दुमका : नेतरहाट विद्यालय की तर्ज पर अगले सत्र  से होगी पढ़ाई प्रारंभ- डॉ लुईस मरांडी

NewsCode Jharkhand | 18 November, 2017 4:55 PM

दुमका : नेतरहाट विद्यालय की तर्ज पर अगले सत्र  से होगी पढ़ाई प्रारंभ- डॉ लुईस मरांडी

शिक्षकों की कमी के बावजूद बेहतर प्रदर्शन करना बड़ी उपलब्धि

दुमका। नेतरहाट विद्यालय के तर्ज पर दुमका में भी अगले सत्र 2018 से पढ़ाई प्रारंभ होगी। शिक्षकों की नियुक्ति की प्रक्रिया तीन दिसंबर से प्रारंभ होगी। उक्त घोषणा समाज कल्याण मंत्री डॉ लुईस मरांडी ने की। प्लस टू जिला स्कूल में आयोजित चाहरदीवारी एवं सभागार भवन जिर्णोद्धार शिलान्यास कार्यक्रम में उन्‍होंने ये बात कही।

उन्होंने कहा कि अगले सत्र से प्लस टू जिला स्कूल में निःशुल्क कोचिंग सेंटर खोले जायेंगे। जिसका लाभ प्लस टू विद्यालय सहित आस-पास के छात्र ले सकेंगे। इसके लिए प्रशासनिक स्तर पर  पहल तेज हो चुकी है। वहीं विद्यालय के प्राचार्य की मांग पर लुईस मरांडी ने कहा कि जिला-प्रशासन को राशि विमुक्त किया जा चुका है। चाहरदीवारी के साथ ही गर्ल्स कॉमन रूम का भी निर्माण कार्य प्रारंभ हो जायेगा।

उन्‍होंने शिक्षकों के कमी के बावजूद शिक्षा के क्षेत्र में बेहतर प्रदर्शन करने को बड़ी उपलब्धि बताया। और कहा कि इसका उदाहरण बीते सत्र में इंटरमीडिएट में गुंजन पाल को राज्य टॉपर होना इस बात का प्रमाण है। उन्होंने कहा शिक्षा के क्षेत्र में गुंजन पाल हो, चाहे कला एवं सांस्कृतिक भरतनाट्यम में ऋषि वत्स हो। या फिर सामूहिक रूप से नृत्य प्रस्तुत करने वाली छात्राएं हो। जिन्हें देख कर कहीं से यह नहीं लगता है कि हम पिछड़े हुए हैं। अपने मन से यह भावना निकाल देना होगा।

मंत्री ने कहा कि राज्य या देश को किसी भी मंच पर इन प्रतिभावान छात्रों को मिल जाये, तो अपनी प्रतिभा बिखेर कर अवश्य अव्वल आयेंगे। वहीं उन्‍होंने छात्रों के खेल-कूद सहित मनोरंजन सामाग्री उपलब्ध कराने के दिशा पर ध्‍यान दिया। और कहा  कि इस मद में विभाग द्वारा राशि उपलब्ध करवाया गया है। जल्द ही छात्रों को खेल एवं पढ़ाई के समुचित संसाधन उपलब्ध करवाये जायेंगे। वहीं शिक्षकों के कमी को लेकर मंत्री ने कहा कि अगले सत्र से शिक्षकों की कमी दूर हो जायेगी।

उन्‍होंने सुझाव दिया कि प्राईमरी स्कूलों में उच्च योग्यता वाले शिक्षकों को डीएसई से बात कर उच्च शिक्षा में योगदान की पहल करें। साथ ही जिले के विभिन्न प्लस टू स्कूलों को आपस में कंट्रीब्‍यूसन करने की सलाह दी। वहीं छात्राओं एवं अभिभावकों से पहले पढ़ाई और उसके बाद विदाई की अपील की। इस अवसर पर जैक से टॉप 10 में संताल परगना के सात छात्रों के चयन पर मंत्री ने बधाई दी। साथ ही शिक्षकों के प्रति कम संख्या के बावजूद कर्तव्य निर्वहन को लेकर आभार प्रकट की।

उन्होंने कहा कि छात्र जिस क्षेत्र में हो आगे बढ़े। सरकार हर संभव सहयोग देने के लिए कृत संकल्पित है। उन्‍होंने छात्रों को पढ़ाई का महौल देने के लिए मुख्यमंत्री रघुवर दास एवं शिक्षा मंत्री नीरा यादव के सहयोग की सराहना की। उन्‍होंने कहा कि चाहरदीवारी, सभागार सहित अन्य शैक्षणिक भवन के लिए त्वरित कार्य सराहनीय कदम है। वहीं राज्य के टॉपर गुंजन का जिक्र करते हुए कहा कि वह आज भी इसी विद्यालय में पढ़ रहा है। उसकी पढ़ाई आज भी बाधित नहीं हो रही है।

