कहा कि गोमिया विधानसभा में जितने भी अति संवेदनशील बूथ हैं वहां सुरक्षा के दृष्टिकोण से पुख्ता इंतजाम किये जा रहे है।

बोकारो : मोमेंटम झारखंड समारोह की मेजबानी के लिए पूर्ण रूप से तैयार- उपायुक्त 

निरीक्षण के दौरान निदेशक डीआरडीए  संदीप कुमार, अनुमण्डल पदाधिकारी -सह- निवार्ची पदाधिकारी गोमिया विधानसभा  प्रेम रंजन, उप निर्वाचन पदाधिकारी  मृत्युंजय कुमार पाण्डेय, जिला जनसंपर्क पदाधिकारी  विकाश कुमार हेम्ब्रम सहित अन्य उपस्थित थे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

हजारीबाग : एसपी अनीश गुप्ता ने जिले के कई थाना प्रभारी का किया ट्रांसफर – पोस्टिंग

NewsCode Jharkhand | 24 May, 2018 1:16 PM

हजारीबाग : एसपी अनीश गुप्ता ने जिले के कई थाना प्रभारी का किया ट्रांसफर – पोस्टिंग

हजारीबाग । एसपी अनीश गुप्ता ने जिले के कई थानेदारों को स्थांतरित कर किया है ट्रांसफर-पोस्टिंग । इस संबंध में बुधवार को देर शाम आदेश जारी कर दिया गया है।

लोहरदगा : फिल्म फेस्टिवल का शुभारंभ होगा फीचर फिल्म लोहरदगा से

स्थानांतरित थाना प्रभारी  में मुफस्सिल थाना प्रभारी सुमन कुमार को बड़कागांव थाना,कटकमदाग के थाना प्रभारी समीर तिर्की को पेलावल थाना, पेलावल थाना के थाना प्रभारी अजीत कुमार को कटकमदाग, बड़कागांव थाना प्रभारी अकील अहमद को ईचाक थाना, ईचाक के थाना प्रभारी सुरेश राम को गिद्दी थाना, गिद्दी थाना प्रभारी राजीव कुमार सिंह को बदली करते हुए मुफस्सिल थाना का प्रभारी बनाया गया है ।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

Read Also

देवघर : मधुपुर नगर परिषद अध्यक्ष लतिका मुर्मू और उपाध्यक्ष जियाउल हक हुए सख्त

कहा नहीं बनेगी सड़क, जनता के पैसे का होता है दुरुपयोग। पूर्व नप अध्यक्ष द्वारा कराया गया था टेंडर

NewsCode Jharkhand | 24 May, 2018 12:56 PM

देवघर : मधुपुर नगर परिषद अध्यक्ष लतिका मुर्मू और उपाध्यक्ष जियाउल हक हुए सख्त

देवघर । मधुपुर नगर परिषद के वार्ड नंबर 12 में पीसीसी सड़क का टेंडर पूर्व नप अध्यक्ष द्वारा कराया गया था जबकि सड़क की स्थिति बिल्कुल सही है। आज फिर से शिलापट लगाकर विधिवत आधारशिला रखा गया था और सड़क बनाने का काम शुरू होना था।

नवनिर्वाचित नप अध्यक्ष लतिका मुर्मू ओर उपाध्यक्ष जियाउल हक द्वारा इसका विरोध किया गया और काम को बंद करा दिया गया। वही इनका कहना है कि मधुपुर की शहर के सौंदर्यीकरण के लिए प्लान बनाया गया है और जहां जर्जर सड़क है वहां कालीकरण किया जाएगा । फिजूल में सड़क पर सड़क नही बनने दिया जाएगा।

जिस सड़क की स्थिति बिल्कुल सही है उसमें सड़क पर सड़क बना कर जनता के पैसे का दुरुपयोग नहीं होने दिया जाएगा। वही स्थानीय लोग भी सड़क पर सड़क बनाने का विरोध किया। शिलापट लगा का लगा ही रह गया और नप अध्यक्ष लतिका मुर्मू ओर उपाध्यक्ष जियाउल हक द्वारा काम बंद करा दिया गया ।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

चाईबासा : जिले में 13 फीसदी बच्चे अति गंभीर कुपोषण का शिकार

NewsCode Jharkhand | 24 May, 2018 12:48 PM

चाईबासा : जिले में 13 फीसदी बच्चे अति गंभीर कुपोषण का शिकार

केंद्रीय स्वास्थ्य विभाग और यूनिसेफ की संयुक्त टीम ने प. सिंहभूम जिले का किया दौरा

चाईबासा (पश्चिमी सिंहभूम)। केंद्रीय स्वास्थ्य विभाग और यूनिसेफ की संयुक्त टीम पश्चिमी सिंहभूम जिला के दौरे पर है। केंद्रीय और यनिसेफ की एक टीम सारंडा के विभिन्न गांवों का दौरा कर रही है तो दूसरी टीम सदर अस्पताल के कुपोषण उपचार केंद्र का निरीक्षण कर रही है। टीम मुख्य रूप से जिले में कुपोषित बच्चों के उपचार, रख-रखाव और उनके स्वास्थ्य का डाटा तैयार कर रही है। अपने दौरे के क्रम में टीम के अधिकारियों ने कुपोषण उपचार केंद्र के डाक्टर, नर्स और अन्य कर्मियों को कई दिशा -निर्देश भी दिए।

चाईबासा कुपोषण उपचार केंद्र में इलाजरत बच्चों को देखने के बाद टीम संतुष्ट दिखी, लेकिन उपचार केंद्र से जाने के बाद कुपोषित बच्चों के मां से सप्ताह में एक बार बच्चे के स्वास्थ्य की जानकारी लेकर डाटा तैयार करने का निर्देश दिया।

Read More:- गढ़वा : कुपोषण उपचार केंद्र में कर्मियों की मनमानी, राशि का करते बंदरबांट

वहीं सारंडा का दौरा कर रही टीम गांवों के आंगनबाडी केंद्रों में बच्चों के रहन-सहन, खाने-पीने और परिवेश का जानकारी हासिल कर रही है। गौरतलब है कि प सिंहभूम जिला में 1 से पांच साल के बच्चों की कुल संख्या का 13 फीसदी बच्चे अति गंभीर कुपोषण का शिकार है, जबकि हजारों की संख्या में बच्चे कुपोषण से ग्रसित है।

रांची : हार रही जिंदगी के बीच बदलाव की बयार, मासूम जीत रहे कुपोषण की जंग

कुपोषण के कारण जिले बच्चों का मानसिक, शारीरिक और बौद्धिक विकास रूक गया है। केंद्र और राज्य सरकार  इसे गंभीरता से लेते हुए जिले में कुपोषित बच्चों को बचाने की अपनी मुहिम तेज कर दी। कुपोषण के लिए अलग से फंड जारी किया गया। केंद्र और युनिसेफ टीम का दौरा इसी क्रम का हिस्सा है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

X

अपना जिला चुने