बोकारो: फुसरों नगर परिषद क्षेत्र में आदर्श आचार संहिता लागू

NewsCode Jharkhand | 15 March, 2018 5:53 PM
newscode-image

बोकारो। उपायुक्त-सह-जिला निर्वाचन पदाधिकारी (नगरपालिका)  मृत्‍युंजय कुमार वर्णवाल ने फुसरो नगर परिषद आम निर्वाचन- 2018 को लेकर प्रेसवार्ता का आयोजन समाहरणालय सभाकक्ष में किया। उपायुक्त  मृत्युंजय कुमार वर्णवाल ने फुसरो नगर परिषद आम निर्वाचन- 2018 हेतु आधिकारिक अधिसूचना भी गुरूवार को जारी किया और कहा कि निर्वाचन कार्य पूर्ण होने तक फुसरों नगर परिषद क्षेत्र में आदर्श आचार संहिता लागू रहेगा।

उपायुक्त श्री वर्णवाल ने कहा कि 16 से 22 मार्च तक नामांकन लिया जायेगा, 23 मार्च को स्क्रूटनी की जायेगी, 27 मार्च तक नाम वापसी, 28 मार्च को चुनाव चिन्ह् आवंटन तथा 16 अप्रैल को मतदान की तिथि रखी गई है। उनके अनुसार इस बार नगर परिषद क्षेत्र हेतु अध्यक्ष एवं उपाध्यक्ष पद का चुनाव दलीय आधार पर होगा, वहीं वार्ड पार्षद का चुनाव सामान्य आधार पर ही होगा।

धनबाद : नगर निगम शहर की सूरत बदलने को तैयार, बनायी योजना

 उन्होंने कहा कि वैसे दम्पति जो 2013 के बाद दो से अधिक बच्चों के माता-पिता हैं, चुनाव नहीं लड़ सकेंगे। उपायुक्त ने बताया कि फुसरों नगर परिषद में कुल 28 वार्ड है जिसमें 63 बुथ है, जिसमें कुल 63,458 वोटर है। इसमें कुल पुरूष मतदाता 34151 तथा महिला मतदाता 29307 है।

अध्यक्ष एवं उपाध्यक्ष पद के उम्मीदवारों हेतु खर्च की सीमा 6,00,000 रूपया तक सीमित की गई है। वहीं वार्ड पार्षद के उम्मीदवार के लिए 1,50,000 रूपये खर्च की सीमा रखी गई है। उन्होंने बताया कि निर्वाचन हेतु अभ्यिर्थियों के लिए अलग से बैंक का खाता होना अनिवार्य है, जो नाम निर्देशन पत्र दाखिल करने से कम से कम एक दिन पूर्व खोला गया हो।

उपायुक्त श्री वर्णवाल ने कहा कि नाम निर्देशन प्रपत्र संबंधित निर्वाची पदाधिकारी के कार्यालय से अध्यक्ष एवं उपाध्यक्ष पद हेतु सामान्य वर्ग के लिए 5000 रूपया एवं वार्ड पार्षद के सामान्य वर्ग के लिए 1000 शुल्क जमा कर प्राप्त किया जा सकता है। उनके अनुसार महिला, अनुसूचित जाति, जनजाति एवं पिछड़ा वर्ग के उम्मीदवारों को नाम निर्देशन प्रपत्र के लिए आधा शुल्क जमा करना होगा।

उपायुक्त श्री वर्णवाल ने जानकारी दी कि अध्यक्ष पद हेतु  एस.एन.उपाध्याय निदेशक डीपीएलआर एवं उपाध्यक्ष पद के लिए  जुगनू मिंज को निर्वाची पदाधिकारी बनाया गया है। वहीं वार्ड नम्बर 01 से 05 तक के लिए  टुडू दिलीप कार्यपालक दण्डाधिकारी बेरमों, वार्ड नम्बर 06 से 10 तक के लिए मुद्दसर नजर मंसूरी अंचल अधिकारी बेरमो, वार्ड 11 से 15 तक के लिए  राकेश श्रीवास्तव अंचल अधिकारी जरीडीह, वार्ड 16 से 20 तक के लिए श्री राकेश कुमार सिंह अंचल अधिकारी चन्द्रपुरा, वार्ड 21 से 25 तक के लिए श्री प्रणव अम्बष्ठ अंचल अधिकारी पेटरवार, वार्ड 26 से 28 तक के लिए  छोटेश्वर प्रसाद दास अंचल अधिकारी नावाडीह को निर्वाची पदाधिकारी बनाया गया है। इनके सहयोग के लिए 02-02 सहायक निर्वाची पदाधिकारी भी बनाये गए है।

