लड़की ने दिखाई हिम्मत, तो इंस्पेक्टर साहब ने की त्वरित कार्रवाई

NewsCode | 9 December, 2016 7:34 AM
newscode-image

धनबाद: रात लगभग साढ़े 9 बजे छेड़खानी की शिकायत पर पुलिस ने त्वरित कार्रवाई की। मामला है धनबाद का। धनबाद की रहने वाली एक युवती के साथ बाइकर्स गैंग के कुछ मजनुओं द्वारा छेड़खानी की गयी थी। युवती ने तुरंत इसकी शिकायत धनबाद थाना इंस्पेक्टर अखिलेश्वर चौबे से की। बिना देरी किए धनबाद थाना इंस्पेक्टर अखिलेश्वर चौबे एक्शन में आए और युवती को गाड़ी में बिठा कर अकेले ही निकल पड़े उन सिरफिरे युवकों की तलाश में। फिर क्या था, देखते ही देखते इंस्पेक्टर साहब के साथ उनकी पूरी टीम पीछे-पीछे धनबाद के गोल्फ ग्राउंड पहुँच गयी। उधर गोल्फ ग्राउंड में शराब का सेवन कर रहे मजनूं अँधेरे का फायदा उठा कर इधर-उधर भागने लगे। लेकिन इंस्पेक्टर साहब की टीम ने मुस्तैदी दिखाकर सभी को दौड़ाकर पकड़ लिया। फिर सभी को लाइन में लगाकर युवती के सामने परेड कराया। चूंकि रात का वक्त था और युवती भी उन लफंगों को ठीक से देख नहीं पाई थी। इसलिए उसमे से दो युवकों पर युवती ने शक जताया जिसके आधार पर पुलिस फौरन दोनों को जीप पर बिठाकर थाने ले आई। आपको बता दें कि वो युवती प्रतिदिन की भांति ऑफिस से घर जा रही थी। लेकिन गुरुवार को ऑफिस से लौटने में थोड़ी देर हो गयी थी। उसी दौरान बाइकर्स गैंग के कुछ मनचलों ने लड़की के साथ छेड़खानी की थी।

छत्तीसगढ़: दंतेवाड़ा मुठभेड़ में सुरक्षाबलों ने 3 महिला नक्सलियों समेत 7 को किया ढेर

NewsCode | 19 July, 2018 11:20 AM
newscode-image

रायपुर। छत्‍तीसगढ़ के नक्‍सल प्रभावित बस्‍तर क्षेत्र में सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ में सात नक्‍सली मारे गए हैं। मारे गए नक्‍सलियों में तीन महिलाएं भी शामिल हैं। पुलिस ने नक्‍सलियों के पास से भारी मात्रा में हथियार और गोला बारूद बरामद किया है।

डिस्ट्रिक्ट रिजर्व गार्ड (डीआरजी) और विशेष कार्य बल (एसटीएफ) की संयुक्त टीम की माओवाद विरोधी अभियान के दौरान यह मुठभेड़ हुई। राज्य के पुलिस उपमहानिरीक्षक (नक्सल विरोधी अभियान) सुदंरराज पी ने बताया कि मुखबिर से मिली सूचना के आधार पर सुरक्षा बलों ने दंतेवाड़ा से सटे दोनों जिलों के जंगलों में यह अभियान शुरू किया।

सुंदरराज ने बताया कि तिमिनार और पुसनार गांवों के जंगलों की घेराबंदी के दौरान दोनों पक्षों में गोलीबारी शुरू हो गई। उन्होंने बताया कि गोलीबारी रुकने के बाद तीन महिलाओं समेत सात नक्सिलयों के शव मौके से बरामद किए गए।

कठुआ रेप केस: मुख्य आरोपी के वकील को सरकार ने बनाया एडिशनल एडवोकेट जनरल

जानकारी के मुताबिक मुठभेड़ दंतेवाड़ा-बाजीपुर बॉर्डर के पास तिमेनार जंगलो के गंगालूर थाना क्षेत्र में हुई। मारे गए नक्सलियों के पास से आईएनएसएएस राइफल, दो 303 राइफल और एक 12 बोर राइफल के साथ कुछ अन्य हथियार बरामद हुए हैं।

सबरीमाला मंदिर कोई निजी संपत्ति नहीं, अगर पुरूष जा सकते हैं तो महिलाओं को भी मिले एंट्री: SC

sun

320C

Clear

क?रिकेट

Jara Hatke

Read Also

चाईबासा : ग्रामीणों ने नौकरी व मुआवजा की मांगों को लेकर एक दिवसीय धरना प्रदर्शन दिया

