टेस्ट इतिहास में भारत की सबसे बड़ी जीत, पारी और 262 रनों से हारा अफगानिस्तान

NewsCode | 15 June, 2018 6:12 PM
newscode-image

नई दिल्ली। टीम इंडिया ने अफगानिस्तान को उसके पदार्पण टेस्ट मैच में पारी और 262 रनों से मात देकर इतिहास बना दिया है। भारतीय टीम ने बेंगलुरु टेस्ट दो दिन में ही जीत लिया और सिर्फ एक ही दिन में अफगानिस्तान की दोनों पारियों को समेट दिया। यह भारत की टेस्ट क्रिकेट में पारी से अब तक की सबसे बड़ी जीत है। इससे पहले भारत ने साल 2007 में बांग्लादेश के खिलाफ पारी और 239 रन और साल 2017 में श्रीलंका के खिलाफ पारी और 239 रन से जीत दर्ज की थी।

टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए टीम इंडिया ने अपनी पहली पारी में अफगानिस्तान के सामने 474 रनों का विशाल स्कोर खड़ा किया। जवाब में अफगानिस्तान की टीम अपनी पहली पारी में 109 रन पर सिमट गई और भारत ने पहली पारी के आधार पर अफगानिस्तान पर 365 रनों की बढ़त ले ली। भारत के कप्तान अजिंक्य रहाणे ने अफगानिस्तान को फोलोऑन खेलने के लिए बाधित दिया। जिसके बाद दूसरी पारी में भी अफगानिस्तान ने महज 103 रन पर हथियार डाल दिए।

दूसरी पारी में अफगानिस्तान के लिए हसमातुल्लाह ने सबसे ज्यादा 36 रन बनाए। वह 88 गेंदों में छह चौके लगाकर नाबाद लौटे। कप्तान असगर स्टानिकजई ने 25 रन बनाए। दूसरी पारी में भारत के लिए रवींद्र जडेजा ने चार विकेट लिए। उमेश यादव को तीन और ईशांत शर्मा को दो सफलता मिली। रविचंद्रन अश्विन के हिस्से एक विकेट आया। शिखर धवन को ताबड़तोड़ शतक के लिए ‘मैन ऑफ द मैच’ चुना गया।

पारी से जीतः टेस्ट में भारत की सबसे बड़ी जीत

पारी और 262 रनों से विरुद्ध अफगानिस्तान, बेंगलुरु, 2018

पारी और 239 रनों से विरुद्ध श्रीलंका, नागपुर, 2017

पारी और 239 रनों से विरुद्ध, बांग्लादेश, ढाका, 2007

पारी और 219 रनों से विरुद्ध ऑस्ट्रेलिया, कोलकाता, 1998

पारी और 198 रनों से विरुद्ध न्यूजीलैंड, नागपुर, 2010

पारी और 171 रनों से विरुद्ध श्रीलंका, पल्लेकेल, 2017

पहली पारी में अश्विन की फिरकी के सामने ढेर हुआ अफगानिस्तान

टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए टीम इंडिया ने अपनी पहली पारी में अफगानिस्तान के सामने 474 रनों का विशाल स्कोर खड़ा किया। जवाब में अफगानिस्तान की टीम अपनी पहली पारी में 109 रन पर ढेर हो गई। टीम इंडिया के लिए रविचंद्रन अश्विन ने सबसे ज्यादा 4 विकेट लिए जबकि रवींद्र जडेजा और ईशांत शर्मा ने 2-2 और उमेश यादव ने एक विकेट लिया।

अफगानिस्तान की टीम के कप्तान असगर स्टेनिकाजई ने मैच से पहले कहा था कि उनके स्पिनर भारतीय स्पिनरों से ज्यादा बेहतर हैं, जिसका जवाब अश्विन ने 4 विकेट लेकर दिया है। भारत ने मैच के दूसरे दिन दूसरे सत्र में ही उसे सिर्फ 27.5 ओवरों में अफगानिस्तान को पवेलियन पहुंचा दिया। भारत ने पहली पारी के आधार पर अफगानिस्तान पर 365 रनों की बढ़त ले ली। अफगानिस्तान की तरफ से मोहम्मद नबी ने सबसे ज्यादा 24 रन बनाए। मुजीब उर रहमान ने नौ गेंदों में दो चौके और एक छक्की मदद से 15 रनों की पारी खेली।

