बोकारो : तेलंगाना ले जा रहे 87 नाबालिगों को बोकारो रेलवे स्टेशन से किया गया रेस्क्यू

NewsCode Jharkhand | 12 July, 2018 3:08 PM
newscode-image

बोकारो। CID रांची की सूचना पर बोकारो एसपी ने बोकारो रेलवे स्टेशन से 87 नाबालिग बच्चों को रेस्क्यू किया है। इसे लेकर सीडब्ल्यूसी सभी बच्चों से और इन्हें ले जा रहे मौलवियों से पूछताछ कर रही है। पूछताछ के क्रम में इन लोगों ने जानकारी दी कि ये सभी बच्चे जामताड़ा जिले की नारायणपुर प्रखंड के रहने वाले हैं, जिन्हें तेलंगाना के खंभम  जिला में ले जाया जा रहा था।

पुलिस और सीडब्ल्यूसी यह जानकारी लेने में जुटी है कि आखिर इन बच्चों को इतनी तादाद में क्यों ले जाया जा रहा था। पुलिस ह्यूमन ट्रैफिकिंग के मुद्दे पर भी जांच करने में जुटी है। सीडब्ल्यूसी और बोकारो पुलिस जामताड़ा जिले से संपर्क कर उनके परिजनों से जानकारी लेने में जुटी है। फिलहाल बच्चों को बोकारो रेलवे स्टेशन से आश्रय गृह स्थानांतरित किया जा रहा है।

अभी कोई भी पदाधिकारी इस मुद्दों पर कुछ भी बता पाने से इनकार कर रहे हैं। सीआईडी राँची ने बोकारो एसपी को सूचना दी कि धनबाद से खुलने वाली एलेप्पी ट्रेन के द्वारा नाबालिग  बच्चों को कही ले जाया जा रहा है। इस सूचना पर एसपी ने बालीडीह और माराफारी थाना प्रभारी को इस पर तुरंत करवाई करने का निर्देश दिया।

जैसे ही ट्रेन बोकारो पहुँची पुलिस,जीआरपी,आरपीएफ और रेलवे स्टेशन के अधिकारियों ने सभी 87 बच्चों का रेस्क्यू किया। इस दौरान इन बच्चों को ले जा रहे 6 मौलवियों को भी हिरासत में लिया गया। रेस्क्यू के बाद ट्रेन को गंतव्य के लिए रवाना किया गया। जानकारी के मुताबिक सीडब्ल्यूसी और बोकारो पुलिस इन बच्चों के अभिभावकों व जामताड़ा जिला प्रशासन से संपर्क कर वास्तविकता जानने में जुटी है कि क्या इन बच्चों को तालीम के लिए तेलंगाना भेजा जा रहा या फिर ये ह्यूमन ट्रेफिकिंग का मामला है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

VIDEO: जब विमान में अटकी यात्रियों की जान, अचानक नाक-कान से बहने लगा खून

NewsCode | 20 September, 2018 1:40 PM
newscode-image

नई दिल्ली। मुंबई से जयपुर जाने वाली जेट एयरवेज (Jet Airways) की फ्लाइट में एक बड़ा हादसा होते होते रह गया। फ्लाइट में क्रू की एक अजीब गलती की वजह से करीब सौ से अधिक यात्रियों की जान पर बन आई। इस छोटी मगर गंभीर गलती के कारण करीब 30 यात्रियों के नाक और कान से खून बहने लगा, जिसकी वजह से मुंबई से जयपुर के लिए 166 यात्रियों के साथ उड़ान भरने वाली जेट एयरवेज की फ्लाइट को आज सुबह टेकऑफ के तुरंत बाद वापस मुंबई उतारना पड़ा।

दरअसल, जेट एयरवेज की फ्लाइट 9 डब्ल्यू 697 के क्रू मेंबर केबिन प्रेशर को बरकरार रखने का स्विच दबाना भूल गए जिसके कारण ये दुर्घटना हुई। फ्लाइट में करीब 166 यात्री सवार थे। क्रू मेंबर्स की इस गलती के कारण ही करीब 30 यात्रियों के नाक और कान से खून निकलने लगा था। इसके अलावा कई यात्रियों को सिर दर्द की भी शिकायत है। सभी का इलाज मुंबई के एयरपोर्ट पर चल रहा है। बाद में यात्रियों को दूसरी फ्लाइट से रवाना किया गया। बताया जा रहा है कि जिस दौरान ये फ्लाइट वापस हुई तब विमान करीब 14000 फीट की ऊंचाई पर था।

