कैसा रहेगा आज आपका दिन ? जानें आज का अपना राशिफल

NewsCode | 29 December, 2017 7:00 AM
newscode-image

सुप्रभात मित्रों! परिवार में प्यार से लेकर तक़रार, व्यापार में मुनाफा से लेकर उधार, सेहत में बुखार से लेकर सुधार, करियर, रोजगार, कार इत्यादि के लिए कैसा रहेगा आज आपका दिन। पढ़ें अपना राशिफल :

मेष/Aries (मार्च 21-अप्रैल 20) – आवेश में आकर काम करेंगे, कार्य व्यवसाय के क्षेत्र में परिश्रम की जरूरत है, माता जी के स्वास्थ्य का ध्यान रखना होगा, धार्मिक कार्यों में रुचि होगी।

वृष/Taurus (अप्रैल 21–मई 21) – पिता से मतभेद न हो ध्यान रखना होगा, कार्य के क्षेत्र में गति प्रदान करेंगे, आमदनी के साथ-साथ खर्च की अधिकता होगी, किसी से मुलाकात का कार्यक्रम रद्द हो सकता है।

मिथुन/Gemini (मई 22–21 जून) – सावधानीपूर्वक यात्रा करें, वाणी पर नियंत्रण रखना होगा, जीवनसाथी के साथ समय गुजारना पसंद करेंगे, पिता के सेहत का ध्यान रखना होगा।

कर्क/Cancer (जून 22–जुलाई 23) – क्रोध एवं घृणा करने से बचना होगा, दाम्पत्य जीवन में परेशानी हो सकती है, अपने आप को व्यस्त रखने का प्रयास करें, कार्य व्यवसाय सामान्य है।

सिंह/Leo (जुलाई 24–अगस्त 23) – परिश्रम करने का दिन है , मीटिंग में समय गुजर सकता है, पारिवारिक कार्यों का दबाव होगा, समय निकाल पाना मुश्किल होगा।

कन्या/Virgo (अगस्त 24–सितंबर 23) – संतान के साथ मित्रवत व्यवहार रखना होगा, अधिकारी नाराज हो सकते हैं, घरेलू कार्यों में व्यस्त रहेंगे, प्रोपर्टी में निवेश की बात सोच सकते हैं।

तुला/Libra (सितंबर 24–अक्टूबर 23) – रचनात्मक बातों में उलझे रहेंगे, घर-परिवार के साथ असहज महसूस करेंगे, युवा अपने साथियों के साथ अधिक समय गुजारेंगे, कार्य व्यवसाय सामान्य है।

वृश्चिक/Scorpio (अक्टूबर 24–नवंबर 22) – अपने स्वास्थ्य का ध्यान रखना होगा, कला के क्षेत्र में काम करने वाले को नुकसान होगा, खेल-कूद में चोटिल हो सकते हैं, कार्य व्यवसाय उत्तम है।

धनु/Sagittarius (नवंबर 23–दिसंबर 21) – खर्च पर नियंत्रण रखना होगा, जमा धन भी खर्च होने की संभावना है, नजदीकी रिश्तेदारों से मनमुटाव हो सकता है, संतान की ओर से प्रसन्नता मिलेगी।

मकर/Capricorn (दिसंबर 22–जनवरी 20) – अपने स्वार्थ के लिए काम करेंगे, मानसिक रूप से परेशान भी हो सकते हैं, सिर में पीड़ा होगी, शत्रु सक्रिय हो सकते हैं।

कुंभ/Aquarius  (जनवरी 20–फरवरी 19) – स्वाथ्य का विशेष ध्यान देना होगा, लंबी यात्रा से परेशानी होगी, कार्य व्यवसाय में तरक्की होगी, प्रेम करने वाले के लिए दिन अनुकूल है।

मीन/Pisces (फरवरी 20–मार्च 20) -स्वास्थ्य उत्तम रहेगा, कार्य व्यवसाय उत्तम है, लाभ प्रभावित होगा, अपेक्षा के अनुकूल लाभ नहीं होने पर परेशान हो सकते हैं।

राहुल गांधी ने रक्षा मंत्री को बताया राफेल मंत्री, बोले- झूठ आया सामने, इस्तीफा दें

NewsCode | 20 September, 2018 2:51 PM
newscode-image

नई दिल्ली। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने राफेल डील को लेकर रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण पर एक बार फिर से हमला बोला है। राहुल ने राफेल लड़ाकू विमान सौदे का ठेका सरकारी उपक्रम हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड (एचएएल) को नहीं दिए जाने पर रक्षा मंत्री पर निशाना साधा है। राहुल गांधी ने इस संदर्भ में ट्वीट कर निर्मला पर ‘झूठ बोलने’ का आरोप लगाया।

