उपचुनाव हार के बाद योगी सरकार में 37 IAS का तबादला, गोरखपुर DM रौतेला बने कमिश्नर

NewsCode | 17 March, 2018 1:58 PM
newscode-image

लखनऊ| उत्तर प्रदेश में योगी सरकार ने प्रशासनिक फेरबदल किया है। प्रदेश में शुक्रवार देर रात 16 जिलों के जिलाधिकारी सहित 37 आईएएस अधिकारियों के तबादले कर दिए गए। इनमें कई वरिष्ठ अधिकारी भी शामिल हैं।

राज्य सरकार की ओर से जारी की गई सूची के मुताबिक, बलिया, गोरखपुर, आजमगढ़, बरेली, महाराजगंज, चंदौली, बलरामपुर, महाराजगंज, पीलीभीत, अलीगढ़, भदोही, अमरोहा, सीतापुर, सोनभद्र, हाथरस, हापुड़ के जिलाधिकारियों का भी तबादला कर दिया गया है।

अपर प्रमुख सचिव औद्योगिक विकास एवं अवस्थापना आलोक सिन्हा को वाणिज्य कर एवं मनोरंजन कर का अतिरिक्त प्रभार मिला है। अनूप चंद्र पाण्डेय को वर्तमान पद के साथ अपर प्रमुख सचिव औद्योगिक विकास एवं अवस्थापना का भी कार्यभार दिया गया है।

अपर मुख्य सचिव राजेंद्र कुमार तिवारी को वाणिज्य कर एवं मनोरंजन कर प्रभार से हटाते हुए उनके वर्तमान पद श्रम एवं सेवायोजन पद पर बनाए रखा गया है।

वाराणसी के मंडलायुक्त नितिन रमेश गोकर्ण अब प्रमुख सचिव आवास एवं शहरी नियोजन होंगे। इस पद पर तैनात मुकुल सिंघल को हटा दिया गया है। वह अपर मुख्य सचिव रेशम, हथकरघा एवं वस्त्रोद्योग बने रहेंगे।

जर्मनी की संस्कृति से जुड़ा है इस्लाम धर्म : एंजेला मर्केल

आलोक टंडन को अध्यक्ष एवं मुख्य कार्यपालक अधिकारी नोएडा एवं प्रबंध निदेशक नोएडा मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन के पद के साथ स्थानिक आयुक्त नई दिल्ली तथा मुख्य कार्यपालक अधिकारी ग्रेटर नोएडा के पद का अतिरिक्त पद्भार दिया गया है।

सहारनपुर के मंडलायुक्त दीपक कुमार अब वाराणसी के मंडलायुक्त होंगे। सचिव सिंचाई एवं जल संसाधन चंद्र प्रकाश त्रिपाठी अब सहारनपुर के मंडलायुक्त होंगे।

जम्मू एवं कश्मीर के वरिष्ठ पुलिसकर्मी पर आतंकवादी हमला

 आईएएनएस

मुख्य सचिव सुधीर त्रिपाठी को फिर एक्सटेंशन, मार्च तक बने रह सकते हैं चीफ सेक्रेटरी

Om Prakash | 19 November, 2018 1:32 PM
newscode-image

Ranchi: वर्तमान मुख्य सचिव सुधीर त्रिपाठी को दूसरी बार एक्सटेंशन मिल सकता है. सूत्रों के अनुसार, केंद्र से इसकी हरी झंडी भी मिल गई है. फिलहाल सुधीर त्रिपाठी को दिसंबर तक का एक्सटेंशन मिला हुआ है. सूत्रों की मानें तो अगामी लोकसभा चुनाव को देखते हुए उन्हें दोबारा एक्सटेंशन दिया जायेगा. इससे पहले पूर्व मुख्य सचिव एसके चौधरी को तीन महीने का एक्सटेंशन मिला था.

सूत्रों के अनुसार, पीएमओ की पसंद सुधीर त्रिपाठी है. इससे पहले भी जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 23 सिंतबर को झारखंड आये थे, उसी दिन मुख्य सचिव सुधीर त्रिपाठी को एक्सटेंशन देने की पटकथा लिखा जा चुकी थी. पीएमओ में कार्यरत वरिष्ठ आइएएस अफसर नृपेंद्र मिश्रा से चर्चा होने के बाद सुधीर त्रिपाठी का एक्सटेंशन कंफर्म हुआ था. सत्ता के गलियारों में चर्चा यह भी है कि पीएमओ में कार्यरत वरिष्ठ आइएएस अफसर नृपेंद्र मिश्रा मुख्य सचिव सुधीर त्रिपाठी के संबंधी भी हैं.

