बोकारो: अवैध शराब को लेकर प्रशासन गंभीर नहीं, बोकारो में भी हो सकती है रांची जैसी घटना

NewsCode Jharkhand | 6 September, 2017 2:14 PM

बोकारो: अवैध शराब को लेकर प्रशासन गंभीर नहीं, बोकारो में भी हो सकती है रांची जैसी घटना

बोकारो। प्रशासन अवैध विदेशी शराब को लेकर गंभीर नहीं हुआ तो रांची जैसी जहरीली शारब की घटना बोकारो में भी हो सकती है। बोकारो के लाइन होटलों, ढाबों और सड़क किनारे झोपड़ियों में अवैध रूप से शराब पिलाये जा रहे है। दूसरे राज्‍यों से शराब लाकर कर अवैध रूप से कारोबार किया जा रहा है। बोकारो के शराब माफियाओं का लिंक धनबाद से है। जिसके माध्‍यम से बोकारों में भी शराब पहुंच रही है।

रांची में हुई जहरीली शराब से मौत के बाद सरकार गंभीर है और इसकों ले कर जिम्‍मेदार अधिकारियों पर कार्रवाई भी की गई है। लेकिन सिर्फ रांची में ही करवाई से इस घटना की रोका नहीं जा सकता है। बोकारो जिले में भी अवैध विदेशी शराब का कारोबार एक अगस्त से जोर पकड़ लिया है।

यहाँ दूसरे राज्यों से शराब की तस्करी कर छोटे-छोटे कारोबारियों को शराब मुहैया कराया जा रहा है। छोटे कारोबारी इस शराब को होटलों, ढाबों और झोपड़ियों को उपलब्ध करा रहे हैं, जहाँ शाम हो या सुबह बिना किसी डर के आम लोगों को शराब परोसा जा रहा है। इस बात की सच्चाई ये तस्वीर भी बयां करती है। ऐसा नहीं है की जिले के सम्बंधित विभाग और थाना को इसकी सूचना नहीं है।

हाल में दिनों में बोकारो पुलिस ने विदेशी शराब की एक खेप पकड़ी थी। जिसके पकड़े जाने की भी वजह कुछ अलग ही बताया जा रहा है। बोकारो उत्पाद विभाग दिखावे के तौर पर छापेमारी के नाम पर कुछ दिखावा जरूर कर रहा है। लेकिन कोई बड़ी कार्रवाई अभी तक विभाग के द्वारा नहीं की गई है।

सूत्रों के अनुसार बोकारो के शराब माफिया 31 जुलाई को ही शराब का स्टॉक विभिन्न जगहों पर कर रखा है। साथ ही धनबाद के एक कारोबारी से दूसरे राज्य का शराब छोटी गाड़ियों में बोकारो ला रहे हैं जो शराब को अपने सहयोगियों के सहयोग से बेच रहे हैं। इस अवैध कारोबार से राज्य सरकार को भी राजस्व का भारी नुकसान उठाना पड़ रहा है।

विभाग में संसाधन की घोर कमी : सहायक आयुक्‍त

इस मामले में जब सहायक आयुक्त उत्पाद बोकारो सुनील चौधरी से बात की गई तो इनका कहना था की विभाग में संसाधन की घोर कमी है। जिसके कारण कार्रवाई करना संभव नहीं हो पा रहा है। उन्होंने माना की बिना पुलिस के सहयोग से इस प्रकार के करोबार को रोक पाना मुश्किल है।

बोकारो में उत्पाद विभाग में उत्पाद निरीक्षक के तीन पद स्वीकृत है लेकिन वर्तमान में एक निरीक्षक पदस्थापित है। वहीं उत्पाद सहायक   निरीक्षक के आठ पद स्वीकृत हैं लेकिन वर्तमान में चार सहायक निरीक्षक पदस्थापित है। वहीं एएसआई के दस पद स्वीकृत है लेकिन वर्तमान में एक भी पदस्थापित नहीं है। वहीं सिपाही के 55  पद स्वीकृत है लेकिन वर्तमान में 6  पदस्थापित है।

