वैलेंटाइन डे पर बजरंग दल ने निकाली ‘इशारा रैली’, कहा- लड़का-लड़की साथ दिखे तो करा देंगे शादी

NewsCode | 14 February, 2018 12:46 PM
newscode-image

नई दिल्ली। वैलेंटाइन डे पर बजरंग दल एक बार फिर सक्रिय हो गया है। नागपुर में बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने वैलेंटाइन डे मनाने वालों को धमकी दी है। वेलेंटाइन डे के विरोध में बजरंग दल ने नागपुर में विरोध रैली निकाली।

बजरंग दल ने कहा, ‘अगर उन्हें वैलेंटाइन डे मनाने का हक है तो हमें अपनी संस्कृति बचाने का भी हक है।’ उन्होंने धमकी दी की अगर सड़क पर हमें कोई जोड़ा मिला तो हम उनकी शादी करा देंगे। इसके लिए हमने पंडित भी तैयार कर रखे हैं।

वैलेंटाइन डे के विरोध में निकाली गई इस रैली का नाम ‘इशारा रैली’ रखा गया है। बजरंग दल ने मंगलवार को भी वैलेंटाइन डे के विरोध में बाइक रैली निकाली थी, जिसमें सभी को वैलेंटाइन डे नहीं मनाने के लिए सचेत किया गया था। बजरंग दल कार्यकर्ताओं का कहना है कि वैलेंटाइन डे पश्चिमी संस्‍कृति की देन है।

केरेडारी : बजरंग दल, विहिप की बैठक में सदस्यता अभियान पर चर्चा

अहमदाबाद में बजरंग दल ने वेलेंटाइन डे को धर्म और जिहाद से जोड़ दिया

अहमदाबाद में बजरंग दल ने वेलेंटाइन डे को धर्म और जिहाद से जोड़ दिया है। सड़कों पर पोस्टर लगा रखे हैं और वॉर्निंग जारी कर दी है। कार्यकर्ता वेलेंटाइन डे के विरोध में प्रदर्शन कर रहे हैं। बजरंग दल ने साफ चेतावनी दी है कि वेलेंटाइन डे मनाना आपको महंगा पड़ सकता है।

यहां पर जगह-जगह पोस्टर लगे हैं जिसमें लिखा है- ‘हिंदू लड़कियां सावधान, Say no to valentines day’ पोस्टर में नीचे बजरंग दलः कर्णावती लिखा है।

हैदराबाद में होटल मालिकों को वैलेंटाइन डे पर किसी भी तरह के विशेष आयोजन की मनाही

बजरंग दल के सदस्य मंगलवार को हैदराबाद के अलग-अलग पबों में पहुंचे और वहां उन्होंने पब मालिकों को ज्ञापन देते हुए ये चेतावनी दी कि वैलेंटाइन डे पर किसी भी तरह का कोई विशेष आयोजन नहीं करें।

लखनऊ में यूनिवर्सिटी ने निकाला नोटिफिकेशन

वैलेंटाइन डे के लिए जहां एक तरफ युवाओं में उत्साह है वहीं उत्तर प्रदेश की लखनऊ यूनिवर्सिटी ने एक ऐसा नोटिफिकेशन निकाला है जिसपर विवाद हो गया है। लखनऊ यूनिवर्सिटी ने वैलेंटाइन डे पर अपने छात्रों को यूनिवर्सिटी में आने से मना किया है।

जमशेदपुर में बजरंग दल का प्रदर्शन

बजरंग दल ने जमशेदपुर के जुबली पार्क में भी वेलेंटाइन डे के विरोध में प्रदर्शन किया। कार्यकर्ताओं ने पार्क में कपल्स को दौड़ा-दौड़ाकर पीटा।

चाईबासा : बेरोजगारी से पलायन करने वालों के दर्द को खत्म करने का बीड़ा राज्य सरकार ने उठाया

NewsCode Jharkhand | 17 July, 2018 9:44 AM
newscode-image

चाईबासा (पश्चिमी सिंहभूम) । झारखंड का सबसे बडा दर्द पलायन रहा है। बिचौलिए और दलाल झारखंड के बेरोजगारों का जमकर शोषण करते रहे हैं। लेकिन राज्य सरकार ने पलायन के दर्द को खत्म करने का बीडा उठाया है,और इसके लिए सरकार ने राज्य के एक लाख बेरोजगारों को नौकरी देने के अभियान की शुरूआत कोल्हान की धरती चाईबासा से शुरू की है। प्रथम चरण में एक हजार युवक-युवतियों को नियुक्ति पत्र सौंपा गया है, जिससे राज्य के युवक-युवतियां बेहद खुश हैं।

एक लाख युवक-युवतियों को हुनरमंद बना कर निजी कंपनियो में नौकरी देने की पहल शुरू

बेरोजगारी की बढ़ती समस्या से सरकार ही नहीं युवक-युवतियां और उनके अभिभावक भी परेशान थे। गरीब और कमजोर वर्ग के बेरोजगारों के सामने शोषण होने के आलावा कोई चारा भी नहीं है। लेकिन राज्य सरकार ने इस सबसे बडी चुनौती को स्वीकार कर इस साल एक लाख युवक-युवतियों को हुनरमंद बनाकर निजी कंपनियों में नौकरी देने की पहल शुरू की है। जिसका राज्य के युवाओं ने दिल खोल कर स्वागत किया है। निजी कंपनियों में ही अच्छी सैलरी और सुविधा मिलने से युवाओं में काफी उत्साह है।