NewsCode Jharkhand | 19 July, 2018 11:15 AM
newscode-image

चाईबासा ।  टाटा स्टील के नोवामुंडी मेन गेट पर टाटा स्टील से विस्थापित हुए 11 गांवों के भू -दाताओं के परिजनों ने  धरना दिया। गांवों के मानकी मुंडा तथा पूर्व विधायक मंगल सिंह बोबोंगा के नेतृत्व में अधिग्रहित जमीन के एवज में नौकरी व मुआवजा की मांगों को लेकर एक दिवसीय सांकेतिक धरना प्रदर्शन किया।

इस धरना प्रदर्शन में टाटा स्टील खदान से विस्थापित बस्ती नोवामुंड, मसुरीबेडा, बालीझोर, महूदी, कुटिंगता, कोडता, सरबिल ,इटरबालजोडी, डूकासाई, कुचीबेडा व संग्रामसाई के सैकडों लोग शामिल हुए। प्रदर्शनकारियों में महिला पुरूष व बच्चे काफी आक्रोश में घंटों टाटा स्टील के मेन गेट पर प्रदर्शन किया। इस दौरान पूर्व विधायक श्री बोबोंगा ने ग्रामीणों को संबोधित करते हुए कहा कि टाटा स्टील प्रबंधन सिर्फ कोरा आश्वासन देती है।

पहले प्रभावित गांवों मे चिकित्सा शिक्षा, सडक, सिंचाई के क्षेत्रों में काम किया। इन दिनों सभी विकास योजनाओं को बंद कर दिया। कौशल विकास के नाम पर शिक्षित बेरोजगार युवा को ठग रहा है। उनके एनटीटीएफ समेत सभी प्रशिक्षण संस्थान को सरकार से मान्यता प्राप्त नहीं है। करीब 90 युवाओं के भविष्य टाटा स्टील के चलते गर्दिश में हैं।

इस दौरान एक ज्ञापन सीओ के माध्यम से सीएम को प्रेषित किया गया। इसमें प्रथम चरण तथा दूसरे चरण में जिन रैयतों के जमीन अधिग्रहण किया गया। उनके नाम, खाता व प्लोट नंबरों सहित रकवा की विवरणी मांगी गई है। साथ ही किस जमीन के एवज में कब और कहां भू -स्वामियों को नौकरी व मुआवजा दी गई। इसकी विवरणी भी मांगी गई है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं

चतरा : TPC नक्सलियों की करतूत, ठेकेदार की हत्या, छह को किया घायल

NewsCode Jharkhand | 19 July, 2018 11:06 AM
newscode-image

चतरा । नक्सली संगठन तृतीय प्रस्तुति कमेटी (टीपीसी) के हथियारबंद दस्ते ने बुधवार देर रात चतरा जिले के पत्थलगड्डा थाना क्षेत्र के मेराल गांव में एक ठेकेदार की पीट-पीट कर हत्या कर दी।

नक्सलियों ने मेराल गांव निवासी नागेश्वर गंझू पर पुलिस मुखिबिरी का आरोप लगाते हुए मनरेगा के नागेश्वर गंझू समेत कई लोगों से मारमीट की। इस मारपीट की घटना में छह लोग घायल हो गये। जिसमें नागेश्वर गंझू की इलाज के क्रम में मौत हो गयी। मारपीट से घायल आधा दर्जन लोगों की प्रथमिक उपचार स्थानीय स्वास्थ्य केंद्र में किया गया। बाद में उन्हें बेहतर इलाज के लिए हजारीबाग सदर अस्पताल रेफर कर दिया गया है।

बाघमारा :  दो पड़ोसी दुकानदार आपस में भिड़े, सात घायल

मृतक नागेश्वर गंझू के परिजनों ने बताया टीपीसी के उग्रवादी लेवी नहीं देने और पुलिस के लिए मुखबिरी करने का आरोप लगाते हुए उन्हें घर से उठा कर ले गये थे। घर के बाहर कुछ दूरी पर ले जाकर उनके साथ मारपीट की।  जिससे वह मरणासन्न हो गये और बाद में उनकी मौत हो गयी। नागेश्वर गंझू के साथ मारपीट करने के बाद उग्रवादियों ने गांव के दूसरे घरों से भी लोगों को निकाल कर मारपीट की। जिसमें छह लोग गंभीर रुप से घायल हुए हैं।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

More Story

more-story-image

चास : नगर विकास समिति की मासिक बैठक में समस्याओं...

more-story-image

रांची : डोरंडा के बेलदार में महावीर मंडल के उपाध्यक्ष...