जेट एयरवेज की उसी फ्लाइट में इस डरावने पल को महसूस करने वाले सवार यात्री दर्शक हथी ने एक वीडियो ट्वीट किया है, जिसमें यह देखा जा सकता है कि कैसे सभी ऑक्सीजन मास्क पहने हुए हैं।

हादसे के बाद DGCA ने क्रू-मेंबर्स को रोस्टर से हटा दिया है। साथ ही दो पायलटों को भी हटा दिया गया है। जेट एयरवेज ने कहा है कि जब तक इस मामले की पूरी जांच नहीं हो जाती वे सभी ऑफ रोस्टर ही रहेंगे। नागरिक उड्डयन मंत्रालय की तरफ से भी इस मामले पर बयान जारी किया गया है। मंत्रालय ने इस मामले पर DGCA से रिपोर्ट मांगी है।एयरक्राफ्ट एक्सिडेंट इन्वेस्टिगेशन ब्यूरो (AAIB) ने तफ्तीश शुरू कर दी है।


लगातार 15 घंटे उड़ान के बाद तूफान में फंसा विमान, पायलट ने ऐसे बचाई 370 यात्रियों की जान

जेट एयरवेज़ में यात्रियों की जान जोखिम में डाल लड़ते रहे पॉयलट, राम भरोसे उड़ता रहा प्लेन

VIDEO: फ्लाइट से यात्रियों को भगाने के लिए एयर एशिया के पायलट ने कर दिया धुआं-धुआं

उड़ते हुए प्लेन में ताजी हवा खाना चीनी यात्री को पड़ा महंगा, बदले में खानी पड़ी हवालात की हवा

प्लेन में बच्चा रोया तो भारतीय जोड़े को ब्रिटिश एयरवेज ने फ्लाइट से उतारा

sun

320C

Clear

क्रिकेट

Jara Hatke

Read Also

गिरीडीह : गांधी जयंती से पहले ओडीएफ करने की तैयारी ,युद्ध स्तर पर कार्य जारी 

NewsCode Jharkhand | 20 September, 2018 2:11 PM
newscode-image

 गिरिहीह। महात्मा गांधी के स्वच्छता के संकल्पना को जल्द ही गिरिडीह में भी आकर मिल जाएगा। जिले भर में युद्ध स्तर पर काम चल रहा है। गांधी जयंती पर पूरा जिला खुले में शौच जैसे अभिशाप से मुक्त होने की राह पर निकल पड़ने वाला है।

गिरिडीह : केरल बाढ़ पीड़ितों के लिए स्‍कूल ने दी सहायता राशि

जिला भी खुले में शौच मुक्ति की ओर अग्रसर है। आगामी 02 अक्टूबर तक हर हाल में इस जिले को ओडीएफ करना है। इसको लेकर जिले भर की शेष  पंचायत जो अब तक ओडीएफ नहीं हुई हैं, उनमें दिन रात एक कर सभी पदाधिकारी, कर्मी, स्वयंसेवी एवं जनप्रतिनिधि सभी छूटे घरों में शौचालय का निर्माण करावाने में लगे हैं और निर्माण करने के लिए ग्रामीणों को भी प्रेरित कर रहें हैं।

गिरिडीह : हथियारबंद अपराधियों ने पेट्रोल पंप में दिया वारदात को अंजाम

फिलवक्त इसको लेकर जिले के वरीय अधिकारी भी गंभीर हैं। स्वच्छता ही सेवा है अभियान को सफल बनाने को लेकर सभी नोडल पदाधिकारी व संबंधित लोग पूरी तन्मयता से लगे हुए हैं। इस बाबत डीसी डॉ नेहा अरोड़ा ने कहा कि पूरा झारखंड राज्य ही 2 अक्टूबर को ओडीएफ होगा। ऐसे में किसी भी सूरत में गिरिडीह को भी गांधी जयंती से पहले खुले में शौच मुक्त क्षेत्र घोषित कर देना है।

वहीं ओडीएफ की तैयारी पर बात करते हुए उपायुक्त ने कहा कि ग्रास रुट लेवल के तमाम टास्क पूरे कर लिए गए हैं। सभी वेंडरों के साथ टाइम टू टाइम मीटिंग की गई है। उन्हें रॉ मेटेरियलस भी समय पर उपलब्ध कराए गए हैं। वहीं इसकी मोनिटरिंग का जिम्मा प्रखंड स्तर के पदाधिकारियो को दिया गया है।