प्रेसवार्ता के दौरान उपस्थित पुलिस अधीक्षक  कार्तिक एस ने कहा कि फुसरों नगर परिषद क्षेत्र में अधिसूचना जारी होने के बाद निरोधात्मक प्रक्रिया जारी है। प्रेसवार्ता के दौरान उप विकास आयुक्त  रवि रंजन मिश्रा, जिला उप निर्वाचन पदाधिकारी  मृत्युंजय कुमार पाण्डेय, जिला पंचायती राज पदाधिकारी  देवनीश किड़ों, जिला भूमि उप समाहर्ता  जेम्स सुरीन, जिला जनसंपर्क पदाधिकारी  विकाश कुमार हेम्ब्रम सहित अन्य उपस्थित थे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

रांची : पहली बारिश में नगर निगम की खुली पोल, अस्त-व्यस्त जरूरी सेवाएं

NewsCode Jharkhand | 25 June, 2018 10:03 PM
newscode-image

रांची। झारखंड में मानसून देर से आने की सूचना थी लेकिन फिर भी नगर निगम की ओर से किसी भी प्रकार की तैयारी नहीं की गई, नतीजतन मानसून के पहले बारिश ने नगर निगम की पोल खोलकर रख दी है। ऐसे तो नगर निगम सड़क और नाली के ऊपर करोड़ों खर्च करने की बात कहती है लेकिन पहली बारिश ने नगर निगम के सारे दावों को झूठा साबित कर दिया।

रांची : बीजेपी का “पोल खोल हल्ला बोल” नाम से राज्‍यभर में धरना

बता दें 1 घंटे रांची में हुए मूसलाधार बारिश से कई जरूरी सेवाएं बाधित हो गई। तेज बारिश के कारण नाली का पानी सड़कों पर बहने लगी, कई दुकानों में नाली का पानी सड़कों के माध्यम से घुस गया, कई व्यापारी को काफी परेशानी उठानी पड़ी। वही राहगीरों का रास्ता चलना दुर्भर हो गया।

रांची का सबसे पुराना अस्पताल सेवा सदन में बारिश का पानी घुसने की वजह से मरीजों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा, वही कई मरीज पर इंफेक्शन का खतरा मंडराने लगा। वही मुसलाधार बारिश के कारण ओवर ब्रिज का रोड धंस गया, जिससे आवागमन पूरी तरह से बाधित हो गई।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

sun

320C

Clear

क्रिकेट

Jara Hatke

Read Also

कोडरमा : निखिल भारत बंग साहित्य सम्मेलन का चुनाव सम्पन्न

NewsCode Jharkhand | 25 June, 2018 9:58 PM
newscode-image

रविन्द्र चुने गए अध्यक्ष और संदीप सचिव

कोडरमा। निखिल भारत बंग साहित्य सम्मेलन कोडरमा शाखा सत्र 2018-20 के लिए द्विवार्षिक चुनाव सम्पन्न हो गया झुमरीतिलैया स्थित डॉ. कल्याण चैघरी के आवास पर आयोजित इस चुनावी बैठक की अध्यक्षता डॉ. ओमियो विश्वास ने की। बैठक में संस्था के सचिव अरुप मित्रा ने अपना प्रतिवेदन प्रस्तुत किया, वहीं कोषाध्यक्ष तुषार राय चैधरी ने आय व्यय का विस्तृत ब्यौरा प्रस्तुत किया।

कोडरमा : भूमि अधिग्रहण संशोधन बिल के खिलाफ विपक्ष का धरना-प्रदर्शन

इस चुनाव में सर्वसम्मति से अध्यक्ष पद पर रविन्द्र चन्द्र दास, सचिव पद पर संदीप मुखर्जी एवं कोषाध्यक्ष पद पर शंकर प्रसाद सिन्हा को मनोनीत किया गया। इसके अलावा डॉ. ओमियो विश्वास, डॉ. कल्याण चौधरी, काकोली मजुमदार व मंजुश्री मुखर्जी को उपाध्यक्ष बनानी नियोगी को संयुक्त सचिव, तीर्थो मुखर्जी व अरुप मित्रा को सह सचिव, विपुल गुप्ता को केन्द्रीय परिषद के सदस्य, सुनील कुमार देवनाथ को सांस्कृतिक विभाग के अध्यक्ष व सुकांत मजुमदार को सचिव तथा इन्द्रानी मुखर्जी व जया मुखर्जी को सदस्य, बुद्धेश्वर कुण्डु को अंकेक्षक के रुप में चुना गया।

कार्यकारिणी सदस्य के रुप में तुषार राय चौधरी, माया दास, प्रसेनजीत घोष, निरुपमा चौधरी व चित्रा मुखर्जी को चुना गया। संस्था की कोडरमा शाखा का मुखपत्र सृजनी पत्रिका के संपादक के रुप में कल्याण मजुमदार, सह संपादक के रुप में इन्द्रजीत गुप्ता व प्रकाशन सचिव के रुप में भूदेव मुखर्जी का मनोनयन किया गया। नव निर्वाचित सचिव संदीप मुखर्जी के धन्यवाद ज्ञापन के साथ बैठक का समापन किया गया।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