साथ ही उन्होंने रक्षा मंत्री से इस्तीफा भी मांगा है। एचएएल के पूर्व प्रमुख टीएस राजू के बयान से जुड़ी खबर ट्विटर पर साझा करते हुए राहुल ने कहा, ‘भ्रष्टाचार का बचाव करने का काम संभाल रही RM (राफेल मिनिस्टर) का झूठ एक बार फिर पकड़ा गया है। एचएएल के पूर्व प्रमुख टीएस राजू ने उनके इस झूठ की कलई खोल दी है कि एचएएल के पास राफेल बनाने की क्षमता नहीं है।’

राहुल गांधी ने कहा, ‘उनका (सीतारमण) रुख अस्थिर है। उन्हें इस्तीफा देना चाहिए।’ समाचार एजेंसी पीटीआई के अनुसार, राहुल ने जो खबर शेयर की है उसके मुताबिक राजू ने कहा है कि एचएलएल भारत में राफेल विमानों को बना सकती थी। कांग्रेस का आरोप है कि मोदी सरकार ने फ्रांस की कंपनी दसॉ से 36 राफेल लड़ाकू विमान की खरीद का जो सौदा किया है, वह बहुत ज्यादा कीमत पर किया गया है। बता दें कि कांग्रेस राफेल डील में अनियमितताओं के आरोपों की जांच को लेकर बुधवार को कैग के दफ्तर भी पहुंची थी।

कांग्रेस के मुताबिक इस सौदे में राफेल विमानों का मूल्य यूपीए सरकार में किए गए समझौते की तुलना में बहुत ज्यादा है जिससे सरकारी खजाने को हजारों करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है। पार्टी का दावा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सौदे को बदलवाया जिससे एचएएल से कॉन्ट्रैक्ट लेकर अनिल अंबानी की कंपनी को दिया गया।

बता दें कि मंगलवार को निर्मला सीतारमण ने पत्रकारों से बातचीत में कहा था कि एचएएल के साथ डील क्यों नहीं हो सकी, इसका जवाब यूपीए को देना चाहिए। उन्होंने केवल 36 विमानों की ही डील क्यों की, इसके जवाब में कहा कि स्क्वॉर्डन्स की आदर्श क्षमता 42 विमानों की है। यूपीए के शासनकाल में ही यह क्षमता कम होने लगी थी और 2013 तक यह घटकर 33 पर आ गई थी।

दरअसल, निर्मला सीतारमण मंगलवार को ही हुई पूर्व रक्षा मंत्री और कांग्रेसी नेता एके एंटनी की प्रेस कॉन्फ्रेंस का जवाब दे रही थीं। एंटनी ने सवाल उठाया था कि 136 राफेल खरीदने का प्रस्ताव था, तो इसे घटाकर 36 क्यों किया गया? उन्होंने कहा था कि हमारी मांग पहले दिन से स्पष्ट है कि संयुक्त संसदीय समिति राफेल डील मामले की जांच करे। सीवीसी का संवैधानिक दायित्व है कि वो पूरे मामले के कागजात मंगवाएं और जांच कर पूरे मामले की जानकारी संसद में रखें।

एंटनी ने यह भी कहा कि यूपीए शासनकाल के दौरान, एचएएल मुनाफा कमाने वाली कंपनी थी। मोदी सरकार के समय में इतिहास में पहली बार एचएएल ने अलग-अलग बैंकों से लगभग 1000 करोड़ रुपए का कर्ज लिया है।


राफेल सौदे पर मोदी सरकार को घेरने में जुटी कांग्रेस, CAG में शिकायत लेकर पहुंची

पीएम मोदी पर फिर हमलावर हुए राहुल गांधी, कहा- अगले कुछ हफ्तों में बड़े बम गिराने वाला है राफेल

अगस्ता डील के बिचौलिए क्रिश्चियन मिशेल का हो सकता है प्रत्यर्पण, बढ़ेंगी कांग्रेस की मुश्किलें

sun

320C

Clear

क्रिकेट

Jara Hatke

Read Also

रांची : एनसीसी ने नशा मुक्त एवं यातायात नियमों के प्रति निकाली जागरूकता रैली

Chandan Verma | 20 September, 2018 2:45 PM
newscode-image

रांची। झारखण्ड बटालियन एन.सी.सी. द्वारा रांची ग्रूप के एन.सी.सी. कड़ेट्स को प्रशिक्षण  प्रदान करने के लिए दस दिवसीय संयुक्त वार्षिक प्रशिक्षण शिविर का आयोजन के रांची के बिरसा मुंडा फुटबॉल स्टेडियम मोरहाबादी में किया गया है।