वहीं नवंबर-दिसंबर तक केंद्र में भी कई महत्वपूर्ण पद खाली हो रहे हैं. चीफ इंफोरमेशन कमिश्नर(सीआइसी) का 24 नवंबर को कार्यकाल समाप्त हो रहा है. नेशनल कमिश्न फॉर वूमन के भी पांच पद खाली हो रहे हैं. वहीं पीएन संकुल को डिफेंस कंट्रोलर जनरल बनाये जाने की संभावना है.

राजीव गौबा, राजीव कुमार, बीके त्रिपाठी, यूपी सिंह, अलका तिवारी, अमित खरे और एनएन सिन्हा केंद्रीय प्रतिनियुक्ति में हैं. वहीं राज्य में इंदू शेखर चतुर्वेदी, डीके तिवारी, सुखदेव सिंह, केके खंडेलवाल, एल खियांग्यते और अरूण कुमार सिंह सीएस रैंक के अफसर हैं.

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.) 

sun

320C

Clear

Jara Hatke

Read Also

गुमला : अलग-अलग घटनाओं में तीन की मौत

NewsCode Jharkhand | 19 November, 2018 1:31 PM
newscode-image

गुमला। गुमला में रविवार को अलग अलग घटनाओं में तीन लोगों की मौत हो गई। सदर थाना क्षेत्र के बरिसा तालाब में विवेक एक्का डॉन बॉस्को स्कूल के आठवीं कक्षा के छात्र की नहाने के दौरान डूबने से मौत हो गई।

जबकि डुमरी थाना क्षेत्र के ओखरगढा गांव के एक वृद्ध दंपति की पत्थर से कूच कर हत्या कर दी गई। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर का सदर अस्पताल गुमला पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

मृतक के पुत्र ने अज्ञात लोगों के विरूद्ध थाने में मामला दर्ज कराया है। पुलिस छानबीन में जुट गयीं है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.) 

रिश्ता लेकर आए तीन मानव तस्करों को ग्रामीणों ने पकड़ा

Om Prakash | 19 November, 2018 1:28 PM
newscode-image

जमशेदपुर.  गालूडीह के बाघुड़िया पंचायत के एक गांव की युवती रविवार को दिल्ली के तस्करों के चंगुल में जाने से बाल-बाल बच गई। दरअसल गांव की एक लड़की से शादी करने पहुंचे युवक के परिजन रुपए के बंटवारे को लेकर आपस में उलझ रहे थे। कुछ ग्रामीणों ने जब यह नजारा देखा तो उन्हें शक हुआ इसके बाद आक्रोशित ग्रामीणों ने युवक व उसके साथ आईं महिलाओं को वापस भेज दिया। वहीं दलाल समेत तीन लोगों को पकड़ कर बंधक बना लिया। तीनों को जूते की माला पहनाकर गांव में घुमाया। इस दौरान तीनों तीन घंटे तक बंधक बने रहे। बार-बार माफी मांगने व जमीन पर नाक रगड़ने के बाद ग्रामीणों ने दलाल के साथ आए लोगों को मुक्त किया।

ग्रामीणों ने बताया कि शनिवार को दिल्ली का एक युवक नारगा के एक दलाल के साथ जोडिसा पंचायत स्थित गांव पहुंचा। युवक नारगा में रहकर व्यवसाय करता है। उसने दलाल को शादी के लिए अच्छी-खासी रकम देने का प्रलोभन भी दिया। गुरुवार को युवक, दलाल व एक महिला ने गांव आकर युवती को देखा। इसके बाद युवक ने शादी के लिए हां कर दी। युवक ने दलाल से कहा कि शादी करने के पूर्व वह एक बार युवती के घर जाकर उससे व उसके परिजनों से मिलना चाहता है। इसी को लेकर युवक सहित तीन दलाल व पांच महिलाओं एक टाटा मैजिक वाहन पर सवार होकर गांव पहुंचे।

दलाल ने लड़की के परिजनों को बताया कि लड़का शादी के बाद लड़की को दिल्ली चे जाएगा। ग्रामीण शादी के लिए तैयार थे, पर पूरी पड़ताल कर लेना चाहते थे। ग्रामीणों ने युवक से आधार कार्ड मांगा तो वह बहाने बनाने लगा। आधार कार्ड को लेकर वार्ता चल ही रही थी कि शादी के लिए साथ आए लोग पैसों के बंटवारे को लेकर आपस में उलझने लगे। कुछ ग्रामीणों ने इसे देख लिया। इसकी सूचना अन्य ग्रामीणों व लड़की के परिजनों को दी गई। ग्रामीण समझ गए कि युवक शादी के लिए नहीं बल्कि मानव तस्करी के लिए आया है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.) 

More Story

more-story-image

गिरिडीह : सड़क हादसे में मुखिया पुत्र की मौत

more-story-image

रांची : अपराध पर अंकुश लगाने में महिलाओं की महत्वपूर्ण...

X

अपना जिला चुने