सरिया : आंगनबाड़ी केंद्रों में मिला सड़ा अंडा, अभिभावकों ने काटा बवाल

NewsCode Jharkhand | 25 June, 2018 9:27 PM
newscode-image

सरिया (गिरिडीह)। सरिया प्रखंड के विभिन्न आंगनबाड़ी केंद्रों में बच्चों के बीच सोमवार को सड़ा हुआ अंडा मिलने मिला इसकी सूचना मिलने पर कई अभिभावक केन्द्रों में पहुँचे और लचर व्यवस्था के विरोध में जमकर हंगामा किया।  बताया जाता है कि बाल विकास परियोजना विभाग द्वारा बच्चों के बीच पोषाहार के रूप में अण्डा परोसा जाना है।

इसके तहत सोमवार को सरिया प्रखंड के आंगनबाड़ी केंद्रों में अण्डा वितरण की व्यवस्था की गई। जहाँ उपस्थित पोषण सखी तथा आंगनबाड़ी केंद्र की सेविका-सहायिका द्वारा उसे उबाला जाने लगा। इस क्रम में सड़े हुए अंडे फूट गए। वहीं दुर्गंध सी आने लगी। जिसकी सूचना पर विभिन्न केन्द्रों पर महिलाओं ने हंगामा किया। बाद में पोषण सखियों व सेविकाओं द्वारा सभी को समझा-बुझाकर उन्हें भेजा गया।

बेंगाबाद : तेज रफ्तार का टूटा कहर, बाइक सवार युवक की मौत

सरकारी व्यवस्था को जमकर कोसते हुए अभिभावकों ने कहा कि सरकार बच्चों को कुपोषण मुक्त करना चाहती है। परन्तु उनके अधिकारी-कर्मचारी कमीशन के चक्कर में सड़े-गले अंडे परोस कर उनके बच्चे को बीमार करना चाहते हैं। लोगों ने कहा कि सरकार इन गंभीर मामलों को संज्ञान में लेकर जांच पड़ताल कर दोषी अधिकारियों पर कार्रवाई करें अन्यथा केन्द्रों को बन्द कर दें।

इन केंद्रों में मिले सड़े अंडे

प्राप्त जानकारी के अनुसार प्रखंड के नीचे टोला चंद्रमारणी, आंगनबाड़ी केंद्र मंदरामो, आंगनबाड़ी केन्द्र उर्रो सहित कई अन्य केन्द्रों में सड़े अंडे मिले है, जबकि शिकायत कर्ताओं में सेविका सीता देवी, संगीता देवी,विद्या देवी, मंजू देवी, पोषण सखियों में कंचन कुमारी, पिंकी कुमारी, संजना सिंह आदि है। इन्होंने बताया कि अभिभावकों द्वारा हंगामा किए जाने के बाद सभी खंडों को बाहर फेंक दिया गया तथा इसकी सूचना प्रखंड बाल विकास परियोजना पदाधिकारी अनिता कुमारी को दे दी गई है।

सीडीपीओ का गोल मटोल जवाब

इस बाबत प्रखंड बाल विकास परियोजना पदाधिकारी सरिया अनिता कुमारी से पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि कई आंगनबाड़ी केंद्रों से शिकायत मिली है कि उन्हें सड़े हुए अंडे बच्चों के बीच वितरण करने के लिए दिए गए थे। जो उबलने के समय अंडे फूट गए तथा उससे दुर्गंध आने लगी। जिन्हें फेंक दिया गया है।

उन्होंने कहा कि इस संबंध में उन्हें यह पता नहीं है कि अंडा किस एजेंसी के द्वारा दिया जा रहा है या किन-किन केंद्रों को अंडे की आपूर्ति कराई जा रही है। उन्होंने कहा कि सड़े हुए अंडे की शिकायत मिलने के बाद इसकी सूचना जिला पदाधिकारी को दे दी गई है।

बगोदर विधानसभा क्षेत्र के विधायक नागेंद्र महतो ने कहा कि सरकार द्वारा आंगनबाड़ी केंद्रों के माध्यम से बच्चों के बीच पौष्टिक आहार वितरण किया जा रहा है। ताकि क्षेत्र कुपोषण से मुक्त हो। इसी के तहत अंडे वितरण करने का भी प्रावधान है परंतु दुर्भाग्य है कि कुछ स्वार्थी तत्व के लोग दो पैसे कमीशन बचाने के चक्कर में सड़े हुए अनाज-अंडे को परोस रहे है। जिससे सरकार का लक्ष्य पूरा नहीं होगा।

वहीं यदि गांव के लोग सजग नहीं रहेंगे तो बच्चों को बीमार होने में देर भी नहीं लगेगी। उन्होंने कहा कि यह बहुत संगीन मामला है इस मामले को उपायुक्त के पास रखा जाएगा तथा लापरवाही बरतने वाले अधिकारी पर कठोरतम कार्रवाई की अनुशंसा की जाएगी।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

More Story

more-story-image

बेंगाबाद : तेज रफ्तार का टूटा कहर, बाइक सवार युवक...

more-story-image

पाकुड़ : भाजपा की बैठक आयोजित, हुल दिवस को लेकर...