पटना: महाभोज से पहले NDA में फूट, रालोसपा और जदयू नेताओं ने छेड़ा अलग राग

NewsCode | 7 June, 2018 5:55 PM
newscode-image

नई दिल्ली। देश भर में हुए हालिया उपचुनावों के नतीजे आने के बाद बीजेपी और उसके सहयोगी दलों में सीटों के बंटवारे को लेकर घमासान शुरू हो चुका है। बिहार में इस खींचतान को रोकने के लिए गुरुवार को एनडीए के साथियों के लिए बीजेपी की तरफ से महाभोज रखा है। लेकिन खबर है कि केंद्रीय मंत्री और राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (RLSP)के अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा इस बैठक में शामिल नहीं होंगे। जाहिर है इससे बीजेपी की चिंता बढ़ सकती है।

सूत्रों की मानें तो उपेंद्र कुशवाहा का कहना है कि ये एनडीए की मीटिंग नहीं है। इसमें अधिकतर जिला स्तर के पदाधिकारी ही शामिल होंगे और राज्य की ही लीडरशिप शामिल होगी।

कुशवाहा का कहना है कि उनकी स्टेट लीडरशिप नहीं बल्कि केंद्रीय लीडरशिप से बातचीत है। वह बिहार के प्रेसिडेंट से बात नहीं करते हैं। कुशवाहा की मांग है कि बैठक एनडीए की बुलाई जानी चाहिए, जो कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह बुलाते हैं।

नीतीश होंगे शामिल लेकिन जदयू नेता ने कही ये बात

गौरतलब है कि हालिया राजनीतिक घटनाक्रम के बीच मोदी सरकार के चार साल पूरे होने के उपलक्ष्य में बीजेपी ने एनडीए के अपने सभी सगयोगी दलों को आज शाम पटना आमंत्रित किया है। इस बैठक और रात्रि भोज में बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार समेत करीब 1000 नेता शामिल होंगे।

हालाँकि बीजेपी और जेडीयू के बीच सब कुछ सही नहीं चलता लग रहा है। जेडीयू के नेता नीतीश कुमार को गठबंधन का बड़ा भाई बता रहे हैं जबकि बिहार में जेडीयू के पास केवल 2 सांसद हैं और बीजेपी के पास 22 सांसद। इसके बाद भी बिहार के नेता 2019 के लोकसभा चुनाव में जेडीयू के लिए 25 सीटों की मांग कर रहे हैं। ऐसे में बीजेपी के सामने आने वाले दिनों में और चुनौतियां पेश हो सकती हैं।

बिहारी बाबू ने दी नीतीश को नसीहत, कहा – मित्र! काम शुरू करो, नहीं तो तेजस्वी तैयार है

जेडीयू के नेशनल जनरल सेक्रेटरी श्‍याम रजक गुरुवार को कहा कि नीतीश कुमार महत्‍वपूर्ण भूमिका निभा रहे हैं। हमने 25 लोकसभा सीटों पर चुनाव लड़ा था और 2019 के लोकसभा चुनाव में इससे कम सीटों पर चुनाव लड़ने का कोई सवाल ही पैदा नहीं होता है। उन्‍होंने कहा कि अगर एनडीए नीतीश कुमार की छवि का फायदा उठाना चाहते हैं तो उसे जेडीयू के साथ न्‍याय करना होगा।

जेडीयू के राष्‍ट्रीय महासचिव ने कहा कि बिहार की ज्यूडिशियरी में आरक्षण है तो इसे हाईकोर्ट और सुप्रीम कोर्ट में लागू क्‍यों नहीं किया जाता। यह बीजेपी के इरादों पर संदेह उठाता है। यदि वह अम्बेडकर और दलितों के प्रति समर्पित हैं, तो उन्हें बिहार के दलितों के साथ न्याय करना चाहिए।उन्‍होने कहा कि बीजेपी को एनडीए एक मजबूत गठबंधन साबित करने के लिए हमें सम्मानजनक साझेदारी देनी चाहिए।

बिहार उपचुनाव नतीजे : नीतीश को झटका, राजद ने छीनी जोकीहाट विधानसभा सीट

उन्‍होंने कहा कि हम विचारधारा और नीतियों के आधार पर एनडीए के साथ हैं, लेकिन यह कहना झूठ नहीं होगा कि हमारे साथ अन्याय हुआ है। हमें जिस तरह से प्राथमिकता मिलनी चाहिए थी, वह नहीं मिली है।

बता दें कि बिहार में सबसे पहले जेडीयू ने 25, रामविलास पासवान ने 7 सीटों की मांग की थी। इसके अलावा कुशवाहा ने भी जल्दी और सम्मानजनक सीटों की बात की थी।