भारत द्वारा खड़े किए गए विशाल स्कोर के सामने अपनी पहली पारी खेलने उतरी अफगानिस्तान की बल्लेबाजी बेहद कमजोर साबित हुई। टीम के बल्लेबाज टेस्ट की परीक्षा में विफल रहे। विकेट पर पैर जमाना उनके लिए टेढ़ी खीर साबित हो रहा था।

भारतीय पारी

टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए टीम इंडिया ने अपनी पहली पारी में अफगानिस्तान के सामने 474 रनों का विशाल स्कोर खड़ा किया। टीम इंडिया के लिए पहली पारी में शिखर धवन ने सिर्फ 96 गेंद में 107 रन बनाए। वहीं विजय ने 153 गेंद में 105 रन बनाए। इसके अलावा हार्दिक पंड्या ने 94 गेंदों में 71 रनों की पारी खेली और टीम को 450 रन के पार पहुंचने में मदद की।

अफगानिस्तान की ओर से यामिन अहमदजई ने 3, राशिद खान और वफादार ने 2-2, मोहम्मद नबी और मुजीब उर रहमान ने 1-1 विकेट लिए, जबकि एक खिलाड़ी रन आउट हुआ। बता दें कि टीम इंडिया ने पहले दिन का खेल खत्म होने तक 78 ओवर में 6 विकेट गंवा कर 347 रन बनाए थे और रविचंद्रन अश्विन (7 रन) और हार्दिक पंड्या (10 रन) क्रीज पर टिके हुए थे।

नहीं चले अफगानी गेंदबाज

मैच के पहले दिन अफगानिस्तानी गेंदबाजों ने मजबूत भारतीय बल्लेबाजी के समाने अपेक्षाकृत अच्छी गेंदबाजी की। बारिश के कारण मैच रुकने के बाद अफगानिस्तानी गेंदबाजों को पिच से मदद मिलने लगी। भारतीय टीम के बल्लेबाजों ने अफगानिस्तान की स्पिन तिगड़ी- राशिद खान, मुजीब उर रहमान और मोहम्मद नबी की जमकर धुनाई की उनके टेस्ट क्रिकेट में अनुभवहीन होने का फायदा उठाया।

मुरली विजय ने जड़ा 12वां टेस्ट शतक

शिखर धवन के बाद मुरली विजय ने भी शानदार शतक लगाया। यह मुरली विजय का टेस्ट क्रिकेट में 12वां शतक है। उन्होंने 50वें ओवर में अफगान गेंदबाज वफादार की गेंद पर चौका लगाते हुए अपना शतक पूरा किया। मुरली विजय 105 रन बनाकर आउट हुए। उन्होंने अपनी पारी में 15 चौके और एक छक्का लगाया।

धवन का रिकॉर्ड शतक

टीम इंडिया के गब्बर यानी शिखर धवन ने टेस्ट मैच के पहले दिन के पहले सत्र में ही अपना शतक जड़ दिया है। ऐसा करने वाले वह भारत के पहले और दुनिया के छठे बल्लेबाज बन गए हैं। धवन ने सिर्फ 87 गेंदों में 18 चौकों और 3 छक्कों की बदौलत अपना 7वां टेस्ट शतक ठोका। इससे पहले पारी के 14वें ओवर में ही धवन ने अपना अर्धशतक पूरा किया।

शिखर धवन सर डॉन ब्रैडमैन जैसे महान क्रिकेटर के क्लब में शामिल हो गए हैं। यह उपलब्धि हासिल करने वाले धवन दुनिया के छठे बल्लेबाज हैं। इस सूची में ऑस्ट्रेलिया के विक्टर ट्रंपर, उनके हमवतन चार्ली मैकार्टनी, डॉन ब्रैडमैन, पाकिस्तान के मजीद खान और ऑस्ट्रेलिया के डेविड वॉर्नर का नाम शामिल है।

लंच से पहले सबसे ज्यादा रन बनाने का भारतीय रिकॉर्ड पूर्व बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग के नाम था। जिन्होंने साल 2006 में वेस्टइंडीज के खिलाफ सेंट लूसिया में 99 रन बनाए थे। लंच के बाद शिखर धवन अपने खाते में 3 रन और जोड़कर आउट हो गए। 29वें ओवर में शिखर धवन यामिन अहमदजई की गेंद पर मोहम्मद नबी को कैच दे बैठे और 107 रन बनाकर पवेलियन लौट गए। उन्होंने मुरली विजय के साथ मिलकर पहले विकेट के लिए 168 रनों की ओपनिंग पार्टनरशिप की थी।