इस शिविर में एन.सी.सी कड़ेट्स ने समाज के नशा के दुष्प्रभाव व ड्रग्स एडिक्शन से छुटकारा पाने के लिए शिविर से कहचरी चौक तक एक जागरूकता रैली में हिस्सा लिया और स्वयं आरा-करम से आये हुए रमेश बेदिया एवं नगरकोटी विभाग से आए पदाधिकारी संजय मिश्रा ने इस पर प्रकाश डाला।

रांची : मांदर की थाप पर झूमे सुबोधकांत, धूमधाम से मना करमा पर्व  

इसी शिविर में कैडेट्स को  यातायात नियमों के अनुपालन के प्रति समाज में जागरूकता रैली सिद्धू कान्हू से मुख्यमंत्री आवास से होते हुए सूचना भवन से गुजरते हुए एन.सी.सी. शिविर मोरहाबादी तक निकाली गई तथा नगर के नागरिकों को जागरूक किया गया।

शिविर में एन. सी.सी. कैडेट्स को 9 बटालियन एन. डी.आर.एफ. की टीम ने आपदा प्रबंधन के विभिन्न तरीकों जैसे की सी.पी.आर., रक्त की बहाओ को रोकना, स्थानिय वस्तु से स्ट्रेचर/लाइफ जैकेट बनाने की शिक्षा दी ताकि जरूरत पड़ने पर एन. सी.सी. कैडेट्स आपदा प्रबंधन में प्रशासन की मदद कर सके।

इसके अलावा कड़ेट्स को शूटिंग रेंज में फ़ाईरिंग में निपुणता हासिल करने के लिए ट्रेनिंग दी गयी। शिविर में मिलिटेरी ट्रेनिंग कैम्प कामंडैंट कर्नल अभिजात कश्यप, सूबेदार  मेजर- Lt.लखबीर सिंह,सूबेदार अर्जुडेन्ट राधे भगत , बी.अच्.ऍम. हरजीत सिंह और अन्य सैन्य अधिकारी द्वारा प्रदान किया जा रहा है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.) 

रांची : मांदर की थाप पर झूमे सुबोधकांत, धूमधाम से मना करमा पर्व  

NewsCode Jharkhand | 20 September, 2018 2:38 PM
newscode-image

रांची। आरयू के जनजातीय क्षेत्रीय भाषा विभाग में प्रकृति पूजा का पर्व करमा धूमधाम से मनाया गया। प्रो.वीसी कामिनी कुमार, राज्यसभा सांसद समीर उरांव, पूर्व  केंद्रीय मंत्री सुबोधकांत सहाय आदि शामिल होकर मांदर की थाप पर खूब झूमे। झारखंड की जनता को करमा पर्व की बधाई दी।

करमा उत्‍सव के मौके पर छात्राओं ने पारंपारिक नृत्य प्रस्तुत की। पांच साल का बच्चा आदिवासी परिधान में मांदर बजाया। करमा पर्व पर आदिवासियों ने किसानों की अच्छी फसल और परिवार की खुशहाली की कामना की।  बहनें अपने भाइयों की सलामती के लिए प्रार्थना की।

झारखंड के आदिवासी ढोल और मांदर की थाप पर झूमते-गाते रहे। परम्परा के मुताबिक खेतों में बोई गई फसलें बर्बाद न हो इसलिए प्रकृति की पूजा की जाती है।

इस मौके पर एक बर्तन में बालू भरकर उसे बहुत ही कलात्मक तरीके से सजाया जाता है। पर्व शुरू होने के कुछ दिनों पहले ही उसमें जौ डाल दिए जाते है। करम पर्व के दिन यही जावा आदिवासी महिला अपने बालों में गूंथकर झूमती-नाचती है।

मौके पर मौजूद राजयसभा उपसभापति हरिवंश ने कहा कि करमा पर्व प्रकृति की सरंक्षण का पर्व है। जो समाज में उत्साह का माहौल बनाता है ।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

More Story

more-story-image

बोकारो : प्रभारी मंत्री करती रही बैठक, अधिकारी व्यस्त दिखे...

more-story-image

चक्रधरपुर : 292 बच्चों का भविष्य अंधकारमय, उग्र आंदोलन की...