गौरतलब है कि बिहार में बीजेपी-जेडीयू के साथ सरकार बनने के बाद यह पहला मौका है जब एनडीए के नेताओं की बैठक हो रही है। इसका मुख्य मकसद आपसी एकजुटता दिखाना है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के अलावा केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान समेत बीजेपी के भूपेंद्र यादव, डिप्टी सीएम सुशील मोदी, बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष नित्यानंद राय, अरुण कुमार समेत सभी सांसद, विधायक, विधान पार्षद, प्रदेश पदाधिकारी और सभी घटक दलों के जिलाध्यक्ष महाभोज में शामिल हो सकते हैं।

राजग कुनबे में सबकुछ ठीक नहीं

आपको बता दें कि हाल ही में उपचुनावों में मिली हार के बाद बीजेपी जहां सहयोगी दलों को मनाने में जुटी है। वहीं एनडीए के सहयोगी दल बीजेपी के लिए मुश्किल खड़ी करते जा रहे हैं। बीजेपी अध्‍यक्ष अमित शाह बुधवार को शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे को मनाने के लिए मुंबई स्थिति उनके घर मातोश्री पहुंचे थे। इस मुलाकात के बाद दोनों पार्टियों के बीच दूरी कम होने की संभावना जताई जा रही थी लेकिन शिवसेना ने साफ कर दिया है कि वह आगामी सारे चुनाव अकेले ही लड़ेगी।

उद्धव ने दिया अमित शाह को झटका, कहा- 2019 में अकेले चुनाव लड़ेगी शिवसेना

कश्मीर: सेना के निशाने पर आतंकियों के कमांडर, 21 मोस्ट वांटेड आतंकियों की सूची जारी

NewsCode | 24 June, 2018 6:18 PM
newscode-image

नई दिल्ली। रमजान के महीने में एकतरफा संघर्षविराम के बाद जम्मू-कश्मीर में आतंकवादियों के सफाये के लिए सुरक्षाबलों ने कमर कस ली है। इसी कड़ी में सुरक्षाबलों ने घाटी में सक्रिय ख़तरनाक आतंकियों की एक नई लिस्ट जारी की है। इस लिस्ट में टॉप मोस्ट 21 आतंकवादी शामिल हैं और ये सेना समेत सभी सुरक्षाबलों के निशाने पर हैं। सुरक्षाबलों की नई लिस्ट में हिजबुल मुजाहिदीन के 11, लश्कर-ए-तैयबा के 7 और जैश-ए-मोहम्मद के 2 आतंकवादी शामिल हैं।

गौरतलब है कि इन दिनों कश्मीर घाटी में आतंकियों के ख़िलाफ़ सेना का ऑपरेशन ऑल आउट जारी है। अब तक कश्मीर में क़रीब 70 आतंकी मारे जा चुके हैं। वहीं एक जानकारी के मुताबिक घाटी में इन दिनों 300 आतंकवादी सक्रिय हैं और इन आतंकियों से निपटने के लिए सुरक्षाबल ने एक मास्टर प्लान तैयार किया है। जिसके तहत सेना ने एक हिट लिस्ट जारी की है और इस लिस्ट में आतंकियों के कमांडरों के नाम सबसे ऊपर हैं।

सूची में सबसे ज्यादा 11 आतंकी हिजबुल के

सूत्रों के मुताबिक, मोस्ट वांटेड आतंकियों की तैयार की गई सूची में सबसे ज्यादा 11 आतंकी हिजबुल मुजाहिदीन के हैं। इसमें अंसार-उल-गजवा-ए हिंद का कमांडर जाकिर मूसा भी शामिल है। सूची में जैश के दो और लश्कर के सात आतंकी हैं। अल-बदर का एक भी आतंकी मोस्ट वांटेड नहीं है।

आपको बता दें कि जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग जिले में 22 को भी सुरक्षाबलों और आतंकवादियों के बीच मुठभेड़ हुई थी। इस मुठभेड़ में सुक्षाबलों ने चार आतंकियों को मार गिराया था। मुठभेड़ में कथित तौर पर इस्लामिक स्टेट जम्मू एंड कश्मीर (आईएसजेके) से जुड़े चार आतंकी ढेर हो गए जबकि एक जवान शहीद हो गया। इसमें कई आम नागरिक घायल हो गए।

पुलिस महानिदेशक एस पी वैद ने ट्विटर पर लिखा , ‘खिरम श्रीगुफवारा क्षेत्र में मुठभेड़ जारी है, चार आतंकी ढेर हो चुके हैं और गोलीबारी अभी जारी है। दुर्भाग्य से हमने जम्मू-कश्मीर पुलिस के एक साथी को इसमें खो दिया’ एक अन्य ट्वीट में डीजीपी ने बताया कि मारे गए आतंकी कथित तौर पर आईएसजेके से जुड़े थे। उन्होंने लिखा , ‘आतंकी कथित तौर पर आईएसजेके से जुड़े थे।’