टीम इंडिया ने जीता टॉस

मैच से पहले आज काबुल में जन्मे पूर्व भारतीय आलराउंडर सलीम दुर्रानी ने टास के लिए सिक्का उछाला। टीम इंडिया ने टॉस जीतकर बल्लेबाजी का फैसला किया और अफगानिस्तान की टीम को पहले गेंदबाजी दी। टीम इंडिया की प्लेइंग इलेवन में दिलचस्प बदलाव हुए हैं।

शिखर धवन और मुरली विजय के ओपनिंग कॉम्बिनेशन को बरकरार रखा गया है। लोकेश राहुल को मिडिल आर्डर में मौका दिया गया है, जबकि विकेटकीपिंग का जिम्मा दिनेश कार्तिक के कंधो पर है। करुण नायर को टीम में जगह नहीं मिली है। आठ साल बाद टेस्ट में वापसी करने वाले दिनेश कार्तिक को भी टीम में शामिल किया गया है।

अफगानिस्तान टीम को भेंट किया गया स्मृति चिन्ह

अफगानिस्तान की पूरी टीम टेस्ट डेब्यू कर रही है। उसके कप्तान असगर स्टानिकजाई को टॉस से पहले भारत के पूर्व खिलाड़ी सलीम दुर्रानी ने स्मृति चिन्ह भेंट किया। इस मौके पर केंद्रीय खेल मंत्री राज्यवर्धन राठौड़ ने अफगानिस्तान टीम से मुलाकात की।

इस मौके पर स्टानिकजाई ने कहा, हमें अपना पहला टेस्ट मैच खेलने पर गर्व है। सभी ने प्रथम श्रेणी क्रिकेट खेली है, लेकिन पहले टेस्ट मैच का अनुभव अलग है। अफगानिस्तान ने इस मैच में तीन स्पिन गेंदबाजों को प्लेइंग इलेवन में चुना है।

टेस्ट खेलने वाला 12वां देश बना अफगानिस्तान

मैदान पर यह केवल एक अन्य टेस्ट मैच है, लेकिन इसका महत्व इससे भी बढ़कर है। अफगानिस्तान इसके साथ टेस्ट क्रिकेट में डेब्यू करने वाला 12वां देश बन गया और इस ऐतिहासिक मैच में राशिद खान, मुजीब जादरान और मोहम्मद शहजाद जैसे खिलाड़ी अपनी तरफ से सर्वश्रेष्ठ प्रयास करने में कोई कसर नहीं छोड़ेंगे।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दी बधाई

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अफगानिस्तान की इस ऐतिहासिक शुरुआत के लिए ट्वीट कर उन्हें शुभकामनाएं दी है।

सिर्फ ऑस्ट्रेलिया ने जीता डेब्यू टेस्ट

टेस्ट में अपना पहला मैच खेलने वाली टीमों में सिर्फ ऑस्ट्रेलिया ने अपना पहला मैच जीता है। उसने 1877 में इंग्लैंड को हराया था। उसके बाद 10 देशों ने डेब्यू किया, जिनमें से 9 को हार का सामना करना पड़ा। वहीं, जिम्बाब्वे ने अपना पहला टेस्ट मैच भारत के खिलाफ खेला था, जो ड्रॉ हुआ।

2019 वोल्वो एस60 से उठा पर्दा, देखें तस्वीरें

NewsCode | 25 June, 2018 7:21 PM
newscode-image

वोल्वो ने तीसरी जनरेशन की एस60 सेडान से पर्दा उठाया है। वोल्वो की यह अब तक की पहली कार है जिसे अमेरिका में तैयार किया गया है। इसका मुकाबला ऑडी ए4मर्सिडीज़-बेंज सी-क्लास और बीएमडब्ल्यू 3-सीरीज से होगा।

2019 Volvo S60

2019 वोल्वो एस60 को स्केलेबल प्रोडक्ट आर्किटेक्चर प्लेटफार्म पर तैयार किया गया है, इसी प्लेटफार्म पर वी60, एक्ससी60एस90 और एक्ससी90 भी बनी है। इसका डिजायन वोल्वो की पारंपरिक डिजायन थीम पर तैयार किया गया है। मुकाबले में मौजूद कारों से तुलना की जाये तो नई एस60 का डिजायन काफी मॉडर्न और पसंद आने वाला है।

