बेंगाबाद : हृदयघात से विद्यालय सचिव की मौत, मानसिक प्रताड़ना का लगाया आरोप

NewsCode Jharkhand | 9 July, 2018 6:41 PM
newscode-image

बेंगाबाद(गिरिडीह)। बेंगाबाद थाना क्षेत्र के नाईटांड़ में संचालित लाल बिहारी महतो डिवाइन पब्लिक स्कूल के सचिव, 65 वर्षीय मुरलीधर महतो  की हार्ट अटैक से मौत हो गयी। मृतक के परिजन एवं स्कूल प्रबंधन ने अपने फर्द बयान में ताराटांड़ निवासी निरंजन शर्मा एवं उसके परिवार वालों को, इस मौत का जिम्मेदार ठहराया है।

मृतक के पुत्र विकास कुमार यादव एवं स्कूल प्रबंधक के पिता कृपाल महतो के अनुसार, निरंजन शर्मा एवं उसके सहयोगियों ने मुरलीधर महतो  के साथ गाली-गलौज और अभद्र व्यवहार किया था, जिसके कारण हृदयगति रुकने से उनकी मौत हो गई। पुलिस, मृतक के परिजनों का फर्द ब्यान कलमबद्ध कर आगे की कार्रवाई में लगी है। मुरलीधर महतो बेंगाबाद थाना के बंदियाबाद के रहने वाले थे और पोस्टमास्टर की नौकरी से रिटायरमेंट के बाद डिवाइन पब्लिक स्कूल में सचिव के रूप में पदस्थापित थे।

बेंगाबाद : हृदयघात से विद्यालय सचिव की मौत, मानसिक प्रताड़ना का लगाया आरोप

आपको याद दिला दें कि 2 जुलाई को गिरिडीह जिले के लाल बिहारी महतो डिवाइन पब्लिक स्कूल के एक छात्र नीलेश कुमार शर्मा की मौत, स्कूल के समीप एक अर्धनिर्मित कुएं में डूबने से हो गयी थी। घटना के बाद मृत छात्र के पिता निरंजन शर्मा ने स्कूल प्रबंधन पर लापरवाही बरतने और बच्चे की हत्या कर देने की आशंका जताते हुए थाने में मामला दर्ज कराया था। घटना के बाद प्रशासनिक आदेश से विद्यालय को बंद कर दिया गया था।

बेंगाबाद : प्रेमी जोड़े का शव कुएं से बरामद, इलाके में फैली सनसनी

सोमवार को पुनः प्रशासनिक आदेश के बाद विद्यालय खोला गया। बताया जाता है कि विद्यालय खुलने के बाद निरंजन शर्मा और उनके परिवार के अन्य सदस्य, अपने सहयोगियों के साथ स्कूल पहुँचे और वहाँ हंगामा खड़ा कर दिया। इस दौरान सचिव मुरलीधर महतो के साथ उनलोगों ने गाली-गलौज करते हुए दुर्व्यवहार किया, जिससे घबराकर उन्हें हार्ट अटैक आ गया। स्कूल के शिक्षकों ने आनन-फानन में उन्हें गिरिडीह स्थित एक निजी अस्पताल पहुंचाया, जहाँ चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

जमशेदपुर : पापा-मम्मी मुझे माफ कर देना मैं निर्दोष हूं, मुझे जबरन फंसाया गया है

NewsCode Jharkhand | 20 September, 2018 1:23 PM
newscode-image

जमशेदपुर। घाघीडीह स्थित बाल सुधार गृह में दुष्कर्म मामले की सजा काट रहे बाल कैदी 17 वर्षीय गौरव कुमार वर्मा ने फांसी लगा कर आत्महत्या कर ली है। आपको बता दें कि कुछ दिनों पूर्व उलीडीह थाना की पुलिस ने मृतक को एक दुष्कर्म के मामले में जेल भेजा गया था, इधर अपने उपर लगे आरोपो से आहत होकर गुरुवार सुबह ही बाल सुधार गृह के अपने सेल में फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली।

जमशेदपुर : गौरी सबर की स्मृति में समाधान संस्था ने किया पौधरोपण

इधर पुलिस को मृतक के पास से एक सुसाइड नोट भी मिला है जिसमें उसने लिखा है की मां पाप मुझे माफ कर दो, पुलिस मुझे जबरन फंसा रही है। पुलिस इस सुसाईट नोट को नहीं दे रही है। उसने अपने ऊपर लगे आरोपों को गलत करार दिया है, बता दें कि  मृतक का भाई भी वर्ष 2015 में उलीडीह थाना क्षेत्र से ही डांस क्लास चलाने वाले सुनील गोराई की युवक की हत्या हुई और इसी मामले में भाई कुश वर्मा को भी भी जेल गया था।

