बिहार : नीतीश से मिलने पहुंचे अमित शाह, सीटों के बंटवारे पर होगी बात

NewsCode | 12 July, 2018 11:24 AM
newscode-image

नई दिल्ली। 2019 के लोकसभा चुनाव के मद्देनज़र भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष अमित शाह पूरे देश का दौरा कर रहे हैं और राजग कुनबे के सभी घटक दलों से मिल रहे हैं। इसी क्रम में अमित शाह आज बिहार दौरे पर हैं। अमित शाह बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से मिलने पहुंचे हैं, दोनों नेता नाश्ते पर गठबंधन को लेकर चर्चा करेंगे। नीतीश कुमार और अमित शाह के साथ बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी भी मौजूद हैं।

नाश्ते और रात्रिभोज पर होनी वाली इसी मुलाकात से स्पष्ट होगा कि 2019 में बीजेपी-जेडीयू कितनी सीटों पर चुनाव लड़ेगी। बता दें कि भारतीय जनता पार्टी संपर्क फॉर समर्थन अभियान चला रही है, इसी के तहत शाह पूरे देश का दौरा कर रहे हैं। नीतीश संग बैठक के बाद शाह अपनी पार्टी के सोशल मीडिया वर्कर्स को भी संबोधित करेंगे। देर रात नीतीश कुमार और अमित शाह एक बार फिर डिनर पर बात करेंगे।

नाश्ते में ‘बिहार स्पेशल’ खाना

जिस दौरान अमित शाह और नीतीश कुमार राजनीति की बातें कर रहे होंगे तो उनके लिए बिहार का स्पेशल खाना परोसा जाएगा। नाश्ते में पोहा, उपमा, सत्तू के पराठे, चना तोरई की सब्जी तैयार की गई है। इसके अलावा भी आलू की सब्जी, मट्ठा, फल का भी बंदोबस्त किया गया है।

बड़ा भाई कौन – बीजेपी या जेडीयू?

लोकसभा चुनाव में अब करीब 8 महीने बचे हैं लेकिन एनडीए के सभी घटक दलों ने बीजेपी पर सीटों के बंटवारे को लेकर दबाव बनाना शुरू कर दिया है। बीजेपी के रणनीतिकार चाहते हैं कि सीटों का बंटवारा 2014 लोकसभा चुनाव के अनुसार हो, जिसमें बीजेपी के हिस्से बिहार से 22 सीटों पर जीत मिली थी।

रामविलास पासवान की लोजपा और उपेंद्र कुशवाहा की रालोसपा के साथ मिलकर गठबंधन में बीजेपी ने 30 सीटें लड़ी थी। बीजेपी करीब 22 सीटों पर चुनाव लड़ना चाहती है और बड़े भाई की भूमिका चाहती है। लेकिन दूसरी तरफ जेडीयू 2015 विधानसभा चुनावों का हवाला देकर बड़े भाई का रोल निभाना चाहती है।

लोकसभा की कुल 40 सीटें

बिहार में लोकसभा की कुल 40 सीटें हैं। पिछले लोकसभा चुनाव में इन 40 सीटों में से एनडीए को कुल 31 सीटों पर जीत हासिल हुई थी। एनडीए की 31 सीटों में बीजेपी ने 22, लोजपा ने 6 और रालोसपा ने 3 सीटों पर कब्जा जमाया। तब जेडीयू अकेले चुनावी समर में उतरी थी तो चालीस सीटों में से दो सीटों पर ही जीत मिली थीं, लेकिन जेडीयू का मानना है कि बुरे हालात में भी 16-17 फीसदी वोट हासिल हुए।

क्या 17-17 पर बनेगी बात?

सूत्रों की मानें तो जेडीयू चाहती है कि दोनो पार्टियां 17-17 लोकसभा सीटों पर चुनाव लड़े हैं। बाक़ी की सीटें एलजेपी और आरएलएसपी को दे दी जाएं। जेडीयू इसके अलावा यूपी और झारखंड में 4 सीटें चाहती है। सियासी गलियारों में जेडीयू के आरजेडी और कांग्रेस नेताओं के साथ अंदरखाने बातचीत की खबरें भी सुर्खियों में है। सियासत के जानकार इसे जेडीयू की दवाब की राजनीति का हिस्सा मान रहे हैं।

2014 से 2018 तक देश की सियासत में काफी बदलाव आ चुके हैं। विपक्षी दलों को बीजेपी के विधानसभा चुनावों में बढ़ते प्रभाव से अपने वजूद बचाने की चिंता सताने लगी है, तो एनडीए के सहयोगी दलों के साथ पिछले 4 सालों में बीजेपी के साथ खट्टे-मीठे अनुभवों के मद्देनजर अब अपने फैसलों पर पुनर्विचार करने में लगे हुए हैं। लोकसभा चुनावों से पहले एनडीए में शामिल बीजेपी के कई सहयोगी एक-एक कर साथ छोड़ने लगे हैं।

‘वोट’ नहीं ‘वोटरों’ की चिंता : नीतीश कुमार

टीडीपी, जीतन राम मांझी की हम और पीडीपी एनडीए से बाहर निकल चुकी हैं। वहीं, शिवसेना ने 2019 में अलग चुनाव लड़ने का ऐलान कर एनडीए की मुश्किलें बढ़ा दी हैं। अकाली दल ने भी राज्य सभा के उप सभापति पद पर दावेदारी ठोक कर बीजेपी की मुश्किलों को बढ़ाने का काम किया है।

बता दें कि 2019 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी और जेडीयू के बीच सीटों के तालमेल और राज्य में कौन बड़ा भाई है, इन लेकर पिछले एक महीने से जमकर बयानबाजी हो रही है। हालांकि जेडीयू की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में नीतीश कुमार ने साफ कहा कि लोकसभा चुनाव बीजेपी के साथ मिलकर चुनाव लड़ेंगे। इसके लिए उन्होंने सीटों का फॉर्मूला भी दिया है।

जदयू की राष्ट्रीय कार्यकारिणी बैठक में बोले नीतीश – हमारी अनदेखी करने वाले खुद इग्नोर हो जाएंगे

उद्धव ने दिया अमित शाह को झटका, कहा- 2019 में अकेले चुनाव लड़ेगी शिवसेना

क्या अविश्वास प्रस्ताव से आएगा सियासी भूकंप, टि्वटर पर ट्रेंड हुआ #BhookampAaneWalaHai

NewsCode | 20 July, 2018 11:55 AM
newscode-image

नई दिल्ली। संसद में आज पीएम नरेंद्र मोदी की सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा होनी है। इससे पहले बीजेपी सांसद गिरिराज सिंह ने राहुल गांधी पर चुटकी लेते हुए एक ट्वीट कर दिया है।

गिरिराज ने ट्वीट में लिखा है- भूकंप के मज़े लेने के लिए तैयार हो जाइए। सोशल मीडिया साइट टि्वटर पर #BhookampAaneWalaHai टॉपिक ट्रेंड कर रहा है।

दरअसल, अविश्वास प्रस्ताव को लेकर ट्रेंड करने वाला यह टॉपिक कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के 2016 में दिए गए एक बयान पर भारतीय जनता पार्टी के नेताओं के तंज का नतीजा है। गिरिराज के इस ट्वीट को राहुल गांधी के उस बयान से जोड़कर देखा जा रहा है जिसमें राहुल ने कहा था कि अगर उन्हें संसद में 15 मिनट बोलने दिया जाए तो भूकंप आ जाएगा।

राहुल के इसी बयान को भाजपा के कई नेताओं ने आज के अविश्वास प्रस्ताव पर होने वाली बहस से जोड़ते हुए ‘भूकंप आने वाला है’ से संबंधित ट्वीट किए हैं। भाजपा नेता राम माधव और केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने जहां गुरुवार को भूकंप से संबधित ट्वीट किया था।

वहीं, भाजपा आईटी सेल के प्रमुख अमित मालवीय और पार्टी के सांसद परवेश साहिब सिंह ने आज राहुल गांधी के वक्तव्य का वीडियो शेयर करते हुए #BhookampAaneWalaHai टॉपिक से ट्वीट किया है।

अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान सभी पार्टियों के लिए वक्त मुकर्रर कर दिया गया है। यह वक्त तय किया गया है संख्या बल के हिसाब से। ऐसे में 44 सीटों वाली कांग्रेस के खाते में आए हैं 38 मिनट।

ये भी पढ़ें:

संसद LIVE: लोकसभा में अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा शुरू, बीजेडी का वॉकआउट

sun

320C

Clear

क?रिकेट

Jara Hatke

Read Also

बोकारो : ट्रेन से गिरकर आर्मी जवान की हुई मौत

NewsCode Jharkhand | 20 July, 2018 2:30 PM
newscode-image

बोकारो। पूर्वोंतर सीमांत रेलवे के बारसोई कुमेदपुर रेलखंड पर केएम 161/5 के समीप रेलवे ट्रैक पर एक अज्ञात शव को आजमनगर पुलिस ने बरामद किया। शव मिलने की खबर सोशल मीडिया के साथ आर्मी को दी गयी। तब  जाकर पता चला कि मृतक मनोरंजन कुमार सिंह चास बोकारो का रहने वाला है। छुट्टी लेकर अपने घर आ रहा था।

बोकारो : दहशत फैलाने के उद्देश्य से छाई ले जा रहे हाइवा पर अपराधियों ने की फायरिंग

 

घटना की सूचना पर परिजन के साथ आर्मी ऑफिसर मौके पर पहुंचे और गुरुवार को शव का पोस्टमार्टम कराकर आज चास स्थित पैतृक आवास लाया गया।

बोकारो : सीएसआर मद से हो रहा कार्य को जल्द किया जाये जांच- उपायुक्त

 

शव पहुंचने के बाद परिवार में मातम का माहौल है वही आस पड़ोस के लोग भी काफी गमगीन नजर आये।शवयात्रा में बड़ी संख्या में लोग शामिल हुए। जंहा पर आर्मी के जवानो ने मृतक जवान को अंतिम विदाई सलामी के साथ दिये।

बोकारो : ट्रेन से गिरकर आर्मी जवान की हुई मौत

बताया जा रहा है कि मनोरंजन कुमार सिंह सिलीगु़ड़ी सेवक रोड स्थित आर्मी कैंप में ड्राइवर ट्रेड में जवान के पद पर तैनात है जो छुट्टी में अपने घर बोकारो जिला के उपनगर चास को जा रहे थे। जवान का उंतरबंगो एक्सप्रेस एसी वन में 55 नंबर सीट आरक्षित था आखिर ऐसा क्या हुआ कि जवान बोगी से बाहर आ गिरा या फिर किसी ने उनको धक्का दिया, परिजन रेलवे पर सवाल उठा रहे है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

देवघर : लक्ष्मीपुर चौक को करवाया गया अतिक्रमण मुक्त

NewsCode Jharkhand | 20 July, 2018 2:28 PM
newscode-image

देवघर। श्रावणी मेले की तैयारी को लेकर शिव  गंगा सहित लक्ष्मीपुर चौक पर एसडीएम रामनिवास यादव के नेतृत्व में अतिक्रमण किये गए दुकानों को हटवाया गया।  मौके पर एसडीएम रामनिवास यादव ने कहा कि श्रावणी मेला के दौरान लाखों की संख्यां में श्रद्धालु बाबा धाम पहुंचते हैं और वे शिवगंगा में स्नान के बाद ही बाबा का पूजा अर्चना करते हैं।

सड़क से सटे दुकानों के कारण लोगों के आवागमन में काफी परेशानी होती है। इसे देखते हुए आस पास के एरिया को अतिक्रमण मुक्त करवाया जा रहा है । अतिक्रमण हटाने के  दौरान स्थानीय दुकानदारों की एसडीएम से बहस भी हुयी । इस दौरान एसडीपीओ विकास चंद्र श्रीवास्तव ,प्रखंड विकास पदाधिकारी रजनीश कुमार ,सीओ जयवर्धन कुमार के अलावे नगर थाना प्रभारी बिनोद कुमार सिंह दलबल के साथ मौजूद थे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

More Story

more-story-image

देवघर : देवघर की अनुष्का मिस इंडिया झारखंड की बनी...

more-story-image

झरिया : गर्म ओबी से झुलसे बच्चे की स्थिति गंभीर,...