2019 Volvo S60

वोल्वो की सभी कारों के केबिन का लेआउट करीब-करीब एक जैसा है, इस मामले में नई एस60 भी अलग नहीं है। इस में वर्टिकल टचस्क्रीन इंफोटेंमेंट सिस्टम लगा है, जो एंड्रॉयड ऑटो और एपल कारप्ले सपोर्ट करता है।

2019 Volvo S60

नई एस60 में पैसेंजर सुरक्षा को और भी ज्यादा पुख्ता किया गया है। पैसेंजर सुरक्षा के लिए इस में वोल्वो कार्स पायलट असिस्ट सिस्टम, सिटी सेफ्टी, रन-ऑफ रोड प्रोटेक्शन, मिटिगेशन और रोड साइन इंफॉर्मेशन, लैन कीपिंग एआईडी, क्रॉस ट्रैफिक अर्ल्ट, ब्रेक सपोर्ट और रियर कोलिसन वार्निंग जैसे फीचर दिए गए हैं। कयास लगाए जा रहे हैं कि ये सभी फीचर भारत आने वाली नई एस60 में भी दिए जा सकते हैं।

2019 Volvo S60

नई एक्ससी60 वोल्वो की पहली कार होगी, जिस में डीज़ल इंजन नहीं मिलेगा। यह दो पेट्रोल और दो प्लग-इन-हाइब्रिड वर्जन में मिलेगी।

2019 Volvo S60

टी5 और टी6 वेरिएंट में 2.0 लीटर का पेट्रोल इंजन मिलेगा, जबकि टी6 और टी8 वेरिएंट में पेट्रोल इंजन के साथ प्लग-इन-हाइब्रिड टेक्नोलॉजी भी आयेगी।

2019 Volvo S60

सभी वेरिएंट में 8-स्पीड ऑटोमैटिक गियरबॉक्स स्टैंडर्ड मिलेगा। प्लग-इन-हाइब्रिड वर्जन में ऑल-व्हील-ड्राइव सेटअप मिलेगा।

2019 Volvo S60 Polestar Engineered

परफॉर्मेंस कार की चाहत रखने वालों के लिए कंपनी इसका परफॉर्मेंस अवतार भी लाएगी। परफॉर्मेंस वर्जन को टी8 पोलेस्टार नाम से पेश किया जाएगा। इस में 415 पीएस की पावर और 670 एनएम का टॉर्क मिलेगा। रेग्यूलर टी8 वेरिएंट की तुलना में इस में 15 पीएस की ज्यादा पावर और 30 एनएम का ज्यादा टॉर्क मिलेगा। टी8 पोलेस्टार को इलेक्ट्रिक अवतार में पेश किया जाएगा। मौजूदा एस60 का पोलेस्टार वर्जन भारत में बिक्री के लिए उपलब्ध है, ऐसे में कयास लगाए जा रहे हैं कि नए परफॉर्मेंस वर्जन को भी भारत में लॉन्च किया जा सकता है।

2019 Volvo S60 Polestar Engineered

कयास लगाए जा रहे हैं कि नई एस60 को 2019 की शुरूआत में भारत में लॉन्च किया जा सकता है। भारत में इसकी शुरूआती कीमत 40 लाख से 50 लाख रूपए के बीच हो सकती है। पोलेस्टार वर्जन की कीमत 60 लाख रूपए के आसपास हो सकती है। भारत में इसे इंपोर्ट करके बेचा जाएगा। आने वाले समय में इसे यहां एसेंबल करके भी बेचा जा सकता है। फिलहाल कंपनी एक्ससी90 और एस90 को बैंगलुरू स्थित प्लांट में एसेंबल करके भारत में बेच रही है।

2019 Volvo S60

ये भी पढ़ें:

टेस्टिंग के दौरान दिखी नई रेनो क्विड, देखें तस्वीरें

जीप कंपास का लिमिटेड एडिशन लॉन्च, जानें कीमत

sun

320C

Clear

क्रिकेट

Jara Hatke

Read Also

रांची : पहली बारिश में नगर निगम की खुली पोल, अस्त-व्यस्त जरूरी सेवाएं

NewsCode Jharkhand | 25 June, 2018 10:03 PM
newscode-image

रांची। झारखंड में मानसून देर से आने की सूचना थी लेकिन फिर भी नगर निगम की ओर से किसी भी प्रकार की तैयारी नहीं की गई, नतीजतन मानसून के पहले बारिश ने नगर निगम की पोल खोलकर रख दी है। ऐसे तो नगर निगम सड़क और नाली के ऊपर करोड़ों खर्च करने की बात कहती है लेकिन पहली बारिश ने नगर निगम के सारे दावों को झूठा साबित कर दिया।