एसपी वाईएस रमेश ने न्‍यूज कोड से की बात

इस मुद्दे पर एसपी वाईएस रमेश ने न्यूज़ कोड से बात करते हुए कहा कि जिस भी थाना क्षेत्र में अवैध शराब बेचा या पिलाये जाते पकड़ा जायेगा उस थाना के थाना प्रभारी और उत्पाद विभाग के अधिकारियों पर कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि उत्पाद विभाग को छापेमारी के लिए होमगार्ड के जवान उपलब्ध कराया जा रहा है। उन्होंने कहा कि पुलिस अवैध शराब के खिलाफ कार्रवाई कर रही है।

  • RAJESH PASWAN

    September 6, 2017

    कारवाई मे क्या कीजिएगा जनता को बताइए ।क्यो अपके मना करने के बाद भी नही शराब बेचेगा।क्या उस थाना प्रभारी को डिसमिस कीजिएगा। क्यो कि ये जान बूझ कर किया गया अपराध माना जाएगा।तब देखिए कि बेरमो मे कहा कहा शराब बिकता है।अगर थाना का मिलीभगत नही रहता तो रांची जहरीली शराब कांड मे वे जवान केसै मरते।

रांची : सेंट्रल लाईब्रेरी में वाई-फाई की सुविधा देने का नितिन कुलकर्णी ने दिया निर्देश

NewsCode Jharkhand | 22 May, 2018 9:55 PM

रांची : सेंट्रल लाईब्रेरी में वाई-फाई की सुविधा देने का नितिन कुलकर्णी ने दिया निर्देश

रांची। राज्यपाल के प्रधान सचिव डा. नितिन कुलकर्णी आज सेन्ट्रल लाइब्रेरी और रांची विवि का निरीक्षण करने पहुंचे। निरीक्षण के क्रम में उन्होंने रांची विवि के कुलपति डॉ रमेश पाण्डेय से कहा कि सेन्ट्रल लाइब्रेरी में पढ़ाई का बेहतर व अनुकूल वातावरण स्थापित करने हेतु हर संभव प्रयास करें।

उन्होंने पुस्तकालय में अधिक-से-अधिक पुस्तकों के साथ-साथ आधुनिक जर्नल की उपलब्धता सुनिश्चित करने को कहा ताकि बच्चों को प्रतियोगिता परीक्षा की तैयारी हेतु बेहतर मार्गदर्शन प्राप्त हो सके।

रांची : सुनील वर्णवाल ने शिकायतों के निष्पादन में गंभीरता बरतने का दिया निर्देश

उन्होंने सेन्ट्रल लाइब्रेरी में शीघ्र ही वाई-फाई की व्यवस्था सुनिश्चित करने का निर्देश दिया। साथ ही पुस्तकालय में एलईडी लाइट तथा एसी लगाने को भी कहा। प्रधान सचिव ने कहा कि विवि को सेन्ट्रल लाइब्रेरी में स्वच्छता पर विशेष ध्यान देने की आवश्‍यकता है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

Read Also

बोकारो : कई राज्यों में आतंक का पर्याय बन चुका हसन चिकना गिरफ्तार

NewsCode Jharkhand | 22 May, 2018 9:54 PM

बोकारो : कई राज्यों में आतंक का पर्याय बन चुका हसन चिकना गिरफ्तार

33.64 लाख नगद व पांच किलो सोना बरामद

बोकारो। मुंबई के नेरूल पुलिस ने कई राज्यों में बैंक लूट और आभूषण चोरी मामले में आतंक का पर्याय बन चुका हसन चिकना को गिरफ्तार कर लिया है। सम्भावना है कि चिकना बुधवार की सुबह तक बोकारो पहुंचेगा।

बोकारो पुलिस ने मांगी थी नेरुल पुलिस से मदद

मालूम हो झारखंड पुलिस ने नेरुल पुलिस से मदद मांगी थी। 2017 में क्रिसमस की छुट्टियों के दौरान  करोड़ों के सोना बोकारो स्टील सिटी के एसबीआई शाखा से आरोपी हसन खलील शेख उर्फ ​​हसन चिकना (37) चोरी करवा लिया था। नेरूल पुलिस को एक टिप ऑफ मिला कि अभियुक्त सोमवार को किसी से मिलने के लिए सेक्टर 20 में आएगा।