वहीं प्राचार्य अजय गुप्ता ने कहा कि रांची विधानसभा में राज्य टॉपर  गूंजन पाल को सम्मानित किया जायेगा। इस बावत एक पत्र विद्यालय को मिला है। इस अवसर पर अतिथियों को पुष्प गुच्छ एवं शॉल ओढ़ाकर विद्यालय प्रबंधन ने सम्मानित किया। मौके पर राष्ट्रपति पुरस्कार प्राप्त एनसीसी शिक्षक दिलीप झा के नेतृत्व में छात्रों ने मंत्री को गार्ड ऑफ ऑर्नर दिया गया। मंच पर वर्तमान ओएसडी अश्विनी कुमार एवं पूर्व ओएसडी मदनेश्वर चौधरी उपस्थित रहे। कार्यक्रम में मंच संचालन शिक्षक महेन्द्र राजहंस एवं छात्रा काजल कुमारी ने किया। वहीं धन्यवाद ज्ञापन उप-प्राचार्य इमानुवल हक ने की।

और पढें: चक्रधरपुर : शिक्षा व खेल कूद के क्षेत्र में अहम भूमिका निभा रहा सिदो-कान्‍हू शिक्षा निकेतन- कमांडेंट

धनबाद : 11 सूत्री मांग को लेकर स्वंय सेवक संघ मुख्यमंत्री आवास का करेंगे घेराव

NewsCode Jharkhand | 27 May, 2018 10:06 PM

धनबाद : 11 सूत्री मांग को लेकर स्वंय सेवक संघ मुख्यमंत्री आवास का करेंगे घेराव

पांच जून को मुख्यमंत्री आवास घेरने का स्वंय सेवक संघ ने लिया निर्णय

धनबाद। प्रोत्साहन राशि के बजाय मानदेय देने, स्वंय सेवकों की सेवा अवधि 60 वर्ष करने, स्वास्थ्य बीमा का लाभ दिया जाने समेत 11 सूत्री मांग को लेकर राज्य भर के स्वंय सेवक ने 5 जून को रांची में मुख्यमंत्री आवास घेरने का निर्णय लिया है।

रविवार को गोल्फ ग्राउंड में जिला स्तरीय पंचायत सचिवालय स्वंय सेवक संघ की एक बैठक हुई। झारखंण्ड प्रदेश स्वंय सेवक संघ के आह्वाहन पर जिले के सभी 10 प्रखंडों के स्वंय सेवक ने भी आंदोलन में भागेदारी देने का निर्णय लिया है।

बाघमारा : बाइक चोर चढ़ा ग्रामीणों के हत्‍थे, खातिरदारी कर  पुलिस को सौंपा

संघ के अध्यक्ष तरुण कुमार मुर्मू ने कहा कि शहीद हुए स्वंय सेवको के आश्रित परिवारों को पांच लाख का मुआवजा सरकार को देना चाहिए। सरकार के द्वारा चलायी जा रही सभी तरह की योजनाओं में स्वंय सेवको को शामिल किया जाना चाहिए। स्वंय सेवको के लिए डिजिटल पहचान पत्र जारी किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि बैठक में प्रखंड कोर कमिटी तथा महिला कोर कमिटी का गठन किया गया है।

बैठक का संचालन प्रदीप मंडल तथा सूरज दे ने किया। बैठक में राधेश्याम, नित्यानंद रॉय, मनोज सेन, सुरेश रविदास, राधिका कुमारी, नवीन राम आदि उपस्थित थे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

Read Also

देवघर : बीजेपी नेता दे रहा था जबरन शादी का दबाव, युवती ने की आत्‍महत्‍या

NewsCode Jharkhand | 27 May, 2018 8:29 PM

देवघर : बीजेपी नेता दे रहा था जबरन शादी का दबाव, युवती ने की आत्‍महत्‍या

पुलिस ने बीजेपी नेता विष्णुकांत झा को किया गिरफ्तार

देवघर। देवघर नगर थाना के बम्पास टाउन मुहल्ले में एक 20 वर्षीय युवती ने फांसी लगाकर आत्‍महत्‍या कर ली। पुलिस के अनुसार युवती के इस कदम के पीछे की वजह एक बीजेपी नेता था, जो उस पर लगातार शादी करने का दबाव बना रहा था। वह इससे परेशान चल रही थी। युवती ने घर में अकेली पा कर फांसी लगाकर आत्‍महत्‍या कर ली। आरोपी बीजेपी नेता विष्णुकांत झा को गिरफ्तार कर लिया है।

जानकारी के मुताबिक मृतक खुशबू कुमारी के पिता श्‍यामसुंदर दास जो की बिहार के चांदन में मध्यविद्यालय के हेडमास्टर हैं। वे देवघर के बम्पास टॉउन में किराए के मकान में रहते हैं।