रांची : बीजेपी का “पोल खोल हल्ला बोल” नाम से राज्‍यभर में धरना

बता दें 1 घंटे रांची में हुए मूसलाधार बारिश से कई जरूरी सेवाएं बाधित हो गई। तेज बारिश के कारण नाली का पानी सड़कों पर बहने लगी, कई दुकानों में नाली का पानी सड़कों के माध्यम से घुस गया, कई व्यापारी को काफी परेशानी उठानी पड़ी। वही राहगीरों का रास्ता चलना दुर्भर हो गया।

रांची का सबसे पुराना अस्पताल सेवा सदन में बारिश का पानी घुसने की वजह से मरीजों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा, वही कई मरीज पर इंफेक्शन का खतरा मंडराने लगा। वही मुसलाधार बारिश के कारण ओवर ब्रिज का रोड धंस गया, जिससे आवागमन पूरी तरह से बाधित हो गई।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

कोडरमा : निखिल भारत बंग साहित्य सम्मेलन का चुनाव सम्पन्न

NewsCode Jharkhand | 25 June, 2018 9:58 PM
newscode-image

रविन्द्र चुने गए अध्यक्ष और संदीप सचिव

कोडरमा। निखिल भारत बंग साहित्य सम्मेलन कोडरमा शाखा सत्र 2018-20 के लिए द्विवार्षिक चुनाव सम्पन्न हो गया झुमरीतिलैया स्थित डॉ. कल्याण चैघरी के आवास पर आयोजित इस चुनावी बैठक की अध्यक्षता डॉ. ओमियो विश्वास ने की। बैठक में संस्था के सचिव अरुप मित्रा ने अपना प्रतिवेदन प्रस्तुत किया, वहीं कोषाध्यक्ष तुषार राय चैधरी ने आय व्यय का विस्तृत ब्यौरा प्रस्तुत किया।

कोडरमा : भूमि अधिग्रहण संशोधन बिल के खिलाफ विपक्ष का धरना-प्रदर्शन

इस चुनाव में सर्वसम्मति से अध्यक्ष पद पर रविन्द्र चन्द्र दास, सचिव पद पर संदीप मुखर्जी एवं कोषाध्यक्ष पद पर शंकर प्रसाद सिन्हा को मनोनीत किया गया। इसके अलावा डॉ. ओमियो विश्वास, डॉ. कल्याण चौधरी, काकोली मजुमदार व मंजुश्री मुखर्जी को उपाध्यक्ष बनानी नियोगी को संयुक्त सचिव, तीर्थो मुखर्जी व अरुप मित्रा को सह सचिव, विपुल गुप्ता को केन्द्रीय परिषद के सदस्य, सुनील कुमार देवनाथ को सांस्कृतिक विभाग के अध्यक्ष व सुकांत मजुमदार को सचिव तथा इन्द्रानी मुखर्जी व जया मुखर्जी को सदस्य, बुद्धेश्वर कुण्डु को अंकेक्षक के रुप में चुना गया।

कार्यकारिणी सदस्य के रुप में तुषार राय चौधरी, माया दास, प्रसेनजीत घोष, निरुपमा चौधरी व चित्रा मुखर्जी को चुना गया। संस्था की कोडरमा शाखा का मुखपत्र सृजनी पत्रिका के संपादक के रुप में कल्याण मजुमदार, सह संपादक के रुप में इन्द्रजीत गुप्ता व प्रकाशन सचिव के रुप में भूदेव मुखर्जी का मनोनयन किया गया। नव निर्वाचित सचिव संदीप मुखर्जी के धन्यवाद ज्ञापन के साथ बैठक का समापन किया गया।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

More Story

more-story-image

सरिया : आंगनबाड़ी केंद्रों में मिला सड़ा अंडा, अभिभावकों ने...

more-story-image

बेंगाबाद : तेज रफ्तार का टूटा कहर, बाइक सवार युवक...