बाघमारा : यूनिसेफ प्रतिनिधि ने जल सहिया को दिया प्रशिक्षण, गुणवत्ता पर दिया जोर

NewsCode Jharkhand | 15 April, 2018 3:36 PM
newscode-image

शौचालय निर्माण में हो जरूरी मॉडल

बाघमारा। शौचालय निर्माण में आवश्यक मॉडल का उपयोग हो रहा है कि नहीं इसकी जानकारी यूनिसेफ प्रतिनिधि संजय कुमार ने ली। केशरगढ़ पंचायत में यूनिसेफ सदस्य संजय कुमार पहुंचे और केशरगढ़ और सदरयाडीह ग्राम में बने शौचालय को देखा। शौचालय निर्माण को लेकर आवश्यक जानकारी जल सहिया और  मुखिया को दिया। बने हुए शौचालय को यूनिसेफ सदस्य ने संतोषजनक बताया।

यूनिसेफ सदस्य ने बताया कि स्वच्छ भारत मिशन के तहत शौचालय निर्माण की गुणवत्ता की जानकारी दी जा रही है। शौचालय निर्माण करते समय सरकार के दिये मॉडल के अनुरूप से निर्माण हो यह जरूरी है। जिसकी जानकारी प्रशिक्षण दिया जा रहा है। बने हुए शौचालय लगभग ठीक है। कुछ में थोड़ी बहुत त्रुटि है।

शौचालय को लेकर करें जागरूक

जल सहिया को बताया गया है कि शौचालय उपयोग को लेकर सभी को जागरूक करें। साथ सरकार के दिये मॉडल अनुसार शौचालय निर्माण हो। शौचालय निर्माण के समय यह ध्यान देना है कि टँकी सही बने। शौचालय की उचाई, छत ढलाई का हो।

हजारीबाग : नगर निगम के प्रयास से कई स्थानों पर सामुदायिक शौचालय बनकर तैयार

मुखिया राजू रजक ने बताया कि उनका पंचायत ओडीएफ होने के करीब है। लगभग 85 शौचालय का निर्माण और करवाना है। 5 मई तक सभी बचे शौचालय का निर्माण करवा देना है। जिसके बाद पंचायत में शत प्रतिशत शौचालय हो जाएगा। मौके पर जल सहिया ममता देवी,चंपा देवी भी मौजदू थीं।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

छात्र संघ चुनाव तय समय पर हो – अभिनव भगत

NewsCode Jharkhand | 22 July, 2018 6:15 PM
newscode-image

रांची। एनएसयूआई के बिहार, झारखंड, पश्चिम बंगाल के रीजनल मीडिया कोऑर्डिनेटर अभिनव भगत ने राँची विवि द्वारा नामांकन प्रक्रिया में चांसलर पोर्टल की जटिलता के वजह से छात्रों को हो रहे परेशानी एवं नामांकन तिथि बार-बार बढ़ाने से छात्र संघ चुनाव पर लगे संशय पर प्रेस बयान जारी की है।

रांची : जेसीआई के सदस्याओं ने आंचल शिशु आश्रम में किया भोजन वितरण

चांसलर पोर्टल पर सरकार ने करोड़ों रूपये खर्च कर दिये लेकिन नामांकन प्रक्रिया में छात्रों की परेशानी थमने का नाम ही नहीं ले रही है। विदित हो कि रांची विवि प्रशासन ने फार्म जमा करने की तिथि 18 से 30 जून तक निर्धारित की थी, लेकिन काफी कम आवेदन आने के बाद पहली बार 10 जुलाई तक तिथि बढ़ाई गई। दूसरी बार 17 जुलाई तक एडमिशन फार्म जमा करने तिथि बढ़ाई गई। लेकिन इसके बाद भी समस्या पहले की तरह यथावत रही, जिस कारण तीसरी बार 23 जुलाई तक तिथि बढ़ाई गई है।

रांची : जेसीआई के सदस्याओं ने आंचल शिशु आश्रम में किया भोजन वितरण

वहीं विश्वविद्यालयों द्वारा शून्य निवेश पर बच्चों का नामांकन लिया जाता था। सरकार का चांसलर पोर्टल बनाने के पीछे उद्देश्य था कि छात्रों का डेटा संग्रह करने के साथ नामांकन प्रक्रिया में पारदर्शिता लायी जाये। साथ ही सिंगल विंडो के माध्यम से एक शुल्क पर छात्रों का नामांकन सुनिश्चित किया जा सके, लेकिन वर्तमान में चांसलर पोर्टल से कोई भी कार्य नामांकन प्रक्रिया के माध्यम से सही तरीके से नहीं हो पा रहा है। जहां तक एक शुल्क की बात थी तो इस पोर्टल के माध्यम से प्रति कॉलेज या विभाग छात्रों को परीक्षा शुल्क देने पड़ रहे हैं।

छात्र संघ चुनाव पर पड़ सकता है असर

रांची विवि में बार-बार एडमिशन की तिथि बढ़ने के कारण अब अगस्त अंतिम सप्ताह तक एडमिशन प्रक्रिया चलेगी। इसका सीधा असर छात्र संघ चुनाव पर पड़ेगा। जबकि पिछले वर्ष भी बहुत कम छात्रों का एडमिशन होने  के कारण चुनाव स्थगित कर दिया गया था। इसके बावजूद विवि प्रशासन ने ढिलाई बरती इससे साफ़ पता चलता है कि छात्र संघ चुनाव को लेकर विवि की मंशा कभी छात्रों के लिए हितकर में नहीं है।

रांची : राजधानी सहित राज्य में बिजली संकट, लोगों की बढ़ी समस्या

एनएसयूआई छात्र संघ चुनाव को लेकर कटिबद्ध है। सरकार एवं विवि प्रशासन से माँग करती है कि छात्र संघ चुनाव हर हाल में तय समय पर कराया जाने की दिशा में आगे बढ़ते हुए अविलंब विभागीय आदेश जारी करें। अगर इस बार भी सरकार और विवि की रवैया की वजह से छात्र संघ चुनाव कराने में विलंब अथवा चुनाव नहीं करायी जाएगी तो एनएसयूआई महामहिम राज्यपाल महोदया से मिलकर इस मामले पर हस्तक्षेप करने की माँग करेगी।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

sun

320C

Clear

क?रिकेट

Jara Hatke

Read Also

चतरा : शांतिपूर्ण संपन्न हुई हिंदी टिप्पण व प्रारूपण की परीक्षा

NewsCode Jharkhand | 22 July, 2018 6:20 PM
newscode-image

चतरा। स्थानीय प्लस टू हाई स्कूल में रविवार को कई सरकारी विभाग के कर्मचारियों की हिन्दी टिप्पण व प्रारूपण परीक्षा का आयोजन किया गया। परीक्षा शांतिपूर्ण माहौल में संपन्न हुआ। इस परीक्षा में कुल 198 कर्मचारियों को परीक्षा देना था, जिसमें कि 131 परीक्षार्थी उपस्थित हुए। शेष बचे 67 परीक्षार्थी अनुपस्थित रहे।

चतरा : जेल अदालत का आयोजन, एक कैदी को मिली रिहाई

जबकि परीक्षा को शांतिपूर्ण ढंग से संपन्न कराने के लिए केंद्राधीक्षक के रूप में सदर अंचलाधिकारी यामुन रविदास, मजिस्ट्रेट के रूप में हंटरगंज अंचलाधिकारी रामसुमन कुमार, विद्यालय के प्राचार्य देव कुमार मिश्रा समेत पुलस बल के जवान उपस्थित थे।

केंद्राधीक्षक व मजिस्ट्रेट ने बारी-बारी से परीक्षा केंद्रों का निरीक्षण भी किया। अंचलाधिकारी ने बताया कि शांतिपूर्ण परीक्षा के लिए 29 वीक्षकों को लगाया गया था। इस परीक्षा में पुलिस प्रशासन, शिक्षा विभाग, स्वास्थ्य विभाग, समाहरणालय सहित अन्य कई विभागों के कर्मचारी शामिल हुए।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

जमशेदपुर : सूर्य सिंह बेसरा ने तीसरा मोर्चा बनाया, कहा- पूरे 81 सीटों पर विस चुनाव लड़ेगी झारखंड पीपुल्स पार्टी

NewsCode Jharkhand | 22 July, 2018 6:18 PM
newscode-image

जमशेदपुर झारखंड में सत्ताधारी पार्टी बीजेपी और महा गठबंधन की दिशा में जा रहे जेएमएम और अन्य राजनीतिक पार्टियों के खिलाफ पूर्व विधायक सह आजसू के संस्थापक और वर्तमान में झारखंड पीपुल्स पार्टी के मुखिया सूर्य सिंह बेसरा ने आगामी चुनाव में जाने के लिए तीसरा मोर्चा का बिगुल फूंका।

उन्‍होंने कहा कि राजनीतिक, सामाजिक संस्थाओं का समर्थन ले झारखंड के मूल वासियों के उत्थान के लिए पूरे 81 सीटों पर विधान सभा चुनाव लड़ेगी झारखंड पीपुल्स पार्टी। यह आम लोगों के लिए तीसरा विकल्प है।

जमशेदपुर : जिला मुख्यालय सभागार में स्वच्छ्ता सर्वेक्षण 2018 को लेकर बैठक आयोजित

झारखंड में तमाम राजनीतिक पार्टियों के चुनावी रणनीति को चुनौती देने के लिए उभरे तीसरे विकल्प के रूप में झारखंड पीपुल्स पार्टी और अन्य सहयोगी संस्थाओं ने रविवार को जमशेदपुर के आदिवासी एसोसिएशन में झारखंड नवनिर्माण महासभा जनमतके नाम से एक सभा किया।

यहां मुख्य रूप से तीसरे विकल्प के मुखिया सूर्य सिंह बेसरा और कोल्हान के सुदूर क्षेत्रों से आये स्थानीय आदिवासी नेता उपस्थित हुए। महासभा में खतियानधारी को जनमत का विकल्प बताते हुए नेताओं ने सभा को संबोधित किया।

वहीं सूर्य सिंह बेसरा ने कहा अब झारखंड में अवसरवाद की राजनीति से यहां के मूलवासियों को छुटकारा चाहिए। इस कारण तीसरा विकल्प बनाना पड़ा और इसी विकल्प के माध्यम से आगामी 2019  के चुनाव को आम आदमी पार्टी की तरह झारखंड के सभी सीटों को जीत यहां के मूल भाषा भाषियों का उत्थान करेंगे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

More Story

more-story-image

चतरा : जेल अदालत का आयोजन, एक कैदी को मिली...

more-story-image

धनबाद : मिशन 2019 की तैयारी में जुटी भाजपा, की बैठक