वैलेंटाइन डे पर बजरंग दल ने निकाली ‘इशारा रैली’, कहा- लड़का-लड़की साथ दिखे तो करा देंगे शादी

NewsCode | 14 February, 2018 12:46 PM
newscode-image

नई दिल्ली। वैलेंटाइन डे पर बजरंग दल एक बार फिर सक्रिय हो गया है। नागपुर में बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने वैलेंटाइन डे मनाने वालों को धमकी दी है। वेलेंटाइन डे के विरोध में बजरंग दल ने नागपुर में विरोध रैली निकाली।

बजरंग दल ने कहा, ‘अगर उन्हें वैलेंटाइन डे मनाने का हक है तो हमें अपनी संस्कृति बचाने का भी हक है।’ उन्होंने धमकी दी की अगर सड़क पर हमें कोई जोड़ा मिला तो हम उनकी शादी करा देंगे। इसके लिए हमने पंडित भी तैयार कर रखे हैं।

वैलेंटाइन डे के विरोध में निकाली गई इस रैली का नाम ‘इशारा रैली’ रखा गया है। बजरंग दल ने मंगलवार को भी वैलेंटाइन डे के विरोध में बाइक रैली निकाली थी, जिसमें सभी को वैलेंटाइन डे नहीं मनाने के लिए सचेत किया गया था। बजरंग दल कार्यकर्ताओं का कहना है कि वैलेंटाइन डे पश्चिमी संस्‍कृति की देन है।

केरेडारी : बजरंग दल, विहिप की बैठक में सदस्यता अभियान पर चर्चा

अहमदाबाद में बजरंग दल ने वेलेंटाइन डे को धर्म और जिहाद से जोड़ दिया

अहमदाबाद में बजरंग दल ने वेलेंटाइन डे को धर्म और जिहाद से जोड़ दिया है। सड़कों पर पोस्टर लगा रखे हैं और वॉर्निंग जारी कर दी है। कार्यकर्ता वेलेंटाइन डे के विरोध में प्रदर्शन कर रहे हैं। बजरंग दल ने साफ चेतावनी दी है कि वेलेंटाइन डे मनाना आपको महंगा पड़ सकता है।

यहां पर जगह-जगह पोस्टर लगे हैं जिसमें लिखा है- ‘हिंदू लड़कियां सावधान, Say no to valentines day’ पोस्टर में नीचे बजरंग दलः कर्णावती लिखा है।

हैदराबाद में होटल मालिकों को वैलेंटाइन डे पर किसी भी तरह के विशेष आयोजन की मनाही

बजरंग दल के सदस्य मंगलवार को हैदराबाद के अलग-अलग पबों में पहुंचे और वहां उन्होंने पब मालिकों को ज्ञापन देते हुए ये चेतावनी दी कि वैलेंटाइन डे पर किसी भी तरह का कोई विशेष आयोजन नहीं करें।

लखनऊ में यूनिवर्सिटी ने निकाला नोटिफिकेशन

वैलेंटाइन डे के लिए जहां एक तरफ युवाओं में उत्साह है वहीं उत्तर प्रदेश की लखनऊ यूनिवर्सिटी ने एक ऐसा नोटिफिकेशन निकाला है जिसपर विवाद हो गया है। लखनऊ यूनिवर्सिटी ने वैलेंटाइन डे पर अपने छात्रों को यूनिवर्सिटी में आने से मना किया है।

जमशेदपुर में बजरंग दल का प्रदर्शन

बजरंग दल ने जमशेदपुर के जुबली पार्क में भी वेलेंटाइन डे के विरोध में प्रदर्शन किया। कार्यकर्ताओं ने पार्क में कपल्स को दौड़ा-दौड़ाकर पीटा।

रांची : सिविल सोसायटी न्यूज का सबसे बड़ा स्रोत-मिनी कक्कर

NewsCode Jharkhand | 26 September, 2018 7:44 AM
newscode-image

रांची। मीडिया और सिविल सोसायटी को लेकर मंगलवार को मंथन युवा संस्थान में एक परिचर्चा का आयोजन किया गया। कार्यक्रम का उद्देश्य मीडिया और सिविल सोसायटी के बीच सार्थक समन्वय कैसे बने इस विषय पर विभिन्न सामाजिक कार्यकर्ताओं और पत्रकारों ने अपने-अपने विचार रखें।

इस मौके पर दिल्ली एनएफआई की प्रोग्राम ऑफिसर मिनी कक्कर ने कहा कि  मीडिया और सिविल सोसायटी का जो कार्य क्षेत्र है वो अस्पष्ट है, सिविल सोसायटी पत्रकारों के लिए आज सबसे बड़ा न्यूज  स्रोत है, लेकिन उनके बीच सही समन्वय नहीं है। इसकी वजह कर जनसरोकार की खबरें आंकड़ों के साथ नहीं आ पाती हैं। आज जरूरत है कि इन दोनों संस्था के बीच मजबूत तालमेल बने।

रांची : सूबे भर से जुटे विस्थापितों ने अपने हक के लिए बनाई रणनीति

वहीं मंथन के सुधीर पाल ने कहा कि अनौपचारिक मंच के साथ-साथ संवाद का माहौल बनाना जरूरी है। मीडिया का दायरा बहुत बड़ा है और समाजहित में उनकी भूमिका भी। आज अखबारों में तथ्यात्मक रिपोर्ट गिनी चुनी हीं रहती है । इस लिहाज से सिविल सोसायटी और मीडिया दोनों को ही झारखंड के परिपेक्ष में कुछ मुद्दों का चयन करके उन्हें नियमित रूप सामने लाने की जरूरत है। जबकि सामाजिक कार्यकर्ता पीपी वर्मा ने कहा कि मीडिया किस दिशा में खबर को दिखाता है, कैंपेन की दिशा वही हो जाती है।

रांची : राजकीय पॉलिटेक्निक कॉलेज प्रशासन ने हॉस्टल खाली करने का दिया फरमान

उदाहरण के तौर पर हाल के दिनों में सदर हॉस्पिटल है, जिसके निजी करण  के विरोध में मीडिया ने अहम भूमिका निभाई। नतीजा है कि सदर अस्पताल कॉर्पोरेट के हाथों में जाने से बच गया। उन्होंने कहा आंदोलन छोटा था पर मीडिया कवरेज से उसे बड़ी शक्ल में मिली।वहीं वरिष्ठ पत्रकार रजत गुप्ता ग्रामीण पत्रकारिता को ही मीडिया संस्थान की ताकत बताया।

उन्होंने कहा कि सिविल सोसायटी मुद्दों से जुड़े आंकड़ों को मीडिया के साथ साझा करें ताकि उसे सरकार की नजरो तक लाया जा सके। परिचर्चा में वरिष्ठ पत्रकार ओम रंजन मालवीय, आरके नीरज, सैयद सरोज कमर, नवीन, और एक्टिविस्ट जेरोम जेराल्ड, नदीम खान, हलधर महतो, राजीव कर्ण समेत कई लोगों ने अपने विचार रखें।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

sun

320C

Clear

क्रिकेट

Jara Hatke

Read Also

जामताड़ा : ट्रक और बाइक में जोरदार टक्कर, तीन घायल

Tarun Kumar Choubey | 26 September, 2018 10:03 AM
newscode-image

जामताड़ा। मंगलवार शाम करीब पांच बजे नारायणपुर थाना क्षेत्र के पबिया बाजार में गोविंदपुर-साहेबगंज हाइवे पर सीमेंट लदा ट्रक (जेएच 10 ओ 6365) से बाइक का आमने सामने टक्कर हो जाने से तीन लोग घायल हो गए। ट्रक धनबाद से सीमेंट लादकर जामताड़ा जा रही थी।

तीनों के सिर  व शरीर पर काफी चोटें लगी है। मौके पर ट्रक चालक ट्रक छोड़कर फरार हो गया। भीड़ ने ट्रक को अपने कब्जे में कर लिया। जानकारी के अनुसार  मोटरसाइकिल में तीन व्यक्ति सवार थे। चालक लबसन हेम्ब्रम (27), जितेंद्र टुडू (65) व महिला पकलु टुडू (35) तीनों की स्थिति नाजुक बताई जा रही है।

जामताड़ा : संतुलन बिगड़ने से किरासन तेल का टैंकर पलटा, तेल लेने जुटी भीड़

जामताड़ा : ट्रक और बाइक में जोरदार टक्कर, तीन घायल

सभी घायल नारायणपुर थाना क्षेत्र के मझलाड़ीह पंचायत के बरमसिया गांव का रहने वाले हैं। बजरंग दल के जिला संयोजक सोनू सिंह व भाजपा के मंडल अध्यक्ष सुधीर मंड़ल ने तीनों घायलों को बेहतर इलाज के लिए जामताड़ा सदर अस्पताल लाया। चिकित्सक ने प्राथमिक उपचार के बाद बेहतर इलाज के लिए धनबाद भेज दिया।

स्थानीय लोगों ने किया सड़क जाम

स्थानीय लोगों ने दुर्घटना के बाद मुआवजे की मांग को लेकर सड़क जाम कर दिया गया। सूचना मिलते ही घटना स्थल पर नारायणपुर थाना प्रभारी अजय कुमार सिंह व एसआई बीके सिंह पुलिस बल के साथ पहुंचे। लोगों ने सरकारी मुआवजे की मांग कर रहे थे।

जामताड़ा : चार शातिर साइबर अपराधियों के ठिकानों पर ईडी का छापा

थाना प्रभारी ने सड़क जाम कर रहे लोगों को समझा बुझाकर जाम हटाया। प्रभारी ने कहा कि सरकारी सहायता घायलों को जरूर मिलेगा। स्थानीय लोगों ने पबिया में अक्सर हो रहे दुर्घटना पर अंकुश लगाने के लिए पुलिस बेरिकेड लगाने की मांग की। थाना प्रभारी ने उक्त व्यवस्था करने का आश्वासन दिया।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

बाघमारा : प्रखण्ड में आयोजित दिव्यांग शिविर में नहीं पहुंचे अधिकारी

NewsCode Jharkhand | 26 September, 2018 9:10 AM
newscode-image

बाघमारा। प्रखण्ड में आयोजित दिव्यांग शिविर में को भी अधिकारी नहीं पहुंचा। बाघमारा प्रखण्ड में दिव्यांगों के सर्टीफिकेट बनाने के लिये शिविर का आयोजन की गई थी और साथ ही दिव्यांगों को पेंशन कार्ड भी बनाया जाना था। आयोजित शिविर में अधिकारी के नहीं पहुँचने पर दिव्यांग लोग बेहाल रहे।

 बाघमारा : पूना महतो फुटबॉल टूर्नामेंट में पहुंचेगें सीएम

सुबह 10 बजे से ही दिव्यांग प्रखण्ड मुख्यालय पहुँच गये थे। तपती गर्मी में लाचार लोग तडपते रहे।  इस शिविर के लिये प्रचार-प्रसार किया गया था। ऐसे में अधिकारी का समय पर शिविर में न पहुँचना सरकार से लोगों का विस्वास तोड़ने का काम कर रहे  है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

More Story

more-story-image

जमशेदपुर : दुकानों में लगी आग, लाखों रूपये का हुआ...

more-story-image

चास : टेलर की चपेट में आने से महिला हुई...