गिरिडीह : मुहर्रम को लेकर मुकम्मल तैयारी, सीसीटीवी और ड्रोन से होगी निगहबानी

असल में गिरिडीह में शौचालय निर्माण में पूर्व में भी अच्छा काम हुआ है। उपायुक्त डॉ नेहा अरोड़ा ने कहा कि फाइनल स्टेज का टाइम फ्रेम तय किया गया है। ज्यादातर प्रखंडों में निर्माण कार्य आखरी चरण में है। तयसुदा वक्त में निश्चित ही सारे काम पूरे कर लिए जाएंगे।  कुलमिलाकर, ओडीएफ को लेकर गिरिडीह पूरी तरह कमर कस चुका है। देखना होगा प्रशासन की उम्मीद कितनी कसौटी पर खरी उतर पाती है।

अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

10 रन पर 8 विकेट, झारखण्ड के स्पिनर शाहबाज नदीम ने तोड़ा 21 साल पुराना विश्व रिकॉर्ड

NewsCode | 20 September, 2018 2:08 PM
newscode-image

नई दिल्ली। झारखण्ड के खब्बू स्पिनर शाहबाज नदीम ने नया कीर्तिमान रच दिया है। नदीम ने विजय हजारे ट्रॉफी में राजस्थान के खिलाफ खेलते हुए सिर्फ 10 रन पर 8 विकेट चटकाकर लिस्ट-ए क्रिकेट में सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी का दो दशक पुराना विश्व रिकॉर्ड तोड़ दिया है।आईपीएल की दिल्ली डेयरडेविल्स टीम का हिस्सा शाहबाज नदीम की स्पिन के जाल में फंसकर राजस्थान की टीम 28.3 ओवर में केवल 73 रनों पर ढेर हो गई। नदीम ने 10 ओवर में 4 मेडन फेंकते हुए 10 रन देकर 8 विकेट हासिल किए और टीम इंडिया में जगह बनाने की मजबूत दावेदारी पेश कर दी है।

बता दें कि लिस्ट-ए क्रिकेट में इससे पहले का विश्व रिकॉर्ड भी भारत के ही बाएं हाथ के स्पिनर राहुल सांघवी के नाम था, जिन्होंने 1997-98 में हिमाचल प्रदेश के खिलाफ दिल्ली की ओर से खेलते हुए 15 रन देकर 8 विकेट चटकाए थे। सांघवी भारत की ओर से एकमात्र टेस्ट 2001 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेले।

लिस्ट-ए क्रिकेट में सर्वश्रेष्ठ बॉलिंग प्रदर्शन

8/10 शाहबाज नदीम, 2018

8/15 राहुल सांघवी, 1997/98

8/19 चामिंडा वास, 2001/02

8/20 थारका कोटेहेवा 2007/08

8/21 माइकल होल्डिंग, 1988

गौरतलब है कि 29 साल के नदीम ने अब तक 99 प्रथम श्रेणी मैचों में 29.74 की औसत से 375 विकेट चटकाए हैं। उन्होंने 87 लिस्ट ए मैचों में 124 विकेट, जबकि 109 टी-20 मैचों में 89 विकेट हासिल किए हैं।

लिस्ट-ए क्रिकेट में वनडे इंटरनेशनल के अलावा विभिन्न घरेलू मुकाबले शामिल होते हैं। वैसे अंतर्राष्ट्रीय मैच भी लिस्ट-ए के अंतर्गत आते हैं, जिनमें खेल रही टीमों को वनडे इंटरनेशनल का दर्जा प्राप्त नहीं है। लिस्ट-ए के तहत 40 से 60 ओवरों तक की एक पारी होती है।


Asia Cup: भारत ने पाकिस्तान को 8 विकेट से दी पटखनी, रविवार को फिर होगी भिड़ंत

IND vs PAK : पाक के खिलाफ ‘महाबली’ माही के आंकड़े हैं बेजोड़

महेंद्र सिंह धोनी को लेकर सौरव गांगुली का बड़ा बयान, कहा- काश मेरी 2003 वर्ल्‍डकप टीम में होते

सिर्फ 3 ओवर में जड़ दिया था शतक, क्रिकेट के ‘डॉन’ को समर्पित आज का गूगल डूडल

More Story

more-story-image

साहेबगंज : अनिय‍मित बिजली आपूर्ति से लोगों का फूटा गुस्‍सा

more-story-image

झरिया : अखिल भारतीय किसान सभा व डीवाईएफआई की संयुक्त...