सर्वे के बहाने हसन चिकना तक पहुंची पुलिस

जनगणना श्रमिकों के रूप में छिपे हुए दो पुलिसकर्मियों ने क्षेत्र का सर्वेक्षण करना शुरू कर दिया। शेख को ढूंढ़ने के बाद उन्होंने अन्य अधिकारियों को संकेत दिया जो पास में छिपे थे। तब टीम ने उसे गिरफ्तार कर लिया। इस मामले की जानकारी वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक अशोक राजपूत ने दिया।

बोकारो पुलिस अभी तक गिरफ्तारी की नहीं की पुष्टि

पुलिस ने ₹ 33.64 लाख नकद और 5.5 किलो सोने के गहने ₹ 1.79 करोड़ रुपये के बरामद किए हैं। हालांकि बोकारो पुलिस अभी तक गिरफ्तारी की पुष्टि नहीं किया है। बोकारो पुलिस ने चोरी में शामिल 12 लोगों को गिरफ्तार कर लिया था, जबकि मुख्य आरोपी शेख पुलिस को चकमा दे रहे थे। गिरोह ने हसन चिकना के नेतृत्व में बोकारो स्टील सिटी के प्रशासनिक भवन शाखा स्थित एसबीआई शाखा से 76 लॉकर तोड़ कर कीमती गहनों को चोरी कर लिए थे।

धनबाद में बनी थी चोरी की योजना

बता दें कि चोरी की योजना धनबाद के एक होटल में बनी थी, जहां हसन चिकना भी मौजूद था। पूर्व में भी लगभग 5 किलो चांदी, 1 किलो से अधिक सोने के निर्मित गहने बरामद किए जा चुके हैं। चिकना की पत्नी भी पुलिस के हत्थे चढ़ चुकी है। गहने की पहचान के लिए सिटी थाना परिसर में परेड भी कराए गए थे।

जमशेदपुर : मोबाइल चोरी करते तीन युवक धराये, पुलिस ने की कार्रवाई

पड़ोसी राज्यों में भी कई घटनाओं को दे चुका है अंजाम

सूत्रों की माने तो पड़ोसी राज्यों में भी कई घटनाओं को अंजाम दे चुका है। जिसे पुलिस को तलाश है। सम्भावना है बोकारो के अलावे अन्य पुलिस भी रिमांड पर ले सकती हैं। सूत्रों के मुताबिक बोकारो पुलिस की टीम भी छापेमारी में शामिल थी, लेकिन गिरफ्तारी की पुष्टि नहीं किया है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

चौपारण : सड़क दुर्घटना में दो की मौत छह लोग घायल

NewsCode Jharkhand | 22 May, 2018 9:41 PM

चौपारण : सड़क दुर्घटना में दो की मौत छह लोग घायल

चौपारण (हजारीबाग)। प्रखंड़ के सरदारपुर सूरज होटल के पास सड़क हादसे में दो लोगों की मौत वहीं छह लोग घायल हो गये। ग्रामीणों द्वारा दुर्घटना की सूचना थाना प्रभारी को दी गयी, घटना की जानकारी मिलते ही थाना प्रभारी सुदामा कुमार, एएसआई दयानंद सरस्वती दल बल के साथ घटना स्थल पर पहुंच कर ग्रामीणों के सहयोग के मृतक पती, पत्नी व घायल लोगों को सामुदायिक अस्पताल चौपारण लाया गया।

कटकमसांडी : सदर विधायक ने महाने नदी पुल का किया शिलान्यास

चिकित्सक ने नवादा बिहार कचहरी रोड निवाशी शुबर्त भदानी 45 वर्ष  व उनकी पत्नी स्नेहलता भदानी उम्र 40 वर्ष  को मृत घोषित किया। मौके पर मौजूद लोगों के अनुसार ऑटो चालक द्वारा सवारी उतारने के लिए ब्रेक मारा तभी पीछे से तेज गति से आ रहे ऑल्टो चालक ने वाहन की  रफ्तार पर नियंत्रण नही पा सका और ऑटो को टक्कर मारने के बाद  सड़क किनारे खड़े ट्रक को जोरदार टक्कर मार दिया, जिससे वाहन दो की मौत घटना स्थल पर ही हो गयी। वहीं कार पर सवार बच्चों को मामूली चोट लगी है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

X

अपना जिला चुने