मृतक के पिता श्यामसुंदर दास ने कहा कि विष्णुकांत झा जो बीजेपी के नेता है। इनका दो बच्चा भी है। जो मेरी बेटी खुशबू कुमारी के पास कुछ दिनों से ट्यूशन पढ़ाने के लिए लाते ओर ले जाते थे। कुछ दिन बीत जाने के बाद बिष्णुकांत झा अपने बच्चों और मृतक खुशबू के साथ ट्यूशन के समय बैठ जाता था और खुशबू पर शादी के लिए जबरन दबाव बनाता था।

मृतक के पिता श्यामसुंदर दास के अनुसार बीजेपी नेता कहता था कि अगर तुम कहीं शादी करोगी तो तुम्हारे पूरे परिवार को जान से मार देंगे। इसकी शिकायत जब खुशबू द्वारा अपने परिजनों को दी गयी तो परिजनों ने विष्णुकांत झा के बच्चों को पढ़ाने से मना कर दिया गया। जिसके बाद खुशबू ने विष्णुकांत झा के बच्चों को पढ़ाना बंद कर दिया।

वहीं कल शाम में खुशबू के माता-पिता बाजार गए थे, तभी विष्णुकांत झा खुशबू के घर पर आए और खुशबू के साथ अभद्र व्यवहार करने लगे। अपनी आबरू बचाने के लिए खुशबू ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली।

इस घटना के बाद पूरा परिवार सहमा हुआ है। नगर थाना इंस्पेक्टर विनोद कुमार ने बताया कि यह मामला आत्महत्या और उत्पीड़न का है। नामजद अभियुक्त बिष्णुकांत झा हैं, जिसके दो बच्चे है। मृतक खुशबू ट्यूशन पढ़ाती थी और विष्णुकांत झा शादी के लिये दवाब दे रहा था। इससे लड़की काफी क्षुब्ध थी, इसके साथ छेड़खानी भी की गई थी जैसा की आरोप लगाया गया है।

रांची : ट्रस्ट ने नि:शक्त बच्चों को भोजन कराया, पाठ्य सामग्री भी बांटे

मामला दर्ज कर लिया गया है। आरोपी विष्णुकांत झा की गिरफ्तारी भी हो चुकी है। उन्होंने बताया कि विष्णुकांत झा पूर्व में भी एक प्राइवेट स्कूल में गार्ड के साथ मारपीट के मामले में आरोपी हैं। इस कांड में भी विष्णुकांत झा को रिमांड किया जा रहा है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

निरसा : स्वच्छता अभियान से प्रेरित कुमारधुबी के युवक ने बनाया लघु फिल्म ‘डब्बावाला’

NewsCode Jharkhand | 27 May, 2018 8:21 PM

निरसा : स्वच्छता अभियान से प्रेरित कुमारधुबी के युवक ने बनाया लघु फिल्म ‘डब्बावाला’

निरसा (धनबाद)। पीएम मोदी के स्वच्छता अभियान से प्रेरित कुमारधुबी निवासी जीप सदस्य निशा देवी के पुत्र राहुल नागेंद्र सिंह ने शिवाय प्रोडक्शन के बैनर तले ‘डब्बेवाला’ लघु फिल्म बनाया। राहुल द्वारा स्वच्छता अभियान पर बनाये गए इस फिल्म को स्थानीय लोगों ने बहुत सराहा।

लघु फिल्म का निर्देशन कर रहे राहुल का कहना है कि स्वच्छता जिंदगी का अहम हिस्सा है। इससे ना सिर्फ स्वच्छ रहा जा सकता है बल्कि अनेकों बीमारी से बचा भी जा सकता है। राहुल ने कहा कि उनके जहन में काफी दिनों से यह विचार आ रहा था की एक लघु फिल्म बनाया जाय और इस अभियान का मैं भी एक हिस्सा बनूं।

रांची : महिला दर्शकों को थियेटर तक लायेगी फिल्‍म ‘सखी के बियाह’

इसे बनाने में ‘डब्बावाला’ का किरदार अभिषेक कुमार जो गिनिया देवी मॉडर्न स्कूल के छात्र हैं। शिक्षिका की भूमिका में नेहा प्रसाद, मां की भूमिका में अन्नीया चक्रवर्ती, पिता की भूमिका में अमित कुमार, कर्मचारी के भूमिका में मो. फारूक और बीडीओ के भूमिका में खुद एग्यारकुण्ड के बीडीओ अन्नत कुमार हैं। इस फिल्म को बनाने में अन्नत कुमार की अहम भूमिका रही है। फिल्म को यूट्यूब पर अपलोड कर दिया गया है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

X

अपना जिला चुने