सेना प्रमुख रावत ने कश्मीर में राज्यपाल वोहरा से की मुलाकात, की सुरक्षा समीक्षा

सरकार का बड़ा कदम, अब आतंकियों को मारने के बाद परिजनों को नहीं सौंपे जाएंगे शव

sun

320C

Clear

क्रिकेट

Jara Hatke

Read Also

गिरीडीह : सुरीली आवाज से जिले के साथ गांव का नाम रौशन करना चाहती है नाजिया

NewsCode Jharkhand | 24 June, 2018 7:36 PM
newscode-image

उदित नारायण के साथ मंच साझा कर चुकी है

गिरीडीह। अपनी सुरीली आवाज से संगीत की दुनिया में धूम मचानेवाली नाजिया परवीन अपने गृह जिले गिरीडीह व गांव का नाम रौशन कर रही है। वह इस जिले के पिहरा गांव की रहनेवाली है। मशहूर बॉलीवुड गायक उदित नारायण के साथ वह मंच साझा कर चुकी है।

हाल ही में उनकी मेरी आवाज ही मेरी पहचान है एलबम रिलीज हुई है। एलबम में वह पर्दे पर गाती नजर आती है। आवाज में तो वाकई जादू है। ईद के मौके पर अपने घर पहुंची नाजिया ने बताया कि झारखंड की नक्सली घटना पर चिलखारी एक दर्द नामक सिनेमा बन रही है जिसमें उन्‍हें उदित नारायण के साथ गाने का मौका मिला।

गिरीडीह : युवती को लेकर युवक फरार, परिजनों ने थाने में लगाई गुहार

नाजिया इससे पहले तू लौट के आजा एलबम में एक गीत को आवाज दे चुकी है। नाजिया के पिता मोहम्‍मद मोइनुद्दीन पेशे से एक किसान हैं व मां जैनब खातून आंगनबाड़ी सेविका है।

 गिरीडीह : सुरीली आवाज से जिले के साथ गांव का नाम रौशन करना चाहती है नाजिया

मैट्रिक तक की पढ़ाई कस्तूरबा गांधी बालिका आवासीय विद्यालय गावां से पूरी करने के बाद नाजिया रांची में रहकर एमए करने के साथ-साथ संगीत भी सीख रही है। कस्‍तूरबा विद्यालय में पढ़ने के दौरान नाजिया स्‍कूल में आयोजित गीत-संगीत व नृत्‍य प्रतियोगिता में भाग लेती थी और दर्शकों का वाहवाही बटोरती थी।

नाजिया का सपना अपनी आवाज के जरिये पिछडे जिले में शुमार गिरीडीह तथा अपने गांव पिहरा गावां को पहचान दिलाना है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

रांची : नाबालिग लड़की से दुष्कर्म, आरोपी गिरफ्तार

NewsCode Jharkhand | 24 June, 2018 7:21 PM
newscode-image

रांची। 23 जून को 14 वर्षीय नाबालिग लड़की डोंगर बसली से ट्रेन पकड़कर रांची अपने रिश्तेदार के घर जा रही थी, रांची रेलवे स्टेशन से पथलकुदवा के लिए चली परंतु रास्ता भटक कर चर्च रोड में पहुंच गई और पथलकुदवा जाने का रास्ता पूछने लगी। इसी बीच एक लड़का उसे बहला-फुसलाकर रात को 10 बजे अपने कमरे में ले गया। वहां पर लड़के ने लड़की को डरा धमका कर दुष्कर्म किया और अगली सुबह उसे उसके घर के लिए टेंपो पकड़ा दिया।

रांची : मशहूर अभिनेत्री पूजा भट्ट पिता महेश भट्ट संग पहुंची, लोगों का उमड़ा हुजूम

लड़की ने समझदारी दिखाते हुए आरोपी लड़की के मोबाइल से अपने रिश्तेदार को फोन की जिसके बाद उसके रिश्तेदार बहू बाजार आकर पीड़िता को ले गए और पूरी घटना की जानकारी पुलिस को दी। पुलिस ने तत्परता दिखाते हुए छानबीन शुरू की और 12 घंटे के अंदर आरोपी को चर्च रोड से गिरफ्तार कर लिया। वही आरोपी के पास लड़की के रिश्तेदार को फोन किया गया मोबाइल और कुछ कपड़े बरामद किया गया।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

More Story

more-story-image

रांची : मशहूर अभिनेत्री पूजा भट्ट पिता महेश भट्ट संग...

more-story-image

कोडरमा : कला की धरा पर कलाकृतियों की बारीकियां बच्चों...