युवाओं में उत्साह

पतरातू की तबस्सूम नाज को रामगढ में ही माइक्रो कंपनी में जॉब मिला है, जिससे वह  काफी खुश दिखी और अपने माता-पिता के साथ सीएम रघुवर दास के प्रति आभार जताया। इसी तरह खूंटी की ओलिना सांगा को रांची के ही एक कंपनी में 16 हजार के सौलरी पर सिक्यूरिटी गार्ड की नौकरी मिली, वहीं रांची के एक युवा चंदन मिश्रा को रांची में हीं रिलायंस रिटेल में एक लाख 80 हजार का पैकेज मिला। रांची के ही हसन इकबाल ने बताया कि उसने जॉब के लिए काफी प्रयास किया लेकिन सफलता नहीं मिली थी। लेकिन जैसे ही उसने ऑटोमोबाइल में ट्रेनिंग ली, उसे महिन्द्रा में अस्टिेंट सर्विस प्रोवाइडर में 13 हजार की मासिक सैलरी मिल गई। इन सभी युवाओं को शिक्षा मंत्री ने अपने हाथों से नियुक्ति पत्र सौंपा है, जिसे पाकर ये सभी युवा काफी गदगद है और सरकार के पहल की भूरि-भूरि प्रशंसा कर रहे हैं।

अब रुकेगी पलायन

राज्य सरकार ने अगले साल 12 जनवरी 2019 तक राज्य के एक लाख युवाओं को नौकरी देने का लक्ष्य रखा है। इसके लिए झारखंड स्किल डेवलपमेंट मिशन सोसाईटी को 40 हजार का लक्ष्य मिला है। शेष अन्य निजी कंपनियों को लक्ष्य दिया गया है। सरकार इसके लिए एक रोड मैप तैयार किया है। जिसके तहत झारखंड स्किल डेवलपमेंट मिशन सोसाईटी अपने ट्रेनिंग सर्विस सेंटरों में अनट्रेंड युवाओं को कौशल प्रशिक्षण देकर उन्हें तैयार कर रही है। उसके बाद उन्हें विभिन्न निजी कंपनियों में प्लेसमेंट कर देंगी. इस योजना के तहत चाईबासा में एक हजार युवाओं को नौकरी दी गई। सरकार के अब अधिक से अधिक बेरोजगारों को नौकरी देने के लिए राज्य के सभी इंडस्ट्री को अपने साथ जोड़ रही है और इन कंपनियों में सीधे नौकरी दी जाएगी। इससे राज्य के बेरोजगारों को राज्य से बाहर जाने की जरूरत नहीं होगी।

बहरहाल राज्य में बेरोजगारों की बढ़ती फौज को रोकने के लिए मुख्यमंत्री रघुवर दास के इस प्रयास को युवाओं ने दिल खोल कर स्वागत किया है। बेरोजगार नौकरी चाहते हैं, चाहे निजी हो या सरकारी। युवा मानता है कि नौकरी मिलने से उनकी सिर्फ बेरोजगारी हीं नहीं दूर हो रही है बल्कि उनका सपना भी पूरा हो रहा है। इससे परिवार की आर्थिक स्थिति सुधरेगी।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

sun

320C

Clear

क?रिकेट

Jara Hatke

Read Also

जमशेदपुर : 4 लैंड माइंस गाड़ियों में 3 विगत 2 साल से है खराब, पड़ा है गैरेज में

NewsCode Jharkhand | 17 July, 2018 11:00 AM
newscode-image

जमशेदपुर । नक्सल प्रभावित इलाकों में नक्सलियों से लड़ने के लिये सरकार एन्टी लैंड माइंस गाड़ियां देती है। लेकिन जमशेदपुर जिला का हाल ये है कि 4 लैंड माइंस गाड़ियों में 3 विगत 2 साल से खराब है और गैरेज में पड़ा है।

कोडरमा : पानी की किल्लत से लोग परेशान, पम्प हॉउस के कई मोटरपम्प ख़राब

अधिकारी और गैरेज की माने तो सरकार के पास मरम्मती के लिए खर्च का ब्यौरा भेजा गया है लेकिन अब तक कोई कार्रवाई नहीं हुई है। वहीं मजबूरी में पुलिस बिना एन्टी लैंड माइंस गाड़ी के हीं नक्सल इलाकों में घूम रही है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

धनबाद : पत्थर से लदे दो ट्रक को वन विभाग ने किया जब्त

NewsCode Jharkhand | 17 July, 2018 10:58 AM
newscode-image

टुण्डी धनबाद । वन विभाग टुण्डी की टीम ने गुप्त सूचना के आधार पर दो अलग अलग जगहों से सफेद पत्थर से लदे दो ट्रक को जब्त किया।  हालांकि दोनो ही ट्रक के चालक व खलासी भागने मे सफल रहे। टुण्डी क्षेत्र के रेंजर शशिभूषण गुप्ता ने बताया कि उन्हे सूचना मिल रही थी।

 टुण्डी क्षेत्र से सफेद क्वार्टज पत्थर का अवैध रूप से कारोबार चल रहा है और ट्रक के जरिए इन्हे दूसरे राज्य मे भेजा जाता है। एक ट्रक पत्थर की किमत लाखो में होती है।

धनबाद : दलित समाज ने कांग्रेस नेता ददई दुबे का फूंका पुतला

इसी सूचना के आधार पर मुख्य मार्ग पर जांच अभियान चलाया गया। जिसके तहत इन ट्रक को जब्त किया गया । जब्त ट्रक संख्या जेएच 02 जे 2709  एवं जेएच 11 ई 4161 पर वन अधिनियम के तहत मामला दर्ज कर परिवहन विभाग से संपर्क कर इसके मालिक का पता लगाया जा रहा है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

More Story

more-story-image

गिरिडीह : बाबूलाल का भाजपा पर हमला, केस फौजदारियों से...

more-story-image

सरायकेला : बच्चा चोरी अफवाह मामले में 12 दोषियों को...