जमशेदपुर : हत्या के आरोपी हथियार समेत गिरफ्तार

 वहीं परिजनों का रो-रो कर बुरा हाल है, परिजन आरोप लगा रहे है कि दुष्कर्म पीड़ित के परिजनों द्वारा सुल्हा के नाम पर एक लाख रुपये की डिमांड की जा रही थी। इस घटना में दो युवक को जेल भेज गया था। जिसके बाद एक युवक को जमानत मिल गई और गौरव को नहीं मिल पाई, इसी में गौरव काफी दिन से डिप्रैशन में था।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप में फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

sun

320C

Clear

क्रिकेट

Jara Hatke

Read Also

रांची : एनसीसी ने नशा मुक्त एवं यातायात नियमों के प्रति निकाली जागरूकता रैली

Chandan Verma | 20 September, 2018 2:45 PM
newscode-image

रांची। झारखण्ड बटालियन एन.सी.सी. द्वारा रांची ग्रूप के एन.सी.सी. कड़ेट्स को प्रशिक्षण  प्रदान करने के लिए दस दिवसीय संयुक्त वार्षिक प्रशिक्षण शिविर का आयोजन के रांची के बिरसा मुंडा फुटबॉल स्टेडियम मोरहाबादी में किया गया है।

इस शिविर में एन.सी.सी कड़ेट्स ने समाज के नशा के दुष्प्रभाव व ड्रग्स एडिक्शन से छुटकारा पाने के लिए शिविर से कहचरी चौक तक एक जागरूकता रैली में हिस्सा लिया और स्वयं आरा-करम से आये हुए रमेश बेदिया एवं नगरकोटी विभाग से आए पदाधिकारी संजय मिश्रा ने इस पर प्रकाश डाला।

रांची : मांदर की थाप पर झूमे सुबोधकांत, धूमधाम से मना करमा पर्व  

इसी शिविर में कैडेट्स को  यातायात नियमों के अनुपालन के प्रति समाज में जागरूकता रैली सिद्धू कान्हू से मुख्यमंत्री आवास से होते हुए सूचना भवन से गुजरते हुए एन.सी.सी. शिविर मोरहाबादी तक निकाली गई तथा नगर के नागरिकों को जागरूक किया गया।

शिविर में एन. सी.सी. कैडेट्स को 9 बटालियन एन. डी.आर.एफ. की टीम ने आपदा प्रबंधन के विभिन्न तरीकों जैसे की सी.पी.आर., रक्त की बहाओ को रोकना, स्थानिय वस्तु से स्ट्रेचर/लाइफ जैकेट बनाने की शिक्षा दी ताकि जरूरत पड़ने पर एन. सी.सी. कैडेट्स आपदा प्रबंधन में प्रशासन की मदद कर सके।

इसके अलावा कड़ेट्स को शूटिंग रेंज में फ़ाईरिंग में निपुणता हासिल करने के लिए ट्रेनिंग दी गयी। शिविर में मिलिटेरी ट्रेनिंग कैम्प कामंडैंट कर्नल अभिजात कश्यप, सूबेदार  मेजर- Lt.लखबीर सिंह,सूबेदार अर्जुडेन्ट राधे भगत , बी.अच्.ऍम. हरजीत सिंह और अन्य सैन्य अधिकारी द्वारा प्रदान किया जा रहा है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.) 

रांची : मांदर की थाप पर झूमे सुबोधकांत, धूमधाम से मना करमा पर्व  

NewsCode Jharkhand | 20 September, 2018 2:38 PM
newscode-image

रांची। आरयू के जनजातीय क्षेत्रीय भाषा विभाग में प्रकृति पूजा का पर्व करमा धूमधाम से मनाया गया। प्रो.वीसी कामिनी कुमार, राज्यसभा सांसद समीर उरांव, पूर्व  केंद्रीय मंत्री सुबोधकांत सहाय आदि शामिल होकर मांदर की थाप पर खूब झूमे। झारखंड की जनता को करमा पर्व की बधाई दी।

करमा उत्‍सव के मौके पर छात्राओं ने पारंपारिक नृत्य प्रस्तुत की। पांच साल का बच्चा आदिवासी परिधान में मांदर बजाया। करमा पर्व पर आदिवासियों ने किसानों की अच्छी फसल और परिवार की खुशहाली की कामना की।  बहनें अपने भाइयों की सलामती के लिए प्रार्थना की।

झारखंड के आदिवासी ढोल और मांदर की थाप पर झूमते-गाते रहे। परम्परा के मुताबिक खेतों में बोई गई फसलें बर्बाद न हो इसलिए प्रकृति की पूजा की जाती है।

इस मौके पर एक बर्तन में बालू भरकर उसे बहुत ही कलात्मक तरीके से सजाया जाता है। पर्व शुरू होने के कुछ दिनों पहले ही उसमें जौ डाल दिए जाते है। करम पर्व के दिन यही जावा आदिवासी महिला अपने बालों में गूंथकर झूमती-नाचती है।

मौके पर मौजूद राजयसभा उपसभापति हरिवंश ने कहा कि करमा पर्व प्रकृति की सरंक्षण का पर्व है। जो समाज में उत्साह का माहौल बनाता है ।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

More Story

more-story-image

बोकारो : प्रभारी मंत्री करती रही बैठक, अधिकारी व्यस्त दिखे...

more-story-image

चक्रधरपुर : 292 बच्चों का भविष्य अंधकारमय, उग्र आंदोलन की...