32 हजार फीट पर टूटी कॉकपिट की खिड़की, विमान से बाहर लटक गया को-पायलट और फिर…

NewsCode | 15 May, 2018 1:06 PM
newscode-image

नई दिल्ली। चीन एक हवाई जहाज हादसे का शिकार होते-होते बच गया। यहां की शिचुआन एयलाइंस के विमान- 3यू8633 में अचानक कॉकपिट की खिड़की टूट गई। उस वक्त विमान करीब 32 हजार फीट ऊपर था। हवा इतनी तेज थी कि खड़की बीच हवा में टूट गई और को-पायलट विमान से बाहर लटक गया।

खिड़की टूटने से विमान के अंदर का तापमान -40 डिग्री पहुंच गया था और हवा से विमान के अंदर खाने-पीने का सामान इधर-उधर बिखर गया। इससे यात्रियों के बीच अफरा-तफरी की स्थिति बन गई। लेकिन पायलट ने अनाउंसमेंट की, ‘घबराइए नहीं। हम स्थिति संभाल लेंगे।’ और इसके 20 मिनट के अंदर विमान की सफल लैंडिंग करवाई।

अजब-गजब: वफादार कहे जाने वाले कुत्ते ने खेल-खेल में मालिक को मारी दी गोली

हादसे को बचाने के बाद लियू ने कहा- ‘इस रूट पर मैं 100 से ज्यादा बार उड़ान भर चुका हूं। मुझे उसका फायदा मिला।’ बता दें, फ्लाइट के अंदर का तापमान -40 पहुंच चुका था। जिसके बाद पायलट लियू ने ‘स्क्वैक वॉर्निग-7700′ जारी की।’

VIDEO: वाइल्ड लाइफ सफारी में फोटो लेने गाड़ी से उतरे परिवार पर चीते ने बोल दिया धावा

इसका मतलब है कि विमान को गंभीर खतरा है, एयर ट्रैफिक कंट्रोल को सूचना दी जाती है। उनके निर्देश को पालन करते हुए लैडिंग कराई जाती है। लियू ने भी ऐसा ही किया और यात्रियों की जान बचा ली। बड़ा हादसा बचाने वाले पायलट लियू शुआनजियान की सोशल मीडिया पर अब काफी तारीफ हो रही है।

जानिये कब लॉन्च होगी मासेराती लेवांते जीटीएस पेट्रोल

NewsCode | 21 July, 2018 4:47 PM
newscode-image

मासेराती लेवांते का पेट्रोल वेरिएंट जीटीएस भारत में दस्तक देने के लिए तैयार है। जानकारी मिली है कि लेवांते जीटीएस पेट्रोल को 2018 की चौथी तिमाही में भारत में लॉन्च किया जाएगा।

लेवांते जीटीएस पेट्रोल में 3.8 लीटर का वी8 इंजन मिलेगा, जो 550 पीएस की पावर देगा। 0 से 100 किमी प्रति घंटा की रफ्तार पाने में इसे 4.2 सेकंड का समय लगेगा।

भारत में उपलब्ध लेवांते डीज़ल से तुलना करें तो पेट्रोल वेरिएंट ज्यादा पावरफुल और ज्यादा फुर्तिला है। डीज़ल वेरिएंट में 3.0 लीटर का वी6 डीज़ल लगा है, जो 275 पीएस की पावर देता है। 0 से 100 किमी प्रति घंटा की रफ्तार पाने में इसे 6.9 सेकंड का समय लगता है। इस मामले में पेट्रोल वेरिएंट 2.7 सेकंड तेज है।

लेवांते डीज़ल तीन वेरिएंट स्टैंडर्ड, ग्रां स्पोर्ट और ग्रां लूस्सो में उपलब्ध है। इसकी कीमत 1.45 करोड़ रूपए है। कयास लगाए जा रहे हैं कि जीटीएस पेट्रोल वेरिएंट की कीमत डीज़ल वेरिएंट से ज्यादा हो सकती है।

ये भी पढ़ें:

BMW की पहली मेड इन इंडिया बाइक लॉन्च, जानें कीमत और खासियत

एक अगस्त से महंगी होंगी होंडा की कारें, जानें कितनी बढ़ेगी कीमत

sun

320C

Clear

क?रिकेट

Jara Hatke

Read Also

जमशेदपुर : 2019 की चुनाव को लेकर कांग्रेस कार्यकर्ताओं की बैठक

NewsCode Jharkhand | 22 July, 2018 9:41 PM
newscode-image

जमशेदपुर। झारखंड में 2019 का लोकसभा और विधानसभा चुनाव की मद्देनजर सभी पार्टी अपने को मजबूत करने के लिए अपनी कार्जकर्ताओ के साथ बैठक कर पार्टी में लोगो को जोड़ने काम शुरू कर दिया है।

जमशेदपुर : एलबीएसम कॉलेज में छात्रों ने बवाल काटा, भाग खड़े हुए शिक्षक व प्रिंसिंपल

वहीँ पोटका प्रखंड कांग्रेस समिति की बैठक पोटका प्रभारी गोपाल प्रसाद के उपस्थिति में हुई। अध्यक्षता प्रखंड अध्यक्ष तापस मंडल ने किया। बैठक में प्रभारी ने प्रखंड कमिटी और पंचायत कमिटी के संगठन को मजबूत करने हेतु आवश्यक दिशानिर्देश दिया। साथ ही कांग्रेस पार्टी को मजबूत करने के लिए आलाकमान की दिशा निर्देश पर चलने की मंत्र बताये।

जमशेदपुर : उपायुक्त ने किया गुमशुदा एवं अनाथ बच्चों के हॉस्टल का औचक निरीक्षण

वही बैठक के दौरान युवा वर्ग को मजबूत करने की बात कही गई। बैठक में ज्योति मिश्रा, श्रीपति दास, सोमेन मंडल, सनातन मंडल, संजय कुमार, अमल बिस्वास, मनोज कुमार सरदार, सौरव चटर्जी, प्रकाश सरदार, सुरेश गोप आदि लोग उपस्थित थे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

सिमडेगा : ग्रामीणों ने लगभग सात सौ पौधे लगाये

NewsCode Jharkhand | 22 July, 2018 9:39 PM
newscode-image

सिमडेगा। कोलेबिरा प्रखंड के बंदरचुआं में पर्यावरण संरक्षण के उद्देश्य से ग्रामीणों ने लगभग सात सौ पेड़ पौधे लगाये। ग्रामीणों ने वन अधिकार अधिनियम 2006 में दिये गये अधिकार के तहत सामुदायिक दावा किये गये जंगल के निकट वृक्षा रोपण किया।

इस अवसर कांग्रेस पार्टी आदिवासी प्रकोष्ठ के जिला अध्यक्ष विक्सल कोंगाड़ी, समर्पण सुरीन, तेलेस्फोर तोपनो, अमित डांग मुख्य रूप से उपस्थित थे। वृक्षारोपण के बाद सभा का आयोजन किया गया। सभा को संबोधित करते हुए विक्सल कोंगाड़ी ने कहा कि सरकार द्वारा वन संरक्षण पर एवं आदिवासियों के वन आधारित आजीविका पर कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है।

सरकार द्वारा ग्राम सभा की उपेक्षा की जा रही है। उन्होंने कहा कि वनों के आस पास रहने वाले आदिवासी एवं परंपरागत वनवासी जंगल के अभिन्न अंग हैं। जिन्हें जंगलों के अधिकार से वंचित नहीं किया जा सकता है।

सिमडेगा : अवैघ लकड़ी लदा पिकअप वैन जब्त, वन विभाग ने की कार्रवाई

किंतु भाजपा सरकार द्वारा आदिवासियों को जल, जंगल, जमीन से वंचित करने की साजिश रची जा रही है। इस मौके पर समर्पण सुरीन, तेलेस्फोर तोपनो, अमित डांग आदि ने अपने विचार व्यक्त करते हुए वन अधिकार कानून की विस्तार पूर्वक जानकारी दी।

इस अवसर पर मुख्य रूप से जुनूल लुगून, रतन बागे, जेम्स समद, रेयडन डांग, उदय सुरीन, सिसिलया होरो, ललित हेमरोम, विक्टोर डुंगडुंग, नीलिमा टेटे, इलियाह डुंगडुंग,नैमन हेमरोम, अमित लुगून,मुलियानी डांग,ग्रेस्ती हेमरोम, नुएल होरो के अलावा काफी संख्या में ग्रामीण उपस्थित थे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

More Story

more-story-image

रांची : जदयू का झारखंड में किसी पार्टी से कोई...

more-story-image

देवघर : न्यायालय के आदेश पर मालिक को मकान सुपुर्द