बोकारो : काम पर लौटे डॉक्‍टर, बहाल हुई सदर अस्पताल में ओपीडी सेवा

NewsCode Jharkhand | 14 March, 2018 3:18 PM

बोकारो : काम पर लौटे डॉक्‍टर, बहाल हुई सदर अस्पताल में ओपीडी सेवा

 

बोकारो। मंगलवार को सदर अस्पताल में चर्म रोग के ओपीडी में तैनात डॉ रजनी कुमारी के साथ एक मरीज के परिजन द्वारा की गई दुव्‍यर्वहार के बाद चिकित्सकों द्वारा ओपीडी सेवा ठप कर दी गयी थी। जो पुनः बुधवार को बहाल हो गई। चिकित्सकों द्वारा ओपीडी में कार्य प्रारंभ कर दी गयी। दुव्‍यर्वहार के बाद चिकित्सक सुरक्षा व्यवस्था को लेकर नराज हो गए थे।

बोकारो : बढ़ते अपराध पर रहेगी पुलिस की नजर, एसपी ने थानेदारों को दिया निर्देश

जिसके बाद मरीजों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा था। इलाज के बिना मरीजों को लौटना पड़ा। चिकित्सीय व्‍यवस्था बहाल होने के बाद मरीजो ने राहत महसूस किया है। सिविल सर्जन ने बताया कि उपायुक्त ने सुरक्षा व्यवस्था दुरुस्त करने का आश्वासन दिया है। बुधवार को सभी ओपीडी के ताले खोले गए व चिकित्सक भी काम पर लौट आए।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

जमशेदपुर : सदर अस्पताल में व्यवस्था बदहाल, धरने पर बैठे ग्रामीण

NewsCode Jharkhand | 24 April, 2018 8:52 PM

जमशेदपुर : सदर अस्पताल में व्यवस्था बदहाल, धरने पर बैठे ग्रामीण

मरीजों को भेज दिया जाता है एमजीएम

जमशेदपुर। खासमहल स्थित सदर अस्पताल में व्याप्त बदहाल व्यवस्था के खिलाफ प्रदर्शन शुरू हो चुका है। अव्यवस्था और भ्रष्टाचार के विरोध में यूथ डिबेट सोसाइटी के साथ सैकड़ों ग्रामीणों ने अस्पताल परिसर में अनिश्चितकालीन धरना शुरु कर दिया।

खासमहल में सदर अस्पताल शुरू होने के बाद ग्रामीण क्षेत्र के लोगों को लगा था कि उनकी समस्याओं का समाधान अस्पताल में होगा, लेकिन उन्हें एमजीएम अस्पताल रेफर कर दिया जाता है।

सदर अस्पताल में ज्यादातर मरीजों को एमजीएम अस्पताल रेफर कर दिया जाता है, जिससे गरीब तबके के मरीजों को मुश्किलों से दो-चार होना पड़ रहा है। सामाजिक संस्था यूथ डिबेट सोसाइटी स्थानीय ग्रामीण और जनप्रतिनिधियों ने आंदोलन शुरु कर दिया है।

धनबाद : दारोगा भर्ती के दौरान घायल अभ्यर्थी की मौत, सरकार पर लापरवाही का आरोप

प्रमुख मांगें हैं

पैथोलॉजी लैब के निजीकरण का विरोध, अस्पताल एवं जन औषधि केंद्र में दवा का अभाव दूर करना, ब्लड बैंक का निर्माण करने, इमरजेंसी सुविधा व ममता वाहन की सुविधा पूर्ण रुप से बहाल करने की मांग की गयी है।  पोस्टमार्टम हाउस निर्माण करने को भी कहा गया है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

Read Also

आंखें हैं अनमोल, गर्मी में रखें खास ख्याल

NewsCode | 24 April, 2018 11:40 AM

आंखें हैं अनमोल, गर्मी में रखें खास ख्याल

मुरादाबाद । आंखें अनमोल होती हैं, इसलिए उसका ख्याल भी हमें बखूबी रखना होगा। गर्मी की तेज तपिश और धूप हमारी आंखों को कितना नुकसान पहुंचा सकती है और उससे बचाव में हमें क्या सावधानी बरतनी चाहिए, इस बात को जान लेना हमारे लिए बेहद जरूरी है। मुरादाबाद जिला नेत्र चिकित्सालय के नेत्र विशेषज्ञ डॉ. गिरिजेश कैन ने इस बदलते मौसम और तेज धूप भरी गर्मी में आंखों के बचाव और उसकी देखभाल के लिए अहम जानकारी साझा की है, जिससे हम अपनी अनमोल आंखों को इस गर्मी में नुकसान पहुंचने से बचा सकते हैं।

उन्होंने बताया कि एलर्जिक रिएक्शन में सबसे पहले आंखों में पानी आना, चुभन होना और आंखों में लालपन आना- ये तीन ऐसे लक्षण हैं, जिससे एलर्जी रिएक्शन का पता लगाया जा सकता है। उन्होंने बताया कि इस मौसम में सबसे ज्यादा मोस्ट कॉमन एलर्जिक कांजेक्टिवआइटिस है जो पूरी तरह एलर्जिक रिएक्शन से होता है।

उन्होंने कहा कि मौसम बदलने की वजह से भी आंखों में एलर्जी हो जाती है। इसके बचाव के लिए सबसे बढ़िया तरीका है कि आंखों को बिल्कुल भी न मलें और पहले ठंडे पानी से धोएं। उसके बाद भी कोई दिक्कत आती है तो इसमें जरा भी लापरवाही न करते हुए नेत्र विशेषज्ञ से राय लें।

प्रेग्‍नेंट हैं सानिया मिर्जा, कुछ इस तरह शेयर की खुशखबरी

डॉ. कैन ने बताया कि सूरज की तेज धूप और उसमें से निकलने वाली अल्ट्रा वॉयलेट किरणों से आंखों का बचाव भी बेहद जरूरी है। सूरज की अल्ट्रा वॉयलेट किरणें हमारी आंखों को नुकसान पहुंचा सकती हैं, इसलिए घर से बाहर निकलते समय धूप के चश्मे जरूर पहनें।

गर्मी के मौसम में आकर्षक और कूल लुक के लिए पहनें ऐसे कपड़े

उन्होंने बताया कि सन ग्लास जहां धूल के कण को आंखों में जाने से रोकता है, वहीं सूरज की अल्ट्रा किरणों से भी काफी हद तक बचाव करता है तेज धूप से आंखों के बचाव के लिए सिर पर टोपी का इस्तेमाल भी करें। ऐसा करने से सूरज की किरण आपके चेहरे पर पहुंच नहीं बना पाती। साथ ही आपकी आंखों को उसकी किरणों से सुरक्षित रखती है।

–आईएएनएस

देवघर : मिशन इंद्रधनुष अभियान की शुरुआत, 13गांवों में चला अभियान

NewsCode Jharkhand | 23 April, 2018 9:39 PM

देवघर : मिशन इंद्रधनुष अभियान की शुरुआत, 13गांवों में चला अभियान

देवघर। ग्राम स्वराज अभियान के तहत् सोमवार को विधिवत द्वीप प्रज्वलित कर मिशन इंद्रधनुष अभियान की शुरुआत देवघर प्रखण्ड के भांकरी ग्राम से चयनित सभी 13 गांवों में की गयी।

इस संबंध में सिविल सर्जन, देवघर द्वारा जानकारी दी गई कि इन्द्रधनुश के सात रंगों को प्रदर्शित करने वाला मिशन इन्द्रधनुष का उद्देशय 0 से 2 वर्श के वैसे बच्चे जो नियमित टीकाकरण से वंचित रह गये या डिपथेरिया, बलगम, टिटनेस, पोलियो, तपेदिक, खसरा तथा हेपेटाइटिस-बी को रोकने जैसे सात टीके पड़े हैं उनको इस अभियान के द्वारा टीकाकरण कराना है।

साथ हीं इस अभियान के द्वारा गर्भवती महिलाएँ; जो नियमित टीकाकरण के दौरान छूट गयी है का टीकाकरण किया जाना है। उनके द्वारा जानकारी दी गयी कि ग्राम स्वराज अभियान के तहत् 23 अप्रैल से 27 अप्रैल, 2018 तक भात प्रतिशत बच्चों एवं महिलाओं का टीकाकरण सुनि चत किया जाना है।

इसके अलावे सिविल सर्जन के द्वारा जानकारी दी गई कि जिले के 13 चयनित गांवों में घर-घर जाकर सर्वे कर कुल 142 बच्चे तथा 70 गर्भवती महिलाओं की सूची तैयार की गयी है। इन सभी चिन्ह्ति बच्चों एवं गर्भवती महिलाओं का शत प्रतिशत टीकाकरण हेतु अभियान से संबंधित चिकित्सकों, सुपरवाईजर व सेविका-सहायिकाओं को उचित दिशा-निर्देश दी गयी है।

लोहरदगा : जलसहियाओं ने ग्रामीणों को जागरूक करने का लिया संकल्प

बैठक में जिला आर.सी.एच. पदाधिकारी डॉ. सुधीर प्रसाद, सर्विलेंस मेडिकल अधिकारी डब्ल्यू.एच.ओ. रवि कुमार, जिला यक्ष्मा पदाधिकारी डॉ. डी. तिवारी, एम.ओ.आई.सी., जसीडीह डॉ. ए.के. सिंह, शंकरी पंचायत के मुखिया पूनम देवी आदि उपस्थित थे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

© Copyright 2017 NewsCode